मुख्यमंत्री का चैलेंज, कहा : देखते हैं कौन जीतता है विधानसभा चुनाव

कूचबिहार : देखते हैं इस बार विधानसभा चुनाव में कौन जीतता है। आरएसएस वाले बाहरी गुंडे हैं। ये बोलते ज्यादा हैं काम कम करते हैं। इनके झांसे में न आएं। ये जिन – जिन बातों का प्रलोभन दे रहे हैं वह सब बंगाल में सरकार स्वयं आपको मुहैया करा रही है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को कूचबिहार शहर के रासमेला मैदान में आयोजित जनसभा में यह मंतव्य व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि ये घर – घर जाकर लोगों को बरगलाते हैं और उन्हें तरह – तरह के झूठे प्रलोभन देकर वोट मांगते हैं। ये वोट के पहले लोगों के हमदर्द बने रहते हैं लेकिन वोट खत्म होने के बाद ही वहां से नदारद हो जाते हैं। उन्होंने कहा कि आरएसएस के लोग स्वामी विवेकानंद, भारत सेवाश्रम या रामकृष्ण मिशन के संस्कारी लोग नहीं हैं। ये राजनीतिज्ञ हैं और अपने एजेंडे पर काम कर रहे हैं।

हमने मंदिरों को एक करोड़ रुपये आवंटित किया

उन्होंने कहा कि किसान विरोधी बिल को भी हम बंगाल में लागू नहीं होने देंगे। केन्द्र सरकार ने आहिस्ते आहिस्ते संवाद माध्यमों की स्वतंत्रता छीन ली है। उन्होंने लोगों से कहा कि आप अगर मेरे लिए घुटने तक पानी में उतरते हैं तो मैं आपके लिए सिर तक उतरने से परहेज नहीं करूंगी। उन्होंने आरएसएस को गांधी का हत्यारा बताते हुए कहा कि आज वही सब भाजपा के नेता हैं। लोगों की थाली में खाना नहीं देते लेकिन उनका सर्वस्व छीनने से परहेज भी नहीं करते। कूचबिहार में कुछ लोग हिन्दुत्व की बात करते हैं लेकिन यहां के मंदिरों तक के लिए कुछ नहीं किया जबकि हमारी सरकार यहां के मदन मोहन मंदिर और शिवशक्ति मंदिरों को एक करोड़ रुपये आवंटित कर उसके विकास और गेस्ट हाउस का निर्माण करायेगी। हम मतुआ समाज के विकास पर भी 200 करोड़ की राशि खर्च करेंगे।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

ममता का मास्टर स्ट्रोक है नंदीग्राम आंदोलन, शुभेन्दु के तेवर भी गरम

महज एक गांव नहीं, बंगाल की सत्ता में परिवर्तन का प्रतीक है नंदीग्राम दादा और दीदी की लड़ाई में किसके हाथ लगेगा विजय रथ, तय करेगी आगे पढ़ें »

सर्दियों में नाखूनों के आसपास की निकलती है खाल ? राहत देंगे ये घरेलू उपाय

कोलकाता : सर्दियों के मौसम में अक्सर कई लोग नाखूनों के आस-पास की खाल निकलने की शिकायत करते हैं। इसकी वजह से न सिर्फ व्यक्ति आगे पढ़ें »

ऊपर