रहें सावधान ! कोरोना संक्रमण के फैलने की बड़ी वजह बन सकती है प्लास्टिक !

प्लास्टिक कैरी बैग का धड़ल्ले से हो रहा है इस्तेमाल, कोलकाता नगर निगम बेखबर
सिंकी सिंह,कोलकाता : महानगर लगातार कोरोना वायरस के प्रभाव से जूझ रहा है ऐसे में महानगर में धड़ल्ले से प्लास्टिक का इस्तेमाल किया जा रहा है। कई डॉक्टरों के अनुसार कोरोना वायरस लगभग 7 दिनों तक प्लास्टिक पर मौजूद रह सकता है और इस दौरान कोई इस प्लास्टिक को छूता है तो वह कोरोना की चपेट में आ सकता है। ऐसे मेंकोरोना वायरस महमारी के दौरान फिर धड़ल्ले से प्लास्टिक कैरी बैग का इस्तेमाल शुरू हो गया है। हर दुकान, सब्जी के ठेले पर आसानी से प्लास्टिक बैग आपको मिल ही जाएगा और लोग खुद भी प्लास्टिक कैरी बैग का इस्तेमाल फिलहाल अधिक संख्या में कर रहे हैं। जरूरतमंद लोगों में राशन का वितरण भी प्लास्टिक में ही किया जा रहा है। वहीं जागरूक करने वाले अधिकारी भी लोगों को दान देने के लिये प्लास्टिक का ही इस्तेमाल करते नजर आ रहे है। गौरतलब है ​कि कोलकाता नगर निगम को शायद खबर नहीं कि महानगर में पहले की तुलना में अधिक संख्या में प्लास्टिक का इस्तेमाल किया जा रहा है। पहले निगम ने सख्ती बरतते हुए जहां सभी लोगों को जूट बैग इस्तेमाल करने को कहा था वह सख्ती फिलहाल ठंडी पड़ गई। ना कोई अभियान चलाया जा रहा है ना ही किसी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जा
रही है।
कोरोना फैलने की वजह बन सकती है प्लास्टिक
डॉक्टर आर.डी. दुबे ने बताया कि जिस तरह से महानगर में प्लास्टिक का इस्तेमाल किया जा रहा है वह कोरोना वायरस के फैलने में मददगार साबित हो सकती है। उन्होंने बताया कि वायरस प्लास्टिक की सतह पर काफी देर तक जिंदा रह सकता है। ऐसे में कोई व्यक्ति उस प्लास्टिक को छूता है तो कोरोना होने की संभावना बन जाती है। गौरतलब है कि ऐसे में जरूरतमंदों में जो राशन वितरण किया जा रहा है वे लोग प्लास्टिक को जहां-तहां फेंक रहें है अगर इस पर नियंत्रण नहीं किया गया तो महानगर एक बार फिर बड़ी मुसीबत में पड़ सकता है।
प्लास्टिक कहीं डेंगू व मलेरिया फैलने की वजह ना बन जाये
डिप्टी मेयर अतिन घोष ने बताया कि बरसात शुरु हो गई है ऐसे में वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिये सभी को सतर्क कर दिया गया है। बारिश की वजह से डेंगू व मलेरिया होने का खतरा तो बढ़ गया है लेकिन हमारी ओर से कार्य भी शुरु कर दिया गया है। प्लास्टिक का अधिक इस्तेमाल परेशानियों को बढ़ा रहा है लेकिन सतर्कता के साथ सफाई का कार्य करवाया जा रहा है। गौरतलब है कि निगम के लिये अगामी दिन काफी चुनौती पूर्ण रहने वाला है और बरसात महानगर के लोगों की परेशानियों का बढ़ा सकता है।
कोरोना के खत्म होने पर होगी कार्रवाई
मेयर परिषद के सदस्य स्वप्न समाद्दार ने बताया कि इस वक्त सारा ध्यान कोरोना पर टिका हुआ है ऐसे में प्लास्टिक के इस्तेमाल पर रोक लगा पाना संभव नहीं है। पॉलिथीन का इस्तेमाल अधिक हो रहा है हमारे पास जानकारी है लेकिन फिलहाल लोगों की जीवन रक्षा ज्यादा महत्वपूर्ण है। महमारी अचानक आ गई इसमें कुछ किया नहीं जा सकता है। इस महामारी के समाप्त होने के बाद ही अभियान चलाया जाएगा साथ ही कार्रवाई भी की जाएगी।
प्लास्टिक के इस्तेमाल से हो सकती है कई समस्याएं
– महानगर में जलजमाव की वजह बन सकती है प्लास्टिक
– प्लास्टिक के इस्तेमाल से वातावरण हो सकता है प्रदुषित
– प्लास्टिक कई बीमारियों को दे रहा है दावत

शेयर करें

मुख्य समाचार

भैंस को नदी किनारे नहला रहा था युवक, अचानक पीछे से आया मगरमच्छ और….

तेलंगाना : तेलंगाना में सांगारेड्डी जिले की मंजीरा वाइल्ड लाइफ सैंक्चरी के आस-पास रहने वाले ग्रामीण इन दिनों बहुत आक्रोशित हैं और दहशत में जीवन आगे पढ़ें »

दयाबेन को रिप्‍लेस करेगी यह एक्ट्रेस? दिशा वकानी की होगी शो में नो इंट्री!

मुंबईः 'तारक मेहता का उल्टा चश्मा' टीवी जगत का काफी लोकप्रिय कार्यक्रम है। शो 12 सालों से लोगों को हंसाता आ रहा है। हालांकि इसके आगे पढ़ें »

ऊपर