मनमानी या दबाव का तरीका : बिना बताए ही हटा रहे निजी बसें, यात्री हलकान

कोलकाताः निजी बसों के किराये को लेकर अब भी केवल चर्चाओं का दौर ही है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की अपील पर निजी बस मालिकों ने बसों की परिसेवा शुरू कर दी थी। इसके बाद भी स्थितियां अनुकूल नहीं हो सकी हैं। देखा जा रहा है कि महानगर के साथ ही जिलों में भी कई बस रूटों में निजी बसों की कमी नजर आ रही है। ऐसे में यात्रियों को व्यापक परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इस बारे में निजी बस संगठनों ने किसी प्रकार से जानकारी भी सरकार को नहीं दी है।
रोजाना घाटे से अचानक बसों की संख्या हुई कम
शुक्रवार को ही राज्य के परिवहन विभाग के एक्सपर्ट कमेटी के साथ बस संगठनों ने बैठक की है। इस दौरान निजी बसों के किराये में वृद्धि को लेकर सकारात्मक पहल नजर आई है। हालांकि इसके बाद भी बस किराये में अब तक वृद्धि नहीं हुई है। ऐसे में कई बस संगठनों ने रोजाना हो रहे घाटे को देखते हुए अचानक बसों को कम करना शुरू कर दिया है। इससे यात्रियों को व्यापक परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
टैक्सी संगठन ने भी किया किराये में वृद्धि की मांग
दूसरी तरफ टैक्सी संगठनों ने भी अब राज्य के परिवहन विभाग को वर्तमान परिस्थिति में टैक्सी किराये में वृद्धि की मांग की है। कलकत्ता टैक्सी एसोसिएशन के सचिव तारक नाथ बारी ने कहा कि डीजल की कीमतें लगातार बढ़ रही हैं। ऐसे में ड्राइवरों को टैक्सियों का खर्च निकालना मुश्किल साबित हो रहा है। एटक समर्थित वेस्ट बंगाल टैक्सी ऑपरेटर्स कोआर्डिनेशन कमेटी के संयोजक नवल किशोर श्रीवास्तव ने कहा कि हमने भी परिवहन विभाग को पत्र लिखकर टैक्सी से जुड़े टैक्स में छूट की मांग, ड्राइवरों को बीमा के दायरे में लाने की अपील की है। साथ ही ठोस पहल नहीं होने पर टैक्सी ड्राइवरों की आर्थिक अवस्था फिर से डगमगा जाएगी। इसके अलावा यदि यही स्थिति रही तो फिर से सरकारी बसों पर यात्रियों का और बोझ बढ़ेगा।
ऑटो ड्राइवर भी ले रहे मनमाना किराया
मेट्रो व लोकल ट्रेनें नहीं चलने से यात्रियों को काफी दिक्कतें हो रही हैं। अधिकतर यात्री इनके माध्यम से ही शहरों में आवागमन करते थे। ऐसे में वर्तमान में बसों पर निर्भरता बढ़ गई है। इतना ही नहीं ऑटो ड्राइवर भी यात्रियों से मनमाना किराया ले रहे हैं। पहले जिन रूटों में 10 से 12 रुपये किराये थे, वहां अब 15 से 20 रुपये तक किराये लिए जा रहे हैं। इस पर आपत्ति जताने पर यात्रियों को ऑटो से नहीं ले जाने की भी बात कही जा रही है। मजबूरन यात्री अधिक किराया देकर सवारी कर रहे हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

पांचवें चरण में चुनाव आयोग के सामने एक न चली समाज विरोधियों की

इस पर नजर- गिरफ्तार- 23 प्रिवेंटिव अरेस्ट-100 कुल गिरफ्तार-123 कुल शिकायतें-2041 कोलकाता : पांचवें चरण में चुनाव आयोग के सामने एक न चली समाज विरोधियों की। ऐसे में चुनाव आयोग आगे पढ़ें »

साप्ताहिक राशिफल (19 से 25 अप्रैल) : जानिए इस सप्ताह किन राशियों के सितारे रहेंगे बुलंद

भविष्यदर्शन डॉ. मंगल त्रिपाठी दिनांक 18 से 24 अप्रैल 2021 तक ग्रह संचरण : सूर्य, बुध, शुक्र और हर्शल मेष में, राहुल वृष में, मंगल मिथुन में, केतु आगे पढ़ें »

ऊपर