मल्टीप्लेक्स खोलने की छूट तो मिली, लेकिन ये नहीं खुलेंगे

 


कोलकाता :
मल्टीप्लेक्स खोलने के लिए 1 अक्टूबर से छूट तो राज्य सरकार की ओर से दी गयी है लेकिन अधिकतर मल्टीप्लेक्स व सिनेमा हॉल फिलहाल इन्हें खोलने के मूड में नहीं हैं। इसके पीछे कई कारण हैं लेकिन सबसे बड़ा कारण आ​र्थिक नुकसान व तकनीकी समस्याएं हैं। पहला तो 50 सीटों की बुकिंग के साथ एक सिनेमा हॉल या फिर मल्टीप्लेक्स को खोला नहीं जा सकता। राज्य सरकार की ओर से अभी तक यह स्पष्ट नहीं किया गया है कि क्या-क्या नियम मानने होंगे, कैसे इसे खोला जाएगा। इस बारे में साउथ सिटी ग्रुप के वाइस प्रेसिडेंट मन मोहन बागड़ी ने बताया कि राज्य सरकार के प्रतिनिधि से क्लैरिफिकेशन मिलने पर ही आगे कुछ सोचा जाएगा। आइनॉक्स के अधिकारी आज राज्य के अधिकारी से मिलेंगे और इस बारे में अधिक जानकारी लेंगे।
मूवी पूरे देश के लिए रिलीज होती है सिर्फ बंगाल के लिए नहीं
अगर मूवी रिलीज होगी तभी मल्टीप्लेक्स खोले जाएंगे। कोई भी हिन्दी या इंग्लिश मूवी का कन्टेंट सिर्फ एक शहर के लिए नहीं होता अगर रिलीज होगा तो पूरे देश में एक साथ। अगर मूवी रिलीज नहीं हो पाएगी तो कोई मल्टीप्लेक्स खोलकर क्या चलाएगा। मल्टीप्लेक्स में दिल्ली व मुम्बई को देखकर ही मूवी रिलीज होती है। इसका बड़ा कारण यह है कि यहां की तुलना में दोनों शहरों के मल्टीप्लेक्स की सीटों की कीमत काफी अधिक है। ऐसे में यहां मल्टीप्लेक्स या सिनेमा हॉल खोलकर व्यवसायियों को नुकसान उठाना पड़ेगा। कोई भी फिल्म निर्माता सिर्फ बंगाल के लिए मूवी रिलीज नहीं करेगा। एक मूवी बनाने में 200 से 300 करोड़ रुपये खर्च आ जाता है। उस मूवी को सिर्फ बंगाल में रिलीज कर के इतने रुपये नहीं कमाये जा सकते। काफी टेक्निकल चीजे भी इसमें हैं जिन पर राज्य सरकार से और ज्यादा क्लियारिटी की उम्मीद है।
कम से कम 50 फीसदी सीटें बुक करने की मिले अनुमति
उन्होंने कहा कि अभी के समय में किसी भी सिनेमा हॉल में 300 से 400 सीटें होती हैं। ऐसे में मात्र 50 सीटें बुक कर भारी नुकसान कोई उठाना नहीं चाहता। वहीं बंगाली फिल्मों को भी रिलीज करने में अब से भी कम से कम 10 से 15 दिन का टाइम लग जाएगा। मूवी खोलने के लिए प्रोड्यूसर रिलीज करेगा फिर ड्रिस्ट्रिब्यूटर इसे लेंगे। इन सबमें टाइम लगेगा। इस कारण 1 अक्टूबर से किसी भी हाल में मल्टीप्लेक्स नहीं खुल पाएंगे।
जब तक स्पष्टता नहीं आती, मल्टीप्लेक्स खोलना संभव नहीं
वहीं फोरम मॉल के एमडी राहुल सराफ ने बताया कि मात्र एक दिन बचा है। इसमें सिनेमा हॉल या मल्टीप्लेक्स खोलना संभव नहीं है। इसके बाद और कई टेक्निकल समस्याएं हैं जिनके सामाधान के बिना कुछ भी संभव नहीं है। जैसे कि 50 सीटें पूरे मल्टीप्लेक्स में या फिर एक स्क्रीन के लिए। जब तक नोटिफिकेशन नहीं आ जाती, कुछ भी करना किसी के लिए संभव नहीं होगा। अगर इससे संबंधित सर्कुलर जारी कर दिया गया होता तो हमें दिक्कत नहीं होती। उम्मीद है कि आज इस बारे में राज्य सरकार की ओर से सर्कुलर जारी किया जा सकता है।
सिनेमा हॉल खोलने में लगेगा और समय
पैराडाइस की ओर से सुनीत सिंह ने बताया कि जब तक केन्द्र सरकार की ओर से कुछ नोटिफिकेशन नहीं आता है, सिनेमा हॉल को खोल पाना संभव नहीं। मूवी भी तो रिलीज होनी चाहिए, तभी तो सिनेमा हॉल खोले जाएंगे। ग्लोब सिनेमा की ओर से नितिन जैन ने कहा कि कोविड प्रकोप थोड़ा और कम हो, इसके बाद ही कुछ सोचा जा सकता है। 1 अक्टूबर से सिनेमा हॉल को खोल पाना संभव नहीं है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

हैदराबाद ने राजस्थान को 8 विकेट से हराया, मनीष-शंकर की आकर्षक बल्‍लेबाजी, टॉप-5 में पहुंची हैदराबाद

दुबई : मनीष पांडे की आकर्षक पारी और विजय शंकर के साथ उनकी अटूट शतकीय साझेदारी से सनराइजर्स हैदराबाद ने गुरुवार को यहां राजस्थान रॉयल्स आगे पढ़ें »

भारतीय महिला दल टी20 चैलेंज के लिये संयुक्त अरब अमीरात पहुंचा

दुबई : भारत की 30 शीर्ष महिला क्रिकेटर टी20 चैलेंज में भाग लेने के लिये गुरूवार को यहां पहुंची जो ‘मिनी महिला आईपीएल’ के नाम आगे पढ़ें »

ऊपर