‘बुलबुल’ पर ममता की कड़ी निगरानी और कार्यक्रम किये रद्द

आज जाएंगी काकद्वीप, प्रभावित इलाकों का करेंगी हवाई सर्वेक्षण
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुलबुल चक्रवात के प्रभाव से होने वाले किसी भी तरह के नुकसान व आपदा से निपटने के लिए खुद ही निगरानी कर रही हैं। राज्य सचिवालय में बने कंट्रोल रूम में मुख्यमंत्री खुद रात को उपस्थित रहीं और हालात पर नजर बनाए रखा। सीएम ने फिलहाल अपने सभी कार्यक्रमों को रद्द कर दिया है। उन्होंने रविवार को सोशल साइट पर लिखा, ‘चक्रवात बुलबुल के कारण मैंने आगामी सप्ताह के प्रस्तावित उत्तर बंगाल दौरा स्थगित करने का निर्णय लिया है। इसके बजाय, सोमवार को मैं नामखाना और बकखली के आसपास के प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण करूंगी। इसके बाद मैं चक्रवात से प्रभावित लोगों के राहत और पुनर्वास उपायों की समीक्षा करने के लिए प्रशासन के साथ काकद्वीप में एक बैठक करूंगी। इसके साथ ही 13 नवंबर को उत्तर 24-परगना के बशीरहाट में चक्रवात प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करने की भी योजना है।’
सीएम की अपील
मुख्यमंत्री ने खुद काम नहीं होने पर लोगों से घर से बाहर नहीं निकलने की अपील की है। नवान्न की ओर से हेल्प लाइन नंबर भी जारी की गयी है। परेशानी में पड़ने पर लोग टोल फ्री नंबर 1070 पर फोन कर मदद मांग सकते हैं।
रात को नवान्न कंट्रोल रूम से की निगरानी
सीएम ने कहा कि प्रभावित इलाकों के लिए राज्य प्रशासन ने सभी उपाय किये हैं और वह खुद स्थिति की निगरानी कर रही हैं। शनिवार की रात नवान्न से हालात पर नजर रखीं। मुख्यमंत्री ने लोगों से शांति बनाए रखने व आतंकित नहीं होने की अपील की हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

पटना का महावीर मंदिर ट्रस्ट अयोध्या के राम मंदिर के श्रद्धालुओं के लिए रसोई चलाएगा

अयोध्या : राम मंदिर के दर्शन के लिए अयोध्या के बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं के लिए बिहार का महावीर मंदिर ट्रस्ट सामुदायिक भोज की आगे पढ़ें »

विकास का इंतजार कर रहा है औरंगाबाद का रढुआ धाम

औरंगाबाद : बिहार के औरंगाबाद जिले में ऐतिहासिक, पौराणिक और धार्मिक महत्व के रढुआ धाम को आज भी विकास का इंतजार है। जिले के जम्होर पंचायत आगे पढ़ें »

ऊपर