भाटपाड़ा को स्वाभाविक करने के लिए सीएम ने दिया 72 घंटे का अल्टीमेटम

पुलिस अधिकारियों को कड़ी कार्रवाई के निर्देश
कोलकाता : भाटपाड़ा के हालात को लेकर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी काफी चिंतित हैं। नवान्न सूत्रों के अनुसार मुख्यमंत्री ने भाटपाड़ा व आसपास के इलाकों को स्वाभाविक और शांत करने के लिए अधिकारियों को 72 घंटे का समय दिया है। सीएम ने त्वरित और कड़ी कार्रवाई करने के साथ-साथ कुख्यात अपराधियों को गिरफ्तार करने का आदेश पुलिस को दिया है। गुरुवार की शाम ही बैरकपुर के पु‌लिस आयुक्त डॉ. तन्मय राय चौधरी को हटा दिया गया। उनकी जगह पर मनोज वर्मा को लाया गया है। इससे पहले आईपीएस मनोज वर्मा आईजी दार्जिलिंग के पद पर कार्यरत थे। 19 मई को भाटपाड़ा में विधानसभा उपचुनाव के बाद ही हिंसक घटनाएं घट रही हैं। मतदान के दिन भी तृणमूल व भाजपा समर्थकों में झड़प हुई थी। पुलिस के ऊपर भी हमला किया गया था। इसके बाद से ही आए दिन भाटपाड़ा, जगदल और कांकीनाड़ा इलाके में बमबाजी व फायरिंग की घटनाएं लगातार घट रही हैं। इस दौरान इलाके के राजनीतिक समीकरण में भी काफी बदलवा आया है। बैरकपुर लोकसभा और भाटपाड़ा विधानसभा उपचुनाव में तृणमूल उम्मीदवारों को हराकर अर्जुन सिंह और उनके बेटे ने जीत दर्ज की। कई नगरपालिकाओं के पार्षदों के भाजपा में शामिल होने के कारण भाटपाड़ा, नैहाटी, कांचरापाड़ा, हालीशहर और गारुलिया नगरपालिकाएं भाजपा के अधीन हो गयीं। ऐसे में इलाखा दखल को लेकर हिंसक घटनाएं घट रही हैं। स्थानीय लोगों का आरोप है कि इलाका दखल को लेकर दिन प्रतिदिन इलाके में कानून व्यवस्था खराब होती जा रही है। सरेआम असामाजिक तत्व इलाके में बमबाजी व फायरिंग करते नजर आ रहे हैं। पिछले एक महीने में शिल्पांचल में बमबाजी व फायरिंग की घटना में आधे दर्जन से अधिक लोगों की मौत हुई है। इसके चलते शिल्पांचल में आतंक का माहौल व्याप्त है। इस परिस्थिति में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने जगदल थाना को तोड़कर भाटपाड़ा थाना बनाने का निर्देश दिया। भाटपाड़ा में घटी अधिकतर हिंसक घटनाओं की जांच का कार्य सीआईडी को दे दिया गया, हालांकि इससे स्थिति सुधरने की जगह और भी खराब होती चली गयी। रैफ व कॉम्बेट फोर्स की नजरदारी में रूट मार्च होने के बावजूद बमबाजी व फायरिंग की घटनाएं घटती रहीं। बुधवार की रात से एक बार फिर से बमबाजी हुई जिसके बाद गुरुवार की सुबह सरेआम बमबाजी व फायरिंग की घटना घटी । गुरुवार की सुबह भाटपाड़ा थाने के उद्घाटन से ठीक पहले दो गुटों के बीच जमकर बमबाजी व फायरिंग हुई। फायरिंग में दो लोगों की मौत हो गयी, वहीं गोली लगने से 5 लोग घायल हो गए। नवान्न सूत्रों के अनुसार भाटपाड़ा की स्थिति को देखते हुए मुख्यमंत्री ने एक विशेष बैठक की। बैठक के दौरान सीएम ने मुख्य सचिव, गृह सचिव, डीजी, एडीजी लॉ एड ऑर्डर एवं अन्य पुलिस अधिकारियों को जल्द से जल्द भाटपाड़ा को शांत व स्वाभाविक करने का निर्देश दिया। नवान्न सूत्रों के अनुसार मंगलवार को आईबी अधिकारियों ने सीएम को रिपोर्ट सौंपी। रिपोर्ट में बताया गया है कि भारी संख्या में बाहरी लोग भाटपाड़ा पहुंचे हुए हैं। साथ ही भारी मात्रा में अवैध हथियार एकत्रित किया गया है। गृह सचिव अलापन बंद्योपाध्याय ने बताया क‌ि कुछ बाहरी लोगों से भाटपाड़ा के अपराधियों ने हाथ मिलाया है। प्रशासनिक सूत्रों की मानें तो मनोज वर्मा ने पहले भी सफलतापूर्वक बैरकपुर शिल्पांचल में काम किया है, साथ ही माओवाद और दार्जिलिंग में हिंसा रोकने में उनका योगदान उल्लेखनीय है। ऐसे में इस स्थ‌िति में भी मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने उनके ऊपर भरोसा जताया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

Jagdip Dhankhar

धनखड़ के खिलाफ विधान सभा से संसद तक मोर्चाबंदी

कोलकाता : ऐसा पहली बार हुआ है जब विधानसभा में सत्ता पक्ष ने धरना दिया। कारण थे राज्यपाल जगदीप धनखड़, जिन पर विधेयकों को मंजूरी आगे पढ़ें »

मेरे कंधे पर बंदूक रखकर चलाने की को​शिश न करें – धनखड़

कोलकाता : राज्यपाल जगदीप धनखड़ और तृणमूल सरकार के बीच संबंधों में मंगलवार को और खटास आ गयी जब उन्होंने ‘कछुए की गति से काम आगे पढ़ें »

ऊपर