ममता मिलीं आडवाणी व अखिलेश से

नयी दिल्ली / कोलकाता : बंगाल की सीएम ममता बनर्जी का सोमवार को दिल्ली में बेहद ही व्यस्त कार्यक्रम रहा। राज्य की विकास योजनाओं से संबंधित फंड को लेकर वह पीएम नरेंद्र मोदी से मिलीं। सुबह प्रधानमंत्री से साउथ ब्लाक में मिलने के बाद ममता ने संसद भवन में भी कई अन्य राजनीतिज्ञों से मुलाकात की। इनमें भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी और ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक भी थे। आडवाणी से उन्होंने संसद भवन में स्थित राजग के दफ्तर में मुलाकात की थी,जबकि पटनायक से संसद के केन्द्रीय कक्ष में करीब पांच मिनट तक बात की। उन्होंने कहा वे जब भी दिल्ली आती हैं तो ‘आडवाणी जी’ से उनका ‘हालचाल’ जानने के लिए मिलती हैं।  ममता ने बताया कि ये मुलाकात अनौपचारिक थी। ममता बनर्जी ने कहा भी कि वे नवीन पटनायक के स्वास्थ्य की जानकारी लेने के लिए उनसे मिली हैं। पटनायक पिछले कुछ महीनों से अस्वस्थ चल रहे हैं। इसके अलावा संसद भवन स्थित दफ्तर में ममता बनर्जी से मिलने शिवसेना के संजय राउत और इसके बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलामनबी आजाद और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार अहमद पटेल आए थे। ममता बनर्जी और कांग्रेस के नेताओं में करीब 45 मिनट तक अलग से बैठक हुई। इस बैठक के बारे में पूछने पर ममता बनर्जी ने केवल इतना बताया कि ईवीएम मशीन के मुद्दे पर वे चुनाव आयोग से मिलने जा रहे हैं। शाम 6 बजे ममता बनर्जी ने समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से साउथ एवेन्यू स्थित अपने निवास पर मुलाकात की। अखिलेश अकेले ही उनसे मिलने आए थे। उनकी और ममता बनर्जी के बीच यह बैठक 45 मिनट तक चली। इसके बाद अखिलेश यादव मीडिया से बिना बात किए सीधे चले गए।  यह मुलाकात इस लिहाज से महत्वपूर्ण है कि उत्तर प्रदेश चुनावों मेंं भारतीय जनता पार्टी के प्रदर्शन के बाद विभिन्न गैर भाजपायी दल उसके प्रदर्शन को रोकने के लिये महा-गठबंधन का आह्वान करते रहे हैं। तृणमूल कांग्रेस भाजपा की मुखर आलोचक रही है। कई मौकों पर यह संकेत दे चुकी हैं कि गैर भाजपायी दलों को हाथ मिलाना चाहिये।  इधर, राजनीतिक गलियारे में एक साथ आडवाणी, नवीन पटनायक, अखिलेश यादव और अहमद पटेल गुलाम नवी से हुई मुलाकात को ‘खास’ माना जा रहा है। इस मुलाकात के बाद हुई बातचीत में उन्होंने विपक्षी गठजोड़ की संभावना से इंकार नहीं किया। राष्ट्रपति और उप राष्ट्रपति के चुनाव को लेकर पूछे किसी सवाल का जवाब नहीं दिया। नारदा कांड के बारे में पूछे सवाल को भी उन्होंने इसे ‘कोर्ट का मामला’ बता कर टाल दिया। पर उन्होंने इस मामले में गिरफ्तार पार्टी संसदीय दल के नेता सुदीप बंद्योपाध्याय की तबीयत को लेकर चिंता जताई। उन्होंने कहा कि तीन-चार महीने से सुदीप बंद्योपाध्याय ओडिशा के जेल में हैं। अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है। पर यह बंगाल में भी हो सकता था। उन्होंने नारदा मामले में यह भी कहा कि इस मामले में कोई जान नहीं है।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

कांग्रेस ने बंगाल के 25 उम्मीदवाराें की दूसरी सूची जारी की

कोलकाता : साेमवार को कांग्रेस ने बंगाल के 25 उम्मीदवारों की दूसरी सूची जारी कर दी। इससे पहले कांग्रेस ने 11 उम्मीदवारों की सूची जारी की थी। इसके साथ ही कांग्रेस ने बंगाल के लिए अब तक कुल [Read more...]

दार्जिलिंग के भाजपा प्रत्याशी को कर्सियांग में दिखाये गये काले झंडे

दार्जिलिंगः दार्जिलिंग लोकसभा केन्द्र के भाजपा प्रत्याशी राजू बिष्ट के बागडोगरा पहुंचने के बाद जहां भाजपा कार्यकर्ताओं ने उनका भव्य स्वागत किया तो वहीं दार्जि‌‌लिंग जाते वक्त जीजेएम (बिनय गुट) के समर्थकों ने उन्हें काले झंडे दिखाये [Read more...]

मुख्य समाचार

आईएसआई का एजेंट गिरफ्तार

बीते 18 साल में 17 बार जा चुका है पाकिस्तान।। उसने रणनीतिक महत्व की जानकारी पाने के लिए सेना के जवानों को भी हनीट्रेप में फंसाया।। जयपुर : दिल्ली के एक व्यक्ति मोहम्मद परवेज (42) को पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई [Read more...]

कांग्रेस ने बंगाल के 25 उम्मीदवाराें की दूसरी सूची जारी की

कोलकाता : साेमवार को कांग्रेस ने बंगाल के 25 उम्मीदवारों की दूसरी सूची जारी कर दी। इससे पहले कांग्रेस ने 11 उम्मीदवारों की सूची जारी की थी। इसके साथ ही कांग्रेस ने बंगाल के लिए अब तक कुल [Read more...]

ऊपर