मोदी ने कहा- तमाम उपायों के बावजूद नहीं बचा पाए 80 लोगों की जिंदगी, दी 1 हजार करोड़ रुपये की प्राथमिक राहत

कोलकाता : अम्फान तूफान की वजह से बंगाल में मची तबाही से लोगों को राहत देने के लिए शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तत्काल एक हजार करोड़ रुपये की प्राथमिक राहत देने की घोषणा की है। प्रधानमंत्री राहत कोष से मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख तथा घायलों को 50-50 हजार रुपये देने की घोषणा की। प्रधानमंत्री ने समीक्षा बैठक में कहा कि चक्रवात अम्फान ने बंगाल के बड़े हिस्से को बुरी तरह से प्रभावित किया। तमाम उपायों के बावजूद हम 80 लोगों की जिंदगी को नहीं बचा पाए। मोदी ने कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के नेतृत्व में पश्चिम बंगाल चक्रवात अम्फान के कारण उत्पन्न संकट से लड़ने में अपना योगदान दे रहा है।मोदी ने कहा, ‘ मैं राज्य को 1,000 करोड़ रुपये की अंतरिम मदद देने की घोषणा करता हूं। घरों के अलावा कृषि, बिजली और अन्य क्षेत्रों को पहुंचे नुकसान का विस्तृत आकलन किया जाएगा।’ उन्होंने कहा, ‘ संकट और निराशा के इस समय में पूरा देश और केन्द्र बंगाल के लोगों के साथ है।’

एक ओर कोविड-19 दूसरी ओर कोविड-19

मोदी ने कहा, ‘ हम एक ओर कोविड-19 जैसी महामारी का सामना कर रहे हैं तो दूसरी ओर देश के कुछ क्षेत्रों में चक्रवाती तूफान के कारण पैदा हुई स्थिति है। इस महामारी से निपटने के लिए हमें शारीरिक दूरी के नियमों का पालन करना होता है जबकि तूफान प्रभावित क्षेत्रों से लोगों को सुरक्षित स्थानों की ओर ले जाना भी एक चुनौती है।’ प्रधानमंत्री ने गत वर्ष मई महीने में ओडिशा में आए तूफान का उल्लेख करते हुए कहा, ‘ मई महीने में उस समय देश चुनावों में व्यस्त था और उसी दौरान ओडिशा में एक तूफान का भी सामना करना पड़ा। अब एक वर्ष बाद तूफान के कारण हमारे तटवर्ती इलाके बुरी तरह से प्रभावित हुए हैं। पश्चिम बंगाल के लोग इसके कारण बुरी तरह से प्रभावित हुए हैं।

पूर्वाह्न 10 बजकर 50 मिनट पर कोलकाता पहुंचे मोदी 
इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चक्रवात ‘अम्फान’ से बुरी तरह प्रभावित हुए पश्चिम बंगाल में हालात का जायजा लेने के लिए पूर्वाह्न 10 बजकर 50 मिनट पर कोलकाता हवाईअड्डा पहुंचे, जहां राज्यपाल जगदीप धनखड़, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और भाजपा के वरिष्ठ नेताओं ने उनका स्वागत किया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

भोपाल में कोरोना संक्रमण से संक्रमित चार मरीज होम्योपैथी दवा से हुए ठीक

भोपाल : भोपाल में कोरोना वायरस से संक्रमित हल्के लक्षणों वाले मरीजों पर होम्योपैथिक उपचार के अच्छे परिणाम मिलने का दावा किया गया है। होम्योपैथिक आगे पढ़ें »

लॉकडाउन से हुए बेरोजगार मजदूरों, इलेक्ट्रिशियनों को रोजगार दे रहा चक्रवात अम्फान

कोलकाता : बांग्ला कहावत ‘करोर पॉश माश तो करोर सोर्बनाश’ (किसी का नुकसान किसी अन्य का फायदा बन जाना) इन दिनों चक्रवात प्रभावित पश्चिम बंगाल आगे पढ़ें »

ऊपर