‘मुमकिन नहीं तुझको भुलाना…’

सुशांत सिंह राजपूत के जाने से हिल गया टॉलीवुड भी
सबिता राय कोलकाता : एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की असमय मौत ने सबको हैरान कर दिया। किसी को भी यकीन नहीं आ रहा है कि सुशांत सिंह राजपूत अब नहीं रहे। फिल्म इंडस्ट्री और सुशांत सिंह राजपूत के चाहने वालों को तो पहले विश्वास नहीं हुआ। सुनने वाले को यकीन नहीं हो रहा कि ऐसा वाकई में हो गया है। फैन्स से लेकर बॉलिवुड तक के लोग इस खबर से बुरी तरह सदमे में हैं। वहीं सुशांत सिंह की मौत से टॉलीवुड भी पूरी तरह से हिल गया है। टॉलीवुड जगत से जुड़े कलाकार लगातार सोशल मीडिया पर अपना दुख और इस खबर को लेकर हैरानी जता रहे हैं।

 

इंडस्ट्री के लिए बिग लॉस : ऋतुपर्णा सेनगुप्ता

मशहूर अभिनेत्री ऋतुपर्णा सेनगुप्ता ने कहा कि हर किसी की तरह मेरे लिए भी सुशांत की मौत पर यकीन करना मुश्किल है। मेरा यही कहना है कि जीवन में अप एंड डाउन होते हैं, मगर जीवन को खत्म नहीं करना चाहिए। मुझे सुशांत अच्छा लगता था।

 

 

बहुत बुरा हुआ : श्रावंती अभिनेत्री

श्रावंती ने कहा कि, मैं खुद सुशांत की बड़ी फैन हूं। उनकी केदारनाथ फिल्म बहुत अच्छी लगी, लेकिन जो हुआ वह बहुत ही खराब हुआ। पूरे इंडस्ट्री के लिए बिग लॉस है। मुझे लगता है कि चाहे जो भी परिस्थिति हाे यह रास्ता चुनना गलत है।

 

 

 

डिप्रेशन, कैंसर से भी ज्यादा खतरनाक – मिमी

अभिनेत्री मिमी चक्रवर्ती ने कहा, सच में मेरे पास बोलने के लिए कोई शब्द नहीं है। उन्होंने कहा कि ज्यादातर लोग यही सोचते हैं कि कैमरे के सामने कलाकार जो होते हैं उन्हें कोई दुख नहीं हो सकता है क्योंकि उसके पास नेम फेम मनी सबकुछ है। उनके डिप्रेशन में जाने का क्या कारण होगा। मैं विश्वास करती हूं डिप्रेशन कैंसर से भी ज्यादा खतरनाक होता है। डिप्रेशन को लेकर लोगों को गंभीरता से सोचना होगा।

 

 

 


डिप्रेशन नजरअंदाज नहीं कर सकते – परमव्रत

अभिनेता परमव्रत चट्टोपाध्याय ने कहा कि पहले तो यकीन ही नहीं हुआ है। दूसरी बात यह है कि एक बार फिर से इस घटना ने साबित कर दिया कि डिप्रेशन को कभी भी नजर अंदाज नहीं किया जा सकता है।

 

 

 

रील से रियल लाइफ.. बहुत जल्द चला गया – देव

अभिनेता दीपक अधिकारी उर्फ देव ने सोशल साइट पर लिखा, यह सोचकर कि उनकी आखिरी फिल्मों में से एक ने आत्महत्या नहीं करने और कड़वाहट नहीं होने की बात की थी। और फिर यह.. रील एंड रियल लाइफ। बहुत जल्द चले गए। उनकी आत्मा को शांति मिले।
अधूरे सपनों को छोड़ अलिवदा कह गये सुशांत
मुंबई : सुशात सिंह राजपूत सोशल मीडिया पर फैन्स के साथ अपने उन सपनों को साझा किया करते थे। सुशांत ने बताया था कि उन्हें प्लेन उड़ाने से लेकर नेत्रहीन लोगों के लिए प्रयुक्त कंप्यूटर कोडिंग सीखनी थी। इसके अलावा सुशांत को गाड़ियों का भी खासा शौक था। वे लैंबोर्गिनी कार खरीदना चाहते थे। सुशांत पर्यावरण के लिए भी योगदान देना चाहते थे और 1000 पेड़ों को लगाने की तैयारी कर रहे थे।सुशांत की इस सूची में स्वामी विवेकानंद पर डॉक्यूमेंट्री, सिमेटिक्स पर प्रयोग, ट्रेन से यूरोप की यात्रा, डिफेंस फोर्स के लिए स्टूडेंट्स को तैयारी कराना, महिलाओं को आत्मसुरक्षा की ट्रेनिंग देना और क्रिय, योगा सीखना जैसी गतिविधियां भी शामिल थी। अब उनकी लिस्ट में प्रोफेशनल खिलाड़ी के साथ चेस और पोकर खेलना, मोर्स कोड सीखना, खेती करना सीखना, महिलाओं को सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग में मदद करना भी शामिल था। सुशांत बायें हाथ से क्रिकेट खेलना भी सीखना चाहते थे लेकिन अब सपनें अधूरे रह गए।
सुशांत के बिना अब कभी नहीं बनेगी एमएस धोनी की फिल्म की सीक्वल
कोलकाताः बॉलीवुड के युवा अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत ने आत्महत्या कर ली है. ‘धोनी द अनटोल्ड स्टोरी’ से अलग पहचान बनाने वाले सुशांत सिंह राजपूत के बिना अब इस फिल्म का सीक्वल नहीं बनेगा। धोनी के मैनेजर ने इस बारे में जानकारी दी है। सुशांत सिंह राजपूत ने टीम इंडिया के सबसे कामयाब कप्तान पर बनी फिल्म में अपनी एक्टिंग से एक अलग छाप छोड़ी थी, अब सुशांत के जाने के जाने के बाद ऐसा कोई नहीं है जो धोनी को वैसी ही एक्टिंग करने का भरोसा दिला सके। धोनी के करीबी दोस्त और उनके मैनेजर अरुण पांडे ने कहा कि सीक्वल की बात जेहन में थी और सोचा जा रहा था कि आने वाले वक्त में इस पर काम किया जाए. लेकिन आज जो हुआ है उसके बाद किसी भी बात का कोई मतलब ही नहीं रह जाता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

क्या शादी के बाद भी आप करते हैं…

नई दिल्ली : भारतीय समाज में शादी के बाद तो क्या शादी के पहले भी मास्टरबेशन को सहज नहीं माना जाता। यहां मानसिकता यही है आगे पढ़ें »

मोबाइल दुकान में 30 लाख की चोरी, व्यवसायी आतंकित

-45 मिनट तक चली चोरी, पुलिस को नहीं हुई भनक मोबाइल दुकान में 30 लाख की चोरी, व्यवसायी आतंकित -45 मिनट तक चली चोरी, पुलिस को नहीं आगे पढ़ें »

ऊपर