ममता ने सन्मार्ग की खबर पर लगाई मुहर, कहा 72 नहीं 80 लोग मरे हैं

तबाही से 80 की मौत
सन्मार्ग संवाददाता,कोलकाता : पिछले 100 वर्षों में पश्चिम बंगाल में आया सबसे ताकतवर तूफान महाचक्रवात अम्फान ने 80 लोगों की जिंदगी लील ली। सबसे अधिक मौत कोलकाता में 20 लोगों की हुई। वहीं हावड़ा में 11 व बैरकपुर में 4 लोगों की मौत हुई।गुरुवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने  72 लोगों के मरने की पुष्टि  की थी लेकिन शुक्रवार को  सीएम ने सन्मार्ग की खबर पर मुहर लगाते हुए  महाचक्रवात के कारण  80 लोगों के  मौत हो जाने की पु​ष्टि कर दी है।

2 से 2.5 लाख रुपये तक क्षतिपूर्ति की घोषणा

गुरुवार को नवान्न में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील की कि वे क्षतिग्रस्त इलाकों का दौरा कर स्थिति को सुधारने में आर्थिक मदद करें। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने महाचक्रवात में ””मृतकों के लिए 2 से 2.5 लाख रुपये तक क्षतिपूर्ति की घोषणा की। अधिकारियों के साथ रिव्यू मीटिंग के बाद मुख्यमंत्री ने कहा, ‘अब तक मिली रिपोर्ट के अनुसार, राज्य में महाचक्रवात के कारण 72 लोगों की मौत हो चुकी है। उत्तर व दक्षिण 24 परगना पूरी तरह नष्ट हो चुके हैं। उन जिलों को बर्बादी के मंजर से निकालना अत्यंत आवश्यक है। मैं केंद्र सरकार से राज्य की मदद करने की अपील करती हूं।’ सीएम ने कहा, ‘जल्द ही मैं क्षतिग्रस्त इलाकों का दौरा करूंगी और पुनरुद्धार कार्य जल्द चालू किया जाएगा। उत्तर व दक्षिण 24 परगना समेत कोलकाता के कई हिस्सों में गत बुधवार की शाम से बिजली भी नहीं है। यहां तक कि टेलिफोन और मोबाइल कनेक्शन भी नहीं है।’ मुख्यमंत्री ने कहा, ‘मैंने अपने जीवन में कभी इस तरह का भयावह चक्रवात और बर्बादी नहीं देखी थी। मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील करती हूं कि वह यहां आकर चक्रवात प्रभावित इलाकों का दौरा करें।’ मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने फोन कर उनसे हालातों की जानकारी ली। सीएम ने कहा, ‘एक तरफ कोविड – 19 से जंग और दूसरी तरफ अब चक्रवात, पिछले 2 महीने से ना रोजगार है ना कुछ। जीवन में पहली बार इस तरह की ट्रैजेडी देखी। जल्द से जल्द बांध मरम्मत का कार्य होगा। अधिकारी लगातार स्थितियों पर नजर बनाये हुए हैं।’ इस बीच, केंद्रीय कैबिनेट सचिव की ओर से बताया गया कि पश्चिम बंगाल में अम्फान के कारण हुई तबाही का जायजा लेने के लिए जल्द ही केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से एक टीम भेजी जाएगी।
पीएम ने कहा, की जाएगी हर संभव सहायता
इधर, गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्य सरकार को हर संभव सहायता पहुंचाने का आश्वासन देते हुए ट्वीट किया, ‘पश्चिम बंगाल में चक्रवात से हुए नुकसान का दृश्य देखा। इस तरह की कठिन परीक्षा की घड़ी में पूरा राष्ट्र पश्चिम बंगाल के साथ खड़ा है। राज्य के लोगों के मंगल की कामना करता हूं। चीजें स्वाभाविक करने की दिशा में कार्य जारी है।’ पीएम ने ट्वीट किया, ‘चक्रवात प्रभावित इलाकों में एनडीआरएफ की टीमें काम कर रही हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

30 जून तक करदाताओं को जारी हुआ 62,361 करोड़ रुपये का रिफंड

नयी दिल्ली : आयकर विभाग ने आठ अप्रैल से 30 जून के दौरान 20 लाख से अधिक करदाताओं को 62,361 करोड़ रुपये का कर रिफंड आगे पढ़ें »

जियो में 1,895 करोड़ रुपये का निवेश करेगी इंटेल कैपिटल

नयी दिल्ली : अमेरिकी कंपनी इंटेल कैपिटल ने शुक्रवार को भारत के रिलायंस इंडस्ट्रीज समूह की दूरसंचार एवं डिजिटल प्लेटफॉर्म सेवा कंपनी जियो प्लेटफॉर्म्स में आगे पढ़ें »

ऊपर