राजीव कुमार का बचना हुआ कठिन, सीबीआई का स्पेशल फोर्स तैयार

rajeev-kumar

नयी दिल्ली / कोलकाता : सारधाकांड की छानबीन के दौरान मंगलवार को सीबीआई की टीम ने कोलकाता के पूर्व पुलिस आयुक्त राजीव कुमार की तलाश करने के लिए स्पेशल फोर्स तैयार किया है। उनका पता लगाने के लिए अत्याधुनिक तकनीकी का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। इससे उनके मोबाइल को ट्रेस किया जा सकता है, अगर वह बंद हुआ तो भी। वहीं और भी कई तरीके का इस्तेमाल उनका पता लगाने के लिए किया जा सकता है। ऐसा इसलिए किया गया है क्योंकि सीबीआई द्वारा लगातार बुलाने के बाद भी वे सीबीआई कार्यालय नहीं पहुंचे और अब तो उनका कोई अतापता ही नहीं है। उच्च पदस्थ सूत्रों ने कहा कि एजेंसी कुमार की तलाश कर रही है और पश्चिम बंगाल के पुलिस महानिदेशक और मुख्य सचिव को भी पत्र लिखा गया है कि वे कुमार को जांच दल के सामने उपस्थित होने का निर्देश दें। उन्होंने बताया कि कुमार का पता लगाने के लिए एक विशेष दल का गठन किया गया है। इससे पहले सीबीआई से दो बार नोटिस मिलने के बावजूद कुमार एजेंसी के समक्ष उपस्थित नहीं हुए। उनके जांच एजेंसी के सामने आने में विफल रहने के कारण अब उनकी गिरफ्तारी की संभावना बढ़ गई है। सूत्रों ने बताया कि सीबीआई ने अब कानून के तहत उपलब्ध अन्य विकल्प तलाशने शुरू कर दिए हैं। पश्चिम बंगाल के डीजीपी ने सोमवार को एक पत्र के जरिए सीबीआई को बताया था कि उसके नोटिस कुमार के आधिकारिक आवास पर भेजे गए थे और अभी उनका जवाब मिलना बाकी है। पत्र में शीर्ष पुलिस अधिकारी ने कहा था कि अपने वकील के जरिए कुमार ने उन्हें बताया था कि वह 25 सितंबर तक छुट्टी पर हैं। उन्होंने यह भी कहा कि वह कानूनी उपाय तलाशने का प्रयास कर रहे हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अप्रैल में सोने के निर्यात में करीब 100 फीसद की गिरावट दर्ज की गई

नई दिल्ली : हालिया वैश्विक गतिविधियों के कारण देश का स्वर्ण आयात लगातार घट रहा है। इस साल अप्रैल में लगातार पांचवे महीने देश के आगे पढ़ें »

‘क्रिकेट की बहाली के लिये आईसीसी के कुछ दिशा निर्देश अव्यवहारिक, समीक्षा की जरूरत’

हर बार गेंद को छूने के बाद हाथ सेनिटाइज करना संभव ही नहीं नयी दिल्ली : पूर्व क्रिकेटरों आकाश चोपड़ा, इरफान पठान और मोंटी पनेसर का आगे पढ़ें »

ऊपर