मोहन भागवत अचानक पहुंचे आसनसोल, ली संगठन की खोज – खबर

आसनसोल : देवघर से अंडाल हवाई अड्डा जाने के दौरान राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) के सर संघचालक मोहन भागवत ने सोमवार की दोपहर आसनसोल में स्थित संघ कार्यालय में ठहराव किया। इस दौरान उन्होंने आरएसएस के विभाग प्रचारक परितोष साहा, दुर्गापुर जिला कार्यवाहक आरएसएस के अक्षुत हाजरा तथा आसनसोल जिला संघ चालक निरंजन माकुर के साथ राज्य की सांगठनिक मुद्दे पर एकांत में बैठक की। बाद में उन्होंने 60-70 संघ कर्मियों के साथ औपचारिक बैठक की। दोपहर का भोजन करने के बाद वे हवाई अड्डा के लिए रवाना हो गये। कार्यालय के बाहर इंतजार कर रहे मीडिया कर्मियों से उन्होंने यह कह कर बात करने से इनकार कर दिया कि आसनसोल में उनका ट्रांजिंट ठहराव है। उनकी सुरक्षा में सीआईएसएफ के कमांडों सहित पुलिस कमिश्नरेट के अधिकारी भी बड़ी संख्या में शामिल थे। सूत्रों ने कहा कि बैठक में संघ की गतिविधियों को पूरे राज्य में बढ़ाने का निर्देश दिया गया। वर्ष 2025 में संघ की स्थापना के 100 वर्ष पूरे होने वाले हैं। इसके मद्देनजर संघ अपनी शाखाओं की संख्या दोगुनी करना चाहता है। इसके साथ ही स्वयं सेवकों की संख्या बढ़ाने तथा आम जनता के बीच उनकी गतिविधियों को बढ़ाने का निर्देश मिला। राज्य की राजनीतिक स्थिति तथा भाजपा के बारे में भी संक्षिप्त चर्चा की गयी।
सनद रहे कि मोहन भागवत रांची में 5 दिवसीय आयोजन में शामिल होने आये थे। रविवार को गिरिडीह में संजीव शर्मा के आवास में रात्रि ठहराव के बाद सोमवार की सुबह वे देवघर पहुंचे। उनके करीबी सूत्रों ने बताया कि वे हर वर्ष साधू- संत से मिलने का कार्यक्रम तय करते हैं। इसी के तहत वे देवघर में ठाकुर अनुकूल चन्द्र के सत्संग आश्रम में पहुंचे। वहां उनका स्वागत मलय सरकार तथा झारखंड के संघ प्रभारी डॉ. युगल किशोर चौधरी ने किया। आश्रम के सहायक सचिव शिवानंद ने उन्हें आश्रम का परिभ्रमण कराया। इसके बाद उन्होंने ठाकुर अनुकूल चन्द्र और ठाकुर मां की प्रतिमा को नमन किया। आचार्य देव अशोक चक्रवर्ती तथा उनके तीन पुत्रों से उन्होंने बात भी की। सनद रहे कि पिछले वर्ष आचार्य देव आरएसएस के प्रशिक्षण शिविर में शामिल हुए थे। उन्होंने मोहन भागवत को आश्रम आने का न्याेता दिया था। आश्रम में आधा घंटा बिताने के बाद वे बाबा वैद्यनाथ मंदिर पहुंचे। वहां पूजा कर आशीर्वाद ग्रहण किया। इसके बाद वे अंडाल हवाई अड्डा के लिए रवाना हो गये। बीच रास्ते में वह आसनसोल नॉर्थ थाना अंतर्गत धाधका स्थित आरएसएस कार्यालय में पहुंचे जहां उन्होंने पदाधिकारियों से एकांत में बात की। इसके बाद उन्होंने विभिन्न संघ कार्यकर्ताओं के साथ अलग-अलग बात की। दोपहर के भोजन करने के बाद अंडाल हवाई अड्डे के लिए रवाना हो गये। निर्धारित समय पर यानी शाम 6 बजे स्पाइस जेट की विमान से वह मुंबई के लिए रवाना हो गये।

शेयर करें

मुख्य समाचार

लोगों को मेरे खेल के खत्म होने के बारे में लिखने की आदत है, मुझे फर्क नहीं : सुशील

नयी दिल्ली : दिग्गज पहलवान सुशील कुमार उम्र के ऐसे पड़ाव पर है जहां ज्यादातर खिलाड़ी संन्यास की घोषणा कर देते है लेकिन ओलंपिक में आगे पढ़ें »

कोरोना से हुए नुकसान को कम करने के लिए सरकार जल्द नए राहत पैकेजों की घोषणा करेगी

नई दिल्ली : कोरोना के कारण हुए लॉक डाउन के कारण देश की अर्थव्यवस्था को काफी नुकसान हुआ है। वित्त मंत्रालय लगातार राहत पैकेज पर आगे पढ़ें »

ऊपर