मु्ख्यमंत्री ने कहा- कठिन समय में खुद का और परिवार का रखें ध्यान

ममता ने बढ़ाया पुलिस कर्मियों का हौसला
सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कोलकाता पुलिस की हौंसला अफजाई की। उन्होंने कहा कि यह एक कठिन समय है। आम लोगों की सेवा के लिए हमें आगे रहना होगा। अपनी ड्यूटी करते हुए आप लोग अपना और परिवार का भी ध्यान रखें। मुख्यमंत्री ने कोलकाता पुलिस मुख्यालय, लालबाजार का औचक दौरा किया।
सीपी से कहा, कमरे की खिड़की खोल कर रखें
लालबाजार पहुंची सीएम ममता बनर्जी सबसे पहले पुलिस आयुक्त के कमरे में गयीं। कमरे के अंदर मौजूद एक्वेरियम और पूर्व पुलिस आयुक्तों की तस्वीरें देखी। कमरे का जायजा लेने के बाद सीएम ने पुलिस आयुक्त को कमरे की खिड़की खोलकर रखने को कहा। सीएम ने सीपी से फोर्स के बारे में जानकारी ली। इसके बाद सीएम ने कॉरिडोर में खड़े पुलिस कर्मियों को सोशल डिस्टेंसिंग बनाये रखने को कहा। उन्होंने पुलिस कर्मियों को डेढ़ मीटर की दूर पर खड़े रहने की सलाह दी।
पुलिस कर्मियों को किया सैल्यूट
मुख्यमंत्री ने पुलिस कर्मियों को कहा कि आप लोग जिस परिस्थिति में अपनी ड्यूटी कर रहे हैं, उसके लिए आपको धन्यवाद। मैं आप लोगों को सैल्यूट करती हूं। इस बीमारी के बीच आप सड़क पर आम नागरिकों की सहायता के साथ कानून व्यवस्था बनाये रखने मे जुटे हैं। आप लोग पूरे दायित्व के साथ ड्यूटी का पालन कर रहे हैं। इसलिये ड्यूटी करते वक्त खुद को सुरक्षित रखें। आप लोगों को अपने परिवार से दूर रहकर ड्यूटी करनी पड़ती है, ऐसे में अपने परिवार का भी ध्यान रखें। आप लोगों के साथ मैं हमेशा हूं। सीएम ने पुलिस कर्मियों को बताया कि 5 मई तक पुलिस कर्मियों का इंश्योरेंस 10 लाख कर दिया गया है। इसके तहत उनके परिजनों का भी इलाज किया जाएगा। उन्होंने पुलिस कर्मियों को हर वक्त सैनिटाइजर और मास्क का इस्तेमाल करने की सलाह दी। लालबाजार से निकलने के बाद सीएम भवानी भवन पहुंची। यहां गेट पर पुलिस कर्मियों को बिना मास्क के ड्यूटी करते देख सीएम ने रोष प्रकट किया। उन्होंने डीसी साउथ मिराज खालिद को पुलिस कर्मियों को तुरंत मास्क और ग्लब्स मुहैया कराने का निर्देश दिया।
सीएम ममता ने प्रधानमंत्री राहत कोष और राज्य राहत कोष में दिये 5 – 5 लाख
कोविड – 19 के खिलाफ जारी जंग में सीएम ममता बनर्जी ने अपने व्यक्तिगत बचत से प्रधानमंत्री राहत कोष और राज्य के राहत कोष में 5 – 5 लाख रुपए का अनुदान दिया है। सीएम ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। अपने ट्वीट में मुख्यमंत्री ने लिखा है कि अपने सीमित संसाधनों में से प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष में 5 लाख और राज्य के राहत कोष में भी 5 लाख रु. का अनुदान दे रही हूं। मैं एक विधायक या मुख्यमंत्री के रूप में कोई वेतन नहीं लेती हूं। मैं 7 बार संसद सदस्य रह चुकी हूं, इसके बावजूद कभी सांसद पेंशन को आगे नहीं बढ़ाया। मेरी आय का प्राथमिक स्रोत मेरी रचनात्मक गतिविधियां हैं, जो रॉयल्टी के तौर पर मुझे मेरे संगीत और पुस्तकों से मिलती है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सन्मार्ग एक्सक्लूसिव :आर्थिक पैकेज से हर वर्ग को राहत, न अन्न की कमी, न धन की : ठाकुर

 विशेष संवाददाता, कोलकाता : कोविड-19 संकट के आघात से देश और देश की अर्थव्यवस्था को उबारने के लिए केंद्र सरकार हरसंभव कोशिश कर रही है। आगे पढ़ें »

जार्ज फ्लायड की मौत पर आईसीसी ने कहा, विविधता के बिना क्रिकेट कुछ नहीं

दुबई : अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने शुक्रवार को कहा कि ‘क्रिकेट विविधता के बिना कुछ भी नहीं है।’ उसने यह बयान अफ्रीकी मूल के आगे पढ़ें »

टेस्ट मैच में लागू होगा कोरोना सब्स्टीट्यूट, जल्द मिलेगी आईसीसी की मंजूरी

विश्व पर्यावरण दिवस विशेष : तीन दशक से पर्यावरण-जंगल की रक्षा कर रहे रामगढ़ के वीरू महतो

स्थिति ठीक होने पर ही टूर्नामेंट्स हो, आज यूएस ओपन होता है तो मैं नहीं खेलूंगा : नडाल

ट्रेडिंग के आखिरी के घंटों में गंवाया लाभ, निफ्टी 0.32% और सेंसेक्स 128.84 अंक नीचे हुआ बंद

आईडब्ल्यूएफ से मुआवजे की मांग करेंगी भारोत्तोलक संजीता चानू

दर्शकों के बिना कैसे होगा विश्व कप, उचित समय का इंतजार करे आईसीसी : अकरम

बंगाल में तूफान से भी तेज हुई कोरोना मामलों की गति, अब तक के सबसे अधिक आए मामले

पश्चिम बंगाल में बेरोजगारी की दर देश की तुलना में कम: सीएमआईई आंकड़े

एसबीआई ने 2019-20 की चौथी तिमाही में 3,581 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ दर्ज किया

ऊपर