भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष फिर बने दिलीप घोष

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष के दूसरी बार प्रदेश अध्यक्ष बनने के साथ ही उनकी दूसरी पारी की शुरुआत हो गयी है। गुरुवार को नेशनल लाइब्रेरी में राज्य कमेटी की बैठक के बाद दिलीप घोष के नाम की घोषणा की गयी। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव मुरलीधर राव ने उन्हें सर्टिफिकेट देकर पुनः प्रदेश अध्यक्ष बनाया। इस अवसर पर केंद्रीय सह प्रभारी ‍शिवप्रकाश जी, अरविंद मेनन, भाजपा के राष्ट्रीय सचिव राहुल सिन्हा, राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य मुकुल राय, मंत्री देवश्री चौधरी, महासचिव संजय सिंह, महासचिव सायंतन बसु, उपाध्यक्ष विश्वप्रिय रायचौधरी तथा प्रदेश चुनाव प्रभारी व महासचिव प्रताप बनर्जी सहित अन्य उपस्थित थे। दिलीप घोष के नाम की घोषणा के साथ ही उनकी मियाद और 3 वर्ष के लिए बढ़ गयी। इसके बाद दिलीप घोष ने अपनी प्राथमिकताओं के बारे में कहा कि गणतंत्र की स्थापना और शांति लौटाना है। दिलीप घोष ने कहा, ‘अब हम 2021 का विधानसभा चुनाव जीतने के लिए लड़ेंगे।’ उन्होंने कहा, ‘कार्यकर्ताओं के लिए 18 सांसदों ने लड़ाई की। सबको धन्यवाद। इस बार बाकी काम पूरा करूंगा।’ दिलीप घोष ने कहा, ‘अब उन कार्यकर्ताओं की याद आ रही है जिन्होंने अपना जीवन तक दे दिया। अक्सर उनके शवाें के सामने खड़ा होना पड़ता है जो काफी दुःखदायक है।’ उन्होंने कहा, ‘राज्य की जनता परिवर्तन चाहती है। जनता ने अवसर दिया है। यह हमारी परीक्षा की घड़ी है। हमें इस परीक्षा में उत्तीर्ण होना होगा।’
दिसम्बर 2015 में दिलीप घोष को पहली बार प्रदेश भाजपा अध्यक्ष बनाया गया था। 2018 में उनकी पहली मियाद पूरी हो चुकी थी, लेकिन 2019 में लोकसभा चुनाव को देखते हुए एक वर्ष के लिए उनकी मियाद बढ़ायी गयी थी। नेशनल लाइब्रेरी में दिलीप घोष को माला पहनाकर स्वागत किया गया। इधर, दिलीप घोष के फिर प्रदेश अध्यक्ष बनने से कार्यकर्ताओं में भी काफी उत्साह है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कोविड-19 : रीजिजू ने खिलाड़ियों को व्यस्त रखने की पहल की समीक्षा की

नयी दिल्ली : खेल मंत्री किरेन रीजीजू ने कोविड-19 महामारी के कारण 21 दिन के लॉकडाउन (राष्ट्रव्यापी बंद) के मद्देनजर मंत्रालय और भारतीय खेल प्राधिकरण आगे पढ़ें »

प्रतिभा तलाशना मेरा काम था, युवा विराट कोहली में गजब की प्रतिभा थी : वेंगसरकर

नयी दिल्ली : दिलीप वेंगसरकर को प्रतिभाओं को तलाशने के मामले में भारत के सबसे अच्छे चयनकर्ताओं में से एक माना जाता है जिन्होंने पहली आगे पढ़ें »

ऊपर