ममता दी इसे प्रेस्टिज इशु मत बनाइये – हर्ष वर्द्धन

कोलकाता : राज्य भर में डॉक्टरों के विरोध – प्रदर्शन और हड़ताल के बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्ष वर्द्धन ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से डॉक्टरों के गंभीर मुद्दे को अपना ‘प्रेस्टिज इशु’ न बनाने की अपील की। इसके साथ ही उन्होंने डॉक्टरों की हड़ताल काे तुरंत समाप्त करने की भी अपील की। हर्ष वर्द्धन ने आंदोलनकारी डॉक्टरों और विशेषकर पश्चिम बंगाल के डॉक्टरों से अपील की कि वे सांकेतिक विरोध करें और मरीजों के हित का ध्यान रखते हुए काम पर वापस लौट जाएं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, ‘डॉक्टरों को सामान्य और सांकेतिक प्रदर्शन करना चाहिए। मेडिकल प्रोफेशनल के तौर पर उनका कर्तव्य मरीजों के अधिकारों की रक्षा करना है। हड़ताल विरोध का सबसे अच्छा तरीका नहीं है। मरीजों को आपातकालीन स्वास्थ्य सुविधाओं से बाहर नहीं रखना चाहिए।’ वर्द्धन ने कहा, ‘बुरी तरह मार खाने के बावजूद डॉक्टरों ने उनसे (ममता बनर्जी) से केवल उचित सुरक्षा और हिंसा के दोषियों को सजा दिलाने की मांग की। हालांकि ऐसा करने के बजाय उन्होंने डॉक्टरों को चेतावनी और अल्टीमेटम दे दिया जिससे देश भर के डॉक्टर गुस्से में आकर विरोध व हड़ताल करने लगे।’ उन्होंने कहा, ‘अगर मुख्यमंत्री इस मुद्दे पर संवेदनशील होकर कार्य करतीं तो देश भर के मरीजों को इतनी मुश्किलों का सामना नहीं करना पड़ता। मैं प​​श्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री से अपील करूंगा कि इसे प्रेस्टिज इशु न बनायें।’ उन्होंने डॉक्टरों को आश्वासन दिया कि सरकार उनकी सुरक्षा के प्रति जिम्मेदार है। इधर, रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन ऑफ एम्स, सफदरजंग अस्पताल, डॉ. राम मनोहर लोहिया अस्पताल, यूनाइटेड रेजिडेंट एण्ड डॉक्टर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (यूआरडीए) और फेडरेशन ऑफ रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन (एफओआरडीए) के प्रति​निधियों ने हर्ष वर्द्धन से मुलाकात कर उन्हें डॉक्टरों पर हिंसा की घटना को लेकर ज्ञापन सौंपा। इस पर गहरी चिंता जाहिर करते हुए वर्द्धन ने कहा, ‘डॉक्टरों के साथ दुर्व्यवहार और उन पर हमले की मैं कड़ी निंदा करता हूं। इस पर मैं बंगाल की सीएम से बात करूंगा।’ उन्होंने आगे कहा कि गृह मंत्रालय से भी वह डॉक्टरों की सुरक्षा के मुद्दे पर बात करेंगे। उन्होंने कहा, ‘सभी राज्यों को कदम उठाने चाहिए ताकि डॉक्टर शांतिपूर्ण माहौल में काम कर सकें।’ हर्ष वर्द्धन को दिये गये ज्ञापन में डॉक्टरों ने मांग की कि सभी सरकारी अस्पतालों में सशस्त्र और अनआर्म्ड प्रशिक्षित सिक्योरिटी गार्डों को रखा जाए। इसके अलावा सभी अस्पतालों में सीसीटीवी भी रखने की मांग की गयी है। वर्द्धन ने उन्हें आश्वासन दिया है कि उनकी मांगों पर गौर किया जाएगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सोशल मीडिया पर समझदारी से बात करें अफरीदी और गंभीर : वकार

नयी दिल्ली : पाकिस्तान के गेंदबाजी कोच वकार युनूस ने क्रिकेट टीम के अपने पूर्व साथी शाहिद अफरीदी और भारतीय के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम आगे पढ़ें »

होंडा ने पेश किया होंडा सीडी 110 ड्रीम बीएस VI, जानिए कीमत और खासियत

नई दिल्ली : टू-व्हीलर निर्माता कंपनी होंडा मोटरसाइकिल ने आज नई होंडा सीडी 110 ड्रीम बीएस VI लॉन्च किया है, इस नेक्स्ट जेनरेशन बाइक में आगे पढ़ें »

ऊपर