ब्लैक फंगस पर स्वास्थ्य विभाग ने 22 सदस्यीय टीम गठित की

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाताः ब्लैक फंगस या म्यूकोरमायकोसिस को लेकर स्वास्थ्य विभाग ने 22 सदस्यीय टीम गठित की है। स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों ने बताया कि हाल के दिनों में बढ़ते ब्लैक फंगस के मामलों को देखते हुए विशेषज्ञों की टीम गठित की गई है। यह टीम ऐसे मामलों पर निगरानी कर रही है। रिजनल इंस्टिट्यूट ऑफ ऑप्थोलमलॉजी (आरआईओ), कोलकाता के निदेशक प्रो.असीम कुमार घोष भी इस टीम में हैं।
अचानक बढ़ रहे नए मामले
राज्य में म्यूकोरमायकोसिस के मामलों में अचानक वृद्धि नजर आ रही है। इसे देखते हुए सभी मेडिकल कॉलेज व अस्पतालों को सतर्क रहने की सलाह दी जा रही है। ऐसे मामलों के बारे में स्वास्थ्य विभाग को तुरंत अपडेट करने को कहा गया है।
राज्य में ब्लैक फंगस यानी कि म्यूकोरमाइकोसिस के 4 नए मामले दर्ज किए गए। इसमें आमरी हॉस्पिटल द्वारा रिपोर्ट किए गए बिहार से 1, दूसरी तरफ रवींद्र नाथ टैगोर इंस्टिट्यूट ऑफ कार्डियक साइंसेज की में बिहार, असम और पूर्व बर्दवान से 3 मामले रिपोर्ट किए गए। बीएसएमसीएच के 1 संदिग्ध मामले की गुरुवार को पुष्टि हुई। अब तक कुल ब्लैक फंगस के 18 मामले दर्ज किए जा चुके हैं। वहीं संदिग्ध 3 नए मामले बीएसएमसीएच द्वारा रिपोर्ट किए गए 2, एनबीएमसीएच द्वारा रिपोर्ट किए गए । कुल संदिग्ध 13 मामले हो गए हैं।
पुष्ट मामलों में गुरुवार को किसी की मौत की सूचना नहीं है। संदिग्ध मामलों में कोई नई मौत की सूचना नहीं है।
आरआईओ में भी 5 सदस्यीय टीम गठित
-डॉ.संजय चटर्जी
-डॉ.सलील मंडल
-डॉ.चंदना चक्रवर्ती
-डॉ.सोमोदीप मजूमदार
-डॉ.पूर्वान गांगुली

शेयर करें

मुख्य समाचार

शनि की साढ़ेसाती झेल रहे हैं तो इन उपायों से शनि को करें प्रसन्‍न

कोलकाता : शनि को सबसे क्रूर ग्रह की संज्ञा दी गई है और जब किसी राशि में साढ़ेसाती की स्थिति में शनि होते हैं तो आगे पढ़ें »

माध्यमिक के लिए 50 : 50 सूत्र, एचएस के लिए 40 : 60 सूत्र से मिलेंगे अंक

माध्यमिक का 9वीं का वार्षिक और 10वीं की इंटरनल परीक्षा के आधार पर होगा रिजल्ट उच्च माध्यमिक के लिए 2019 की माध्यमिक और 11वीं की प्रैक्टिकल आगे पढ़ें »

ऊपर