राजस्थान से बंगाल पहुंची 1100 से ज्यादा यात्रियों को लेकर ट्रेन

कोलकाता : लॉकडाउन के 42वें दिन मंगलवार को राजस्थान से 1,100 से ज्यादा श्रमिकों और तीर्थयात्रियों को लेकर एक ट्रेन पश्चिम बंगाल के हावड़ा जिले के दानकुनी पहुंची। यात्रिओं का स्वागत फूलों से किया गया। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि 24 कोचों वाली ट्रेन राजस्थान के अजमेर से सोमवार सुबह रवाना हुई और मंगलवार को 10 बजकर 40 मिनट पर पहुंची। ट्रेन के प्लेटफॉर्म पर पहुंचने के बाद उस पर फूलों की बारिश की गई। राज्य मंत्री मोलॉय घटक और तपन दासगुप्ता यात्रियों का स्वागत करने के लिए प्लेटफॉर्म पर मौजूद थे।
यात्रियों की होगी जांच
स्वास्थ्य विभाग ने स्टेशन के बाहर एक शिविर लगाया है और महिलाओं तथा बच्चों समेत 1,186 यात्रियों की जांच की जाएगी। सूत्रों ने बताया कि जिन यात्रियों में लक्षण दिखेंगे उन्हें जरूरी चिकित्सीय इलाज मुहैया कराया जाएगा। वहीं अन्य को बसों के माध्यम से राज्य के अन्य स्थानों पर उनके गंतव्य स्थान तक पहुंचाया जाएगा। उन्होंने बताया कि शारीरिक दूरी नियमों का पालन करते हुए कोच को खाली किया गया। राजस्थान के मुख्य सचिव ने पश्चिम बंगाल के अपने समकक्ष को अजमेर और अन्य स्थानों से फंसे तीर्थयात्रियों और श्रमिकों की राज्य वापसी के लिए पत्र लिखा था। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने रविवार को कहा था कि दो ट्रेन करीब 2,500 श्रमिकों, तीर्थयात्रियों और मरीजों को घर लेकर आएंगी। इसमें से एक ट्रेन राजस्थान और दूसरी ट्रेन केरल से आएगी। सूत्रों ने बताया कि केरल के तिरुवनंतपुरम से सोमवार को चली ट्रेन बुधवार को मुर्शिदाबाद जिले के ब्रह्मपुर पहुंचेगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बंगाल में तीसरे दिन भी कोरोना के 800 से ज्यादा मामले, 25 की हुई मौत

कोलकाता : वेस्ट बंगाल कोविड-19 हेल्थ बुलेटिन के अनुसार पश्चिम बंगाल में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के 850 नये मामले आये है आगे पढ़ें »

कोरोना की वजह से 9वीं-12वीं के पाठ्यक्रम 30 फीसदी घटे

नयी दिल्ली : कोविड-19 के बढ़ते मामलों के बीच स्कूलों के ना खुल पाने के कारण शिक्षा व्यवस्था पर असर और कक्षाओं के समय में आगे पढ़ें »

ऊपर