रहस्य व खौफ को तलाशती हैं इनकी नजरें

कोलकाता : आत्मा, भूत-प्रेत का नाम सुनते ही जहां लोगों की रूह कांप उठती है। वहीं कुछ ऐसे भी लोग हैं जो इनकी तलाश में ही निकल पड़ते हैं। रहस्यमी दुनिया को तलाशने की ललक लिए यह खंडहर, जंगलों की ओर निकल पड़ते हैं। चेहरे पर ना कोई सिकन, ना भय। आत्मा और भूत-प्रेत व रहस्यमयी दुनिया जैसे सब्जेक्ट्स पर वैज्ञानिक अध्ययन के लिए महानगर में ‘डीटेक्टीव ऑफ सुपरनेच्युरल’ नामक संस्था काम कर रही है। बहुत कम समय के अंदर टीम डीओएस के सदस्यों ने राज्य के विभिन्न इलाकों में अपनी अत्याधुनिक यंत्रों के जरिए भूत व आत्मओं की उपस्थिति पायी है। खासतौर पर डाउहिल में तो डीओएस के सदस्यों को आत्माओं से जान का खतरा उत्पन्न हो गया था। भारत में भूत-प्रेत की कहानियां कई सालों से लोगों को रोमांचित करती आ रही हैं, लेकिन देश में कई ऐसी जगह भी हैं जहां कहानियां ही नहीं बल्कि हकीकत में भी भूत देखे जाते हैं। ऐसी एक दो ही नहीं बल्कि कई जगह हैं।
क्या हुआ था डाउहिल में ?
अगर इंटरनेट पर आप होंटेड प्लेस इन इंडिया टाइप कर सर्च करेंगे तो सबसे पहले कर्सियांग के डाउहिल का नाम सामने आएगा। डाउहिल में 500 मीटर लंबी एक ऐसी सड़क है जहां शाम होते ही भूत-प्रेत के डर से कोई जानवर तक नहीं गुजरता है। ऐसे में वहां की सच्चाई जानने के लिए टीम डीओएस वहां पहुंचा।
टीम डीओएस के देवराज सान्याल ने बताया कि वर्ष 2016 के जून महीने में वह अपने सदस्यों के साथ डाउहिल पहुंचे। उन्होंने सुनिश्चित किया था कि वे लोग 5 दिनों तक उक्त भूतहा रास्ते पर रात 8 बजे से आधी रात तक रहेंगे। साथ में अपने अत्याधुनिक यंत्रों व कैमरे के साथ देवराज डाउहिल पहुंचे लेकिन देर रात 3 बजे से ज्यादा समय तक वे लोग वहां पर नहीं टिक पाए।
अचानक उनके यंत्रों में मैग्नेटिक फील्ड में वृद्धि देखी गयी। साथ ही आसपास कोई मोबाइल टॉवर नहीं था तब भी मैग्नेटिक फील्ड ज्यादा देख उन्हें लगा कि आसपास कोई आत्मा मौजूद है।
इस बीच अचानक जैकेट पहने हुए टीएम डीओएस के सदस्य शुभोजीत के पीठ पर किसी ने खरोंच लगा दी। देवराज ने बताया कि इस दौरान अचानक गिरने से शुभोजीत का हाथ भी दब गया जबकि वहां आसपास में न कोई पेड़ था  न कुछ और। ऐसे में शुभोजीत को लगा था कि किसी ने उसे पीछे से धक्का मारा, लेकिन मुड़कर देखने पर पीछे कोई भी नहीं था। इस घटना से भयभीत टीम डीओएस डाउहिल से पास लौट आयी।
जब आत्मा ने 4 दोस्तों के जीवन में लाया अंधेरा
टीम डीओएस के संस्थापक सदस्य देवराज ने बताया कि महानगर कोलकाता के कसबा इलाके में एक आत्मा ने 4 दोस्तों के जीवन में अंधेरा ला दिया। देवराज ने बताया कि कसबा के राजडांगा मेन रोड में रहनेवाले अभिजीत व उनके 3 दोस्तों ने एक साथ मिलकर एक बैंड शुरू किया। जिस घर में उन्होंने बैंड शुरू किया वहां, आए दिन कुछ अजीब घटना घटती थी। इस बीच अचानक उनका बैंड बंद हो गया और उनकी जिंदगी में परेशानियों का अंबार लग गया। ऐसे में उक्त बैंड की सच्चाई जानने के लिए टीम डीओएस उक्त कमरे में पहुंची जहां वे लोग बैंड की प्रैक्टिस करते थे। वहां पर जांच करने के दौरान उन्होंने पाया कि अचानक मैग्नेटिक फिल्ड बढ़ गया और साथ ही कमरे का तापमान भी बढ़ गया। इसके अलावा ड्रम स्टिक अचानक गिरने लगे। ऐसे में उन्हें अहसास हुआ कि वहां पर कोई आत्मा मौजूद है ।
आत्माओं को पकड़ने के लिए इस्तेमाल होने वाले यंत्र
1. ईएमएफ- आसपास के एनर्जी फिल्ड में कोई परिवर्तन होने पर ईएमएफ डिटेक्टर के पकड़ में आ जाएगा।
2. ईवीपी साउंड रिकॉर्डर- ऐसा कोई आवाज जो मनुष्य को सुनायी नहीं देता है, वह सभी आवाज ईवीपी साउड रिकॉर्डर में रिकॉर्ड हो जाता है। इन्फ्रा व अल्ट्रा फ्रिक्वेंसी साउंड भी ईवीपी रिकॉर्डर में कैद हो जाता है।
3. एक्सटर्नल व इंफ्रारेड थर्मामीटर- किसी कमरे व जगह की गर्म व ठंड तापमान मापने के लिए एक्सटर्नल एवं इंफ्रारेड थर्मामीटर को काम में लाया जाता है। टीम डीओएस के अनुसार जब कोई आत्मा आसपास एनर्जी संग्रह करती है तो वहां की तापमान अचानक गिर जाती है। यह यंत्र इसे समझाने में मदद करती है।   4. पाउडर : कोई आत्मा अगर किसी कमरे के अंदर टहल रही है या नहीं उसे पता करने में पाउडर मदद करती है। अगर कोई आत्मा कमरे में मूव करती है तो पाउडर एक जगह से दूसरे जगह पर चली जाती है।
कौन-कौन है टीम डीओएस में
टीम डीओएस में कुल 5 सदस्य हैं। इनमें से मुख्य देवराज सान्याल हैं। इनके अलावा टीम में सुमन मित्रा, इशिता दास, शुभोजित साहा, अनिंदम घोषाल एवं मेघा सिन्हा शामिल हैं।

मुख्य समाचार

फिर दहला कांकीनाड़ा, सरेआम जबरदस्त बमबारी

भाटपाड़ा : सोमवार की सुबह भाटपाड़ा थाने के सामने सरेआम हुई बमबारी से एक बार फिर इलाका दहल गया। लगातार 60 से 70 बम फेंके आगे पढ़ें »

Allahabad High court, police protection, sakshi Mishra and Ajitesh

उच्‍च न्यायालय ने दिए साक्षी मिश्रा और अजितेश की पुलिस सुरक्षा के आदेश

प्रयागराज : परिजनों की मर्जी के खिलाफ भाजपा विधायक राजेश मिश्रा की बेटी साक्षी मिश्रा दलित युवक से विवाह रचाने के बाद जान के खतरे आगे पढ़ें »

India will host ICC World Cup -2023

2023 में पहली बार भारत करेगा विश्व कप क्रिकेट की मेजबानी

नई दिल्ली : अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद् (आईसीसी) विश्व कप क्रिकेट 2019 में भारत के विजेता बनने का सपना टूट गया, वहीं रविवार को हुआ फाइनल आगे पढ़ें »

Navjot Singh Sidhu, Capt Amarinder Singh

आखिरकार सिद्धू ने मुख्यमंत्री को भेजा त्यागपत्र, कैप्टन ने कहा- अभी देख नहीं पाया हूं

चंडीगढ़ : पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से नाराज चल रहे नवजोत सिंह सिद्धू ने सोमवार को अपना त्यागपत्र दे दिया। इस बात की आगे पढ़ें »

Kargil war, train departure, Kashi Vishwanath Express,

कारगिल युद्ध के शहीद सैनिकों की याद में पहली ट्रेन रवाना

नई दिल्ली : कारगिल दिवस के मौके पर सोमवार को भारतीय सेना के पराक्रम को दर्शाने वाले पोस्टरों के साथ दिल्ली-वाराणसी काशी विश्वनाथ एक्सप्रेस को आगे पढ़ें »

कौशल विकास को बढ़ावा देने के लिए बेटरयू ने की साझेदारी

नई दिल्ली : राष्ट्रीय कौशल विकास निगम (एनएसडीसी) ने शिक्षा-से-रोजगार के एक वैश्विक मंच बेटरयू के साथगठबंधन किया है, जो कनाडा के ओटावा में स्थित आगे पढ़ें »

china_economy_down

चीन की अर्थव्यवस्‍था को लगा झटका, ग्रोथ रेट तीन दशकों में सबसे नीचे

बीजिंग : चीन और अमेरिका के बीच चल रहे ट्रेड वार के कारण चीन की अर्थव्यवस्था को जबर्दस्त झटका लगा है। इस वजह से उसकी आगे पढ़ें »

sugar cane labour, maharastra,beed

पीरियड्स में छुट्टी लेने पर कटते थे पैसे इसलिए जनाबाई ने उठाया यह कदम…

महाराष्ट्र : महाराष्ट्र के बीड जिले में कुछ ही सालों में कई महिलाओं ने अपनी बच्‍चेदानी हटवा दी हैं। पीरियड्स के दौरान छुट्टी लेने पर आगे पढ़ें »

आयुष्मान भारत योजना में कई राज्य इंश्योरेंस मॉडल या हाइब्रिड होंगे शिफ्ट

नई दिल्ली : केंद्र सरकार की आयुष्मान भारत योजना में कई राज्य इंश्योरेंस मॉडल या हाइब्रिड में शिफ्ट होंगे। ऐसा माना जा रहा है कि आगे पढ़ें »

नीशाम ने युवा पीढ़ी को दी सलाह, कहा खिलाड़ी मत बनना बच्चों

लंदनः विश्व कप के रोमांचक फाइनल में इंग्लैंड से हारने के बाद मायूस न्यूजीलैंड के हरफनमौला जिम्मी नीशाम ने बच्चों को सलाह दी ‘खिलाड़ी मत आगे पढ़ें »

ऊपर