बॉडी टेंपरेचर अधिक मिला तो नहीं मिलेगी खूबसूरती बढ़ाने की सर्विस

कोरोना ने बदल दी पार्लर-सैलून की परिभाषा, महामारी के डर से कम जा रहे लोग
सोनू ओझा,कोलकाता : मन में कई तमन्ना लेकर 2 महीने के बाद वह पहुंची थी पार्लर हेयर स्पा कराने मगर भौकाल कोरोना ने पार्लरों का ऐसा कायापलट कर दिया है कि बेचारी के सभी मंसूबों पर एक थर्मल गन ने पानी फेर दिया। जी हां थर्मल स्क्रीनिंग में टेंपरेचर ने रेड सिग्नल क्या दिखाया युवती को पार्लर में एंट्री ही नहीं मिली और उसका अपॉइंटमेंट कैंसिल कर दिया गया। यह हाल किसी एक पार्लर या सैलून का नहीं बल्कि महानगर और आसपास के इलाकों में तमाम बड़े ऐसे स्टूडियों का है। कोरोना महामारी ने विश्व भर में जहां कई मानदंडों को बदल कर रख दिया है वही खूबसूरत बनाने की यह दुकानें भी पूरी तरह बदल गई है। यहां सब कुछ बदल गया है, अब अगर बॉडी टेंपरेचर में गर्माहट मिलती है तो आप खूबसूरत नहीं बन सकते।
कोरोना है इसलिए सतर्क हैं
हबीब के हेयर ड्रेसर सुरजीत बनर्जी ने बताया कि उनके यहां तमाम नियमों को माना जा रहा है। बाल काटने के लिए जो भी उपकरण है उन्हें हर एक से 3 घंटे में सैनिटाइज किया जा रहा है। टॉवल या बाकी कपड़े एक बार के इस्तेमाल के बाद फेंक दिए जा रहे हैं। दूसरी तरफ एक दूसरे हेयर स्टूडियो हेड टर्नर्स के प्रमुख शकील अहमद ने बताया कि जो सावधानी और नियम हमारे कस्टमर्स के लिए है वहीं स्टाफ अपने लिए भी कर रहे हैं।
दुकानें तो खुली मगर ग्राहक कम
सुरजीत बनर्जी ने बताया कि लॉक डाउन के बाद जब पार्लर खोला गया था तब अच्छी भीड़ होती थी। अब कम लोग आ रहे हैं। पार्लरों में अपॉइंटमेंट भी समय में गैप देकर लिया जा रहा है। फिर भी मेनीक्योर पैडिक्योर कराने वाले न के बराबर ही कस्टमर है। इन लोगों का मानना है कि कोरोना ऐसा मर्ज बन गया है जो लोगों की खूबसूरती पर हावी होता दिख रहा है। शकील अहमद ने बताया कि जो स्टूडियो ग्रीन जोन में है, उन्हें तो खोल दिया गया है मगर मॉल्स यहां बाकी जोन में जो स्टूडियो है उन्हें 8 तारीख को खोला जाएगा। यही हाल बाकि हेयर सलून या पार्लर का है जो जोन को देखते हुए अपनी दुकान खोल रहे हैं। इंतजार इन्हें इस बात का है कि सब कुछ भले बदल गया हो कस्टमर का फ्लो जारी रहें।
कस्टमर्स के लिए नियम
– एंट्री से पहले थर्मल स्क्रीनिंग
-उनकी बॉडी का फुल सैनिटाइज
– ग्लब्स और शू कवर दिया जा रहा है
-जिसका अपॉइंटमेंट उसे ही एंट्री
– बुखार हुआ तो नहीं मिल रही एंट्री
– स्टाफ और सलून के लिए नियम
– मास्क और पीपीई किट अनिवार्य
-खुद का सैनिटाइजेशन
-जिस कुर्सी पर कस्टमर बैठ रहे हैं उसका सैनिटाइजेशन
– डिस्पोजल टॉवल का इस्तेमाल
– जिस चेयर पर स्टीकर लगी है वहीं बैठना है

शेयर करें

मुख्य समाचार

कोहली से भिड़ने से बचना चाहते हैं आस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज जोश हेजलवुड

नयी दिल्ली : आस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज जोश हेजलवुड ने कहा कि उनकी टीम भारतीय कप्तान विराट कोहली से बल्लेबाजी के दौरान ‘भिड़ने से बचने’ को आगे पढ़ें »

इंग्लैंड ने पहले टेस्ट के लिये टीम का ऐलान किया, बेयरस्टो और मोईन बाहर

लंदन : इंग्लैंड ने अगले हफ्ते वेस्टइंडीज के खिलाफ शुरू हो रही तीन मैचों की टेस्ट सीरीज के पहले टेस्ट के लिये शनिवार को 13 आगे पढ़ें »

ऊपर