भाजपा के खिलाफ राज्यभर में तृणमूल करेगी विरोध-प्रदर्शन

कोलकाता : शुक्रवार को राज्यभर में भाजपा द्वारा राज्य सरकार और तृणमूल कांग्रेस के खिलाफ किए गए विरोध प्रदर्शन के प्रतिवाद में आज तृणमूल पूरे राज्य में विरोध-प्रदर्शन करेगी। पार्टी के महासचिव पार्थ चटर्जी ने संवाददाताओं को इस कार्यसूची की सूचना देते हुए बताया कि दिलीप घोष के साथ दार्जिलिंग में जो घटना घटी वह दरअसल भाजपा की एक साजिश है। यह साजिश केंद्र के इशारे पर की गयी ताकि शांत हुए पहाड़ को दोबारा अशांत किया जा सके। भाजपा जिस तरह राज्य में मुख्यमंत्री की छवि खराब करने की चेष्टा कर रही है, तृणमूल उससे खामोश नहीं बैठेगी। इसके प्रतिवाद में तृणमूल आज मोदी का पुतला फूंकेगी। यह विरोध-प्रदर्शन सभी जिलों में आयोजित होगा। तृणमूल ने दलीय प्रतिनिधियों के साथ आम जनता को भी इस विरोध-प्रदर्शन में शामिल होने की अपील की है। कोलकाता में यह विरोध-प्रदर्शन लालबाजार, धर्मतल्ला, हाजरा मोड़, गरिया, गरियाहाट, 8बी बस स्टैंड समेत महानगर के सभी इलाकों में किया जाएगा। पार्थ ने भाजपा पर आरोप मढ़ते हुए कहा कि इसमें दिलीप घोष, पहाड़ पर भाजपा के सांसद एस एस अहलूवालिया समेत अन्य भाजपा नेताओं का हाथ है। भाजपा के इन नेताओं को अगर पहाड़ की इतनी ही चिंता थी तो पिछले 104 दिनों तक वे कहां थे जब पहाड़ दहक रहा था। वहां की कार्यगति थम गयी थी। आज जब सीएम ममता बनर्जी के अथक प्रयास से पहाड़ की स्थिति सामान्य की गयी है तो दोबारा केंद्र के नेतृत्व में उद्देश्यपूर्वक पहाड़ पर यह षडयंत्र रचाया गया है। पार्थ ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि एक ओर तो भाजपा दावा करती है कि वह लोकप्रिय पार्टी है, अगर ऐसा है तो जनता ने दिलीप घोष के साथ धक्का-मुक्की क्यों की, यह अपने आप में बड़ा सवाल खड़ा करता है। दूसरी तरफ बिमल गुरुंग और दिलीप के बीच फोन पर हो रही बातचीत को लेकर पार्थ ने कहा कि बिमल के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी होने के बावजूद दिलीप घोष बिमल से किन नाते बात करते आ रहे हैं। यह सरासर असंवैधानिक है। ऐसा करना उनके षडयंत्र को दर्शाता है। उधर एस एस अहलूवालिया के बयानों पर प्रतिक्रिया देते हुए पार्थ ने कहा कि उनका बयान पूरी तरह से असंवैधानिक है। उन्हें अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए। पार्थ ने कहा कि पहाड़ पर जो भी हुआ उसे लेकर प्रशासन अपने तरीके से काम करेगा जबकि पार्टी गणतांत्रिक तरीके से अपने कर्त्तव्यों का निर्वाह करेगी।

केंद्र के इशारे पर पहाड़ काे अशांत करने का हुआ प्रयास : पार्थ
दिलीप व बिमल के बीच बातचीत पर उठाया सवाल

Leave a Comment

अन्य समाचार

पुलवामा हमले के मामले में 23 लोग हिरासत में, जैश-ए-मोहम्मद से संबंधों का है शक

नई दिल्लीः कश्मीर में पुलवामा हमले के मामले में सेना ने 23 लोगों को शक के आधार पर हिरासत में लिया है। सुरक्षाबलों को शक है कि इनका संबंध संगठन जैश-ए-मोहम्मद से हो सकता है। बता दें कि 14 फरवरी [Read more...]

पुलवामा अटैक : सिद्धू-अकाली आमने-सामने, पंजाब विधानसभा में उठी सिद्धू के खिलाफ कार्रवाई की मांग

चंडीगढ़ : अक्‍सर अपने बयानबाजी को लेकर चर्चा में रहने वाले पूर्व क्रिकेटर व पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू पुलवामा हमले के बाद अपने बयान को लेकर विवादों में फंस गये है। सिद्धू को भारी आलोचना का सामना [Read more...]

मुख्य समाचार

पुलवामा हमले के मामले में 23 लोग हिरासत में, जैश-ए-मोहम्मद से संबंधों का है शक

नई दिल्लीः कश्मीर में पुलवामा हमले के मामले में सेना ने 23 लोगों को शक के आधार पर हिरासत में लिया है। सुरक्षाबलों को शक है कि इनका संबंध संगठन जैश-ए-मोहम्मद से हो सकता है। बता दें कि 14 फरवरी [Read more...]

पुलवामा अटैक : सिद्धू-अकाली आमने-सामने, पंजाब विधानसभा में उठी सिद्धू के खिलाफ कार्रवाई की मांग

चंडीगढ़ : अक्‍सर अपने बयानबाजी को लेकर चर्चा में रहने वाले पूर्व क्रिकेटर व पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू पुलवामा हमले के बाद अपने बयान को लेकर विवादों में फंस गये है। सिद्धू को भारी आलोचना का सामना [Read more...]

ऊपर