बिजली सेवा नहीं हुई सामान्य, सीईएससी पर बिफरे फिरहाद

कहा- सीईएससी धैर्य की परीक्षा न ले, जल्द विद्युत सेवा करे समान्य, निगम के 17000 कर्मी लगातार कर रहे हैं कार्य
सन्मार्ग संवाददाता, कोलकाता : अम्फान को बीते 5 दिन हो गये हैं मगर शहर में अभी भी कई जगहों पर बिजली सेवा सामान्य नहीं हुई है। इससे बिफरे शहरी विकास तथा नगरपालिका मामलों के मंत्री और केएमसी के प्रशासक फिरहाद हकीम ने एक बार फिर से सीईएससी को जमकर कोसा। फिरहाद ने कहा कि हमारी धैर्य की परीक्षा मत लीजिए। जल्द से जल्द बिजली सेवा सामान्य कीजिए। अब बहुत हो गया ‘इनफ इज इनफ’। सोमवार काे संवाददाता सम्मेलन में फिरहाद ने कहा कि सीईएससी अपने लोगों की संख्या बढ़ाये। 5 दिन बीत चुके हैं और कई इलाकें अभी भी अंधकार में डूबे हैं। कोलकाता में बिजली देना सीईएससी की जिम्मेदारी है। मुख्य सचिव रोजाना उन लोगों से बात कर रहे हैं फिर भी किस बात की देरी हो रही है ? फिरहाद ने कहा कि पेड़ के कारण बिजली आपूर्ति में समस्या नहीं हो रही है। हमलोगों ने अपना काम किया है और कर रहे हैं। कोलकाता में एक दिन में 5.5 हजार पेड़ गिर गये थे। कोलकाता नगर निगम के 17000 हजार से अधिक कर्मी लगातार कार्य कर रहे हैं। विद्युत का काम तो निगम के कर्मी नहीं कर सकते। निकासी का काम करने वाला बिजली तो नहीं ठीक कर सकता है। मुझे सीईएससी के अधिकारी यह बतायें कि अब उन्हें बिजली परिसेवा सुचारू रूप करने में कहां परेशानी हो रही है।
कई बोरो सहित कई इलाके अंधकार में
सोमवार की शाम तक बेहला, यादवपुर, टालीगंज के कई इलाकों में बिजली नहीं पहुंच पाई है। फिरहाद ने कहा कि बोरो 12, 15 में अधिकांश जगहों पर बिजली नहीं है। निगम के अधिकारियों के कार्यालय व घरों में बिजली नहीं है। 5 दिनों से नहाये नहीं है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

शेयर बाजारों में लगातार पांचवें दिन तेजी

मुंबई : शेयर बाजारों में मंगलवार को लगातार पांचवें कारोबारी सत्र मे तेजी रही और बीएसई सेंसेक्स और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी दोनों बढ़त आगे पढ़ें »

बंगाल में ध्वनि प्रदूषण रोकने के लिए लगेंगे 2,000 से ज्यादा निगरानी यंत्र

कोलकाता : पश्चिम बंगाल में ध्वनि प्रदूषण पर रोक लगाने के प्रयासों के तहत राज्य में 2,000 से ज्यादा ध्वनि निगरानी यंत्र लगाए जा रहे आगे पढ़ें »

ऊपर