महापर्व : सूर्य को अर्घ्य देने हजारों श्रद्धालु पहुंचे बाबूघाट व छोटेलाल घाट

घाटों पर दिखा मिनी बिहार जैसा नजारा

कोलकाता : दुर्गापूजा और कालीपूजा के बाद बड़े पैमाने पर मनाएं जाने वाला पर्व हैं महाछठ। इस खास मौके पर कोलकाता के छोटे-बड़े लगभग सभी घाटों में भारी संख्या में छठव्रतियों ने अस्तचलगामी सूर्य को अर्घ्य देकर उत्साह के साथ छठ पूजा का समापन किया। यहां हम बात करेंगे महानगर के 2 महत्वपूर्ण घाट छोटेलाल घाट और बाबूघाट की जहां छठ की रौनक देखते बनती है।

बाबूघाट – दिखा मेले जैसा नजारा

छठ पूजा की बात हो तो बाबूघाट का नाम अपने आप ही जहन में आने लगता है। माना जाता है कि इस घाट पर सबसे अधिक लोग छठ पूजा करने आते है। एक तरह से यहां का माहौल एक मेले की तरह दिखाई दिया जहां लोग पूजा करने के बाद घूमते-फिरते नजर आएं। दरअसल इस घाट पर सिर्फ कोलकाता ही नहीं बल्कि आसपास के इलाकों से भी छठव्रती आते है। इनमें से कई लोग बाबूघाट पर ही रैन-बसेरा बनाएं बैठे थे।

छोटेलाल घाट – हजारों की संख्या में छठव्रतियों ने की सूर्य की उपासना

छोटेलाल घाट बड़ाबाजार अंचल के महत्वपूर्ण गंगा घाटों में से एक है। यहां हर साल हजारों की संख्या में लोग आते है और छठ पूजा करते है। इस बार भी पूजा के दौरान इस घाट की तस्वीर पिछले साल की ही तरह थी। छठव्रतियों की बढ़ती भीड़ को संभालने के लिए यहां बराबर माइकिंग की व्यवस्था की गयी थी। साथ ही लोगों को आपसी समन्वय बनाने के लिए कहा जा रहा था। इन नियमों को मानते हुए लोगों ने भी एक-दूसरे का साथ देते हुए अपनी-अपनी पूजा सम्पन्न की।घाटों की बात करें तो यहां आने वालों को एक पल के लिए ऐसा लग रहा था​ मानें वे बिहार के घाटों पर मौजूद हो। जहां छठ मईयां के गीतों की गूंज के साथ ही पूरा माहौल ही बिहार में तब्दील किया गया था। स्वयं सेवी संस्थाओं की तरफ से भी छठव्रतियों के लिए पूजा-अर्चना की सामग्री वितरित की गयी। आजाद नवयुवक क्लब की तरफ से के के सिंह के नेतृत्व में पूजन सामग्री दी गयी। इस मौके पर गोविंद दूबे समेत अन्य मौजूद थे। भारतीय स्पोर्टिंग क्लब के तत्वावधान में कांग्रेस पार्षद संतोष पाठक के नेतृत्व में छठव्रतियों के लिए विशेष व्यवस्था की गयी थी।

छठव्रतियों की सुरक्षा और व्यवस्था का किया गया पूरा इंतजाम

पूजा के दौरान छठव्रतियों की सुरक्षा और व्यवस्था का पूरा इंतजाम किया गया था। प्रशासन की तरफ से लोगों के आनेजाने वाले रास्तों पर भी पुलिस की पैनी नजर बनी हुई थी। घाटों की स्थिति पर नजर रखने के लिए खुद डीसी सेंट्रल शुभांकर सिन्हा रॉय तैनात थे। उन्होंने सन्मार्ग को बताया कि पुलिस की टीम घाटों पर बराबर नजर बनाएं रखे है। कहीं किसी तरह की समस्या होने पर पुलिस तुरंत उस पर कार्रवाई कर रही है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कल्याणकारी योजना का लाभ दिए जाने में हुई गड़बड़ी शीघ्र होगी दूर : सीता सोरेन

दुमका : झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) की वरिष्ठ नेता और दुमका जिले में जामा की विधायक सीता सोरेन ने कहा कि पूर्व में अयोग्य लोगों आगे पढ़ें »

नक्सलियों को 15 लाख की लेवी देने जा रहा ठेकेदार गिरफ्तार

औरंगाबाद : बिहार में नक्सल प्रभावित औरंगाबाद जिले के अम्बावार तरी के निकट एक संदिग्ध वाहन से 15 लाख रुपये जब्त कर संवेदक समेत दो आगे पढ़ें »

ऊपर