यास : पेयजल की न हो कमी, इसलिए…

  • पीएचई डिपार्टमेंट ने 22 दक्षिण बंगाल व 6 उत्तर बंगाल में भेजे
  • एक दिन में 10 लाख पानी के पाउच बनायेगा एमडब्ल्यूटीयू
  • मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार युद्ध स्तर पर की गयी तैयारी : पूलक राय

कोलकाता : यास को लेकर राज्य सरकार की ओर से युद्ध स्तर पर तैयारियां हाे गयी है। ऐसे में यास के पहले और बाद में कोई को भी पेयजल की काेई कमी न हो। इसके लिए भी विशेष तैयारियां पूरी कर ली गयी है। इसके तहत राज्य सरकार के पीएचई यानी की पब्लिक हेल्थ इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट की ओर से मंत्री पूलक राय ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के निर्देशानुसार राज्य के 28 जगहों पर मोबाइल वाटर ट्रीटमेंट यूनिट को रखवा दिया है। इनमें 22 दक्षिण बंगाल में एवं 6 उत्तर बंगाल के इलाकों में पहुंचाये गये हैं। इसके माध्यम से लोगों को आपदा के दौरान व आपदा के बाद पेयजल की कोई कमी नहीं होगी।
1 दिन में 10 लाख पाउच पानी देने की रखता है क्षमता
इस बारे में पूलक राय ने सन्मार्ग को बताया कि इस मोबाइल वाटर ट्रीटमेंट यूनिट के जरिये एक बार में 4000 पानी के 250 एमएल के पाउच तैयार हो जाते हैं। यह एमडब्ल्यूटीयू में एक दिन में 10 लाख पाउच को तैयार किया जा सकेगा। इसे विभिन्न् जिलों के डीएम के कहने के अनुसार उनके जिले, ब्लॉक व पंचायत इलाकों में पहुंचाया गया है। इससे रिमोट एरिया के लोग भी पेयजल के अभाव में नहीं रहेंगे।
प्लांट में 4 लाख बोतल हो रहे हैं तैयार
वहीं उन्होंने बताया कि प्राणधारा परियोजना के तहत 12 प्लांट बनाये गये हैं। इन प्लांट में 4 लाख बोतल तैयार किये गये हैं। जिसे डीएम के निर्देशानुसार विभिन्न जिलो, ब्लॉक, हावड़ा नगर निगम, कोलकाता नगर निगम के इलाकों में पहुंचाया गया है। इस दौरान कोलकाता नगर निगम में 1 लाख बोतलों को पहुंचाया जा चुका है।
3500 ओवर हेड टैंक 100 प्रतिशत फूल
उन्होंने बताया कि इसके अलावा राज्य भर में मौजूद 3500 ओवर हेड टैंक को 100 प्रतिशत भर दिया गया है। अगर किसी कारणवश ब्लॉक व पंचायत या फिर रिमोट इलाकों में पानी नहीं पहुंच पाया तो लोग प्यासे नहीं रहेंगे।
राज्य के 200 जगहों पर डीजी
पूलक राय ने बताया कि कोरोना पीड़ितों के मद्देनजर राज्यभर के रिलीफ सेंटर व अस्पतालों में 200 डिजिटल जनरेटर पहुंचाया गया है। इससे चलाया जायेगा तो विद्युत लेकर जलापूर्ति की जा सकेगी। इससे अगर तूफान में बिजली चली भी जाती है तो डीजी के माध्यम से पानी का कनेक्शन पूरा चालू रहेगा। इससे पीड़ित व मरीजों को किसी प्रकार की कोई तकलीफ नहीं होगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

‘उत्तर बंगाल में भाजपा की अंत शुरूआत हुई’

कहा - राज्य में भाजपा का पतन निकट अलीपुरदुआर के भाजपा अध्यक्ष सहित 7 नेता तृणमूल में शामिल सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : उत्तर बंगाल में भाजपा को झटका आगे पढ़ें »

सेक्स के 4 ऐसे पोजीशन जो रात को बना देती है, खुशनुमा

कोलकाताः सेक्स दुनिया का सबसे अलग एहसास है। हालांकि सेक्स को लेकर तरह-तरह के सवाल सभी के मन में रहते है। इसे लेकर लोगों की आगे पढ़ें »

ऊपर