मारवाड़ी बालिका विद्यालय ने दी फीस में राहत

कोलकाता : कोरोना वायरस संक्रमण के कारण लॉकडाउन की अवधि एवं आर्थिक मंदी तथा बच्चों की ऑनलाइन शिक्षा को ध्यान में रखते हुए मारवाड़ी बालिका विद्यालय प्रबंधन ने अप्रैल से जुलाई तक यानी चार महीने की कम्प्यूटर एवं टूर फीस को नहीं लेने का निर्णय लिया है। विद्यालय की सचिव सुधा जैन ने बताया कि टयूशन फीस में भी 20 प्रतिशत की छूट चार महीनों के लिये देने का निर्णय लिया गया। शिक्षायतन फाउंडेशन के अध्यक्ष एस के बिड़ला, ट्रस्टी गिरीश खेतान, विद्यालय प्रबंधकारिणी समिति की अध्यक्ष कुसुम खेमानी, मैनेजमेंट ने हरसम्भव सहयोग प्रदान करने का आश्वासन दिया है।
विद्यालय में 950 से अधिक छात्राएं
विद्यालय में 950 से अधिक छात्राएं शिक्षा प्राप्त कर रही है। विद्यालय खुलने पर सोशल डिस्टेंस एवं सरकारी निर्देशों का पालन किया जायेगा। उन्होंने टीचर इन चार्ज विभा सिंह, प्राथमिक विभाग की इन्चार्ज मानसी पाल, शिक्षिका सुचंद्रा हलदर, डॉली घोष, सुतापा दास एवं शिक्षिकाओं की कर्तव्यनिष्ठा की सराहना की।
माहेश्वरी गर्ल्स स्कूल की बैठक रही बेनतीजा
वहीं दूसरी ओर इस मामले को लेकर माहेश्वरी गर्ल्स स्कूल की सोमवार की बैठक बेनतीजा रही। इसमें अभिभावकों के पक्ष में कोई निर्णय नहीं निकला। स्कूल द्वारा अभिभावकों से कुछ दिनों की और मोहलत मांगी गयी है। इस पर निर्णय लेते हुए अभिभावकों की ओर से स्कूल को कुछ दिनों का समय दिया गया है। बता दें कि फीस कटौती की मांग पर लगातार दो दिनों तक अभिभावकों ने स्कूल के सामने प्रदर्शन किया था। स्कूल की शिक्षिकाओं ने अभिभावकों के प्रतिनिधियों से बातचीत की थी, जिसके बाद स्कूल प्रबंधन की ओर से हायर अथॉरिटी से बात करने के लिए कुछ दिनों का समय मांगा गया है। उल्लेखनीय है कि इस मुद्दे पर विचार करते हुए अभिभावकों ने स्कूल को सोमवार तक का समय दिया था। अभिभावकों का कहना है कि जो सेवाएं स्कूल की ओर से दी ही नहीं गयी है, उसकी हम फीस क्यों दें?

शेयर करें

मुख्य समाचार

दिल्ली के उपराज्यपाल ने दुनिया के सबसे बड़े कोविड केंद्र का उद्घाटन किया

नई दिल्ली : दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने रविवार को राधा स्वामी सत्संग ब्यास में 10,000 बिस्तर वाले सरदार पटेल कोविड देखभाल केंद्र का आगे पढ़ें »

कोविड-19 संकट से निपटना महाराष्ट्र सरकार की प्राथमिकता है: आदित्य ठाकरे

ठाणे : कोविड-19 संकट से निपटने को लेकर विपक्ष द्वारा महाराष्ट्र सरकार की आलोचना को नजरअंदाज करते हुए राज्य के मंत्री आदित्य ठाकरे ने कहा आगे पढ़ें »

ऊपर