भूमि व पीएचई विभाग पर जमकर बरसीं ममता

momota

कहा : ठेकेदारों को काम देकर हिस्सेदारी लेना अब बंद करें
विभागों में कुछ ठेकेदारों का हो चुका है कब्जा
सन्मार्ग संवाददाता
बांकुड़ा : बांकुड़ा के सारंगा इलाके में अचानक टूट कर गिरे वाटर टैंक की घटना पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भूमि व पीएचई विभाग पर जमकर बरसी हैं। ममता बनर्जी बुधवार को बांकुड़ा में प्रशासनिक बैठक को संबोधित कर रही थीं। उसी वक्त उन्होंने दोनों विभागों के अधिकारियों को फटकार लगायी तथा कहा कि दोनों ही विभाग किसी काम के नहीं हैं। यहां कुछ ठेकेदारों का कब्जा हो गया है। यही कारण है कि महज तीन साल में वाटर टैंक बुरी तरह भरभरा कर टूट गया। ममता ने इस वाटर टैंक को बनाने वाले ठेकेदार के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर कठोर कार्रवाई करने का निर्देश दिया। इसके जवाब में राज्य के मुख्य सचिव राजीव सिन्हा ने बताया कि ठेकेदार के खिलाफ एफआईआर दर्ज करा दी गयी है।
ममता ने निर्देश दिया है कि इस वाटर टैंक को दोबारा वही ठेकेदार बनाएगा जिसने पहले इसका निर्माण किया था। मुख्यमंत्री ने कहा कि ठेकेदारों को काम देकर उसमें हिस्सेदारी लेना अब बंद करना होगा। ठेकेदारों की मनमानी पर लगाम लगाने का वक्त आ गया है। पीएचई विभाग को लेकर ममता ने कहा कि इस विभाग के अधिकारी क्या नींद में हैं। इनकी उदासीनता के कारण ही सरकार के कई काम अटके पड़े हैं। ममता ने कहा कि भूमि विभाग का भी यही हाल है। उन्होंने मुख्य सचिव को निर्देश दिया है कि पीएचई व भूमि विभाग के अधिकारियों को नींद से जगाने का वक्त आ गया है। जरूरत पड़े तो एंटी करप्शन टीम को इसके लिए काम में लाया जाए।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कोविड-19 : रेलवे ने पहली तिमाही में यात्री टिकट बुकिंग से हुई आय से अधिक रिफंड किए

नयी दिल्ली : भारतीय रेल के 167 साल के इतिहास में यह शायद पहली बार हुआ होगा जब उसने टिकट बुकिंग से हुई आय से आगे पढ़ें »

आईपीएल में मौका नहीं मिलने से निराश क्रिकेटर ने दे दी जान

नई दिल्ली : मुंंबई के डेल स्टेन कहे जाने वाले युवा क्रिकेटर करन तिवारी ने आत्महत्या कर ली। क्लब क्रिकेटर करन तिवारी सोमवार रात अपने आगे पढ़ें »

ऊपर