महालया पर या देवी सर्वभूतेषु से गूंज उठा बंगाल


 

कोलकाता : पश्चिम बंगाल में गुरुवार को महालया के अवसर पर लाखों लोगों ने तर्पण किया। हालांकि इस वर्ष  अधिमास के कारण दुर्गा पूजा महोत्सव एक महीने बाद शुरू होगा। कोविड-19 महामारी के बीच राज्य भर में लाखों लोगों ने हुगली और अन्य नदियों तथा जलाशयों के किनारे अपने पुरखों का तर्पण किया। आकाशवाणी पर सुबह देवी दुर्गा को समर्पित महिषासुर मर्दिनी स्त्रोत का प्रसारण किया गया। आकाशवाणी पर महिषासुर मर्दिनी स्त्रोत के पाठ का सीधा प्रसारण पहली बार 1930 के दशक में किया गया था जिसके बाद प्रति वर्ष महालया के अवसर पर इसका प्रसारण किया जाता है। हुगली के विभिन्न घाटों पर कोई अप्रिय घटना न हो इसलिए जल यातायात पुलिस ने कड़ी निगरानी रखी थी।

अधिमास होने के कारण दुर्गा पूजा का पर्व 22 अक्टूबर से होगा शुरू

अधिकारियों ने कहा कि कोलकाता के 18 घाटों पर तर्पण किए जाने के दौरान उचित सुरक्षा व्यवस्था का प्रबंध किया गया। महालया पर मूर्तिकार, देवी दुर्गा की प्रतिमाओं की आंखें बनाते हैं और इस परंपरा को ‘चक्षु दान’ कहा जाता है। इस साल दुर्गा पूजा एक महीने बाद शुरू होने के कारण यह परंपरा नहीं हुई। ‘मलमास’ या ‘अधिमास’ होने के कारण दुर्गा पूजा का पर्व 22 अक्टूबर से शुरू होगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राजस्थान ने पंजाब को 7 विकेट से हराया, राजस्थान अब भी प्ले ऑफ की रेस में

अबुधाबी : बेन स्टोक्स की अगुआई में शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों के उम्दा प्रदर्शन की बदौलत राजस्थान रॉयल्स ने इंडियन प्रीमियर लीग में शुक्रवार को आगे पढ़ें »

1000 छक्के उड़ाने वाले दुनिया के पहले क्रिकेटर बने गेल

अबु धाबी : राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ शतक से चूक गए अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी के कारण दुनियाभर की टी20 लीग में अपना विशिष्ट स्थान रखने आगे पढ़ें »

ऊपर