बस किराये पर सरकार ‘मौन’, या​त्रियों व बस वालों में पड़ी दरार

काेलकाता : बस किराया को लेकर आये दिन यात्रियों और कंडक्टर में नोकझोंक हो रही है। यहां तक कि अब किराया वृद्धि को लेकर यात्रियों में भी दो ग्रुप होते जा रहे हैं। एक ग्रुप जहां सरकार की घोषणा से पहले मनमाना किराया वसूलने का विरोध जता रहा है, दूसरा ग्रुप तर्क यह दे रहा है कि अगर थोड़ा अतिरिक्त भाड़ा नहीं देंगे तो नुकसान के कारण जो थोड़ी बहुत बसें रास्ते पर दिख रही हैं वह भी नदारद हाेते देर नहीं लगेगी। साथ ही हर किसी के लिए कैप हायर करना संभव नहीं है। अब इस बस किराये के मुद्दे पर सरकार की ‘चुप्पी’ यात्रियों और बस वालों के बीच दरार खड़ा कर रहा है।
सरकार एक नियम बनाये
बीते दिन कई बसों में यात्री व कंडक्टर किराये को लेकर तू तू मैं मैं जुबानी जंग तक पहुंच गये। मटियाब्रुज से श्यामबाजार जाने वाली एक बस में कई यात्रियों ने अतिरिक्त भाड़ा दे दिया जबकि कुछ यात्रियों ने इसका विरोध किया। विरोध करने वाले यात्रियों का कहना था कि सरकार को इस बारे में एक फैसला लेना चाहिए। एक यात्री ने कहा कि सरकार यह साफ कर दे कि अगर भाड़ा बढ़ता है तो एक एक सीट छोड़कर यात्री बैठे। हमलोग अतिरिक्त भाड़ा भी दे रहे हैं और बस में खड़े होकर भी जा रहे हैं। सरकार एक नियम बनाये। जब कंडक्टर से पूछा गया तो उन्हाेंने कहा कि भाड़ा तो बढ़ गया है।
एक्सपर्ट कमेटी देख रही है मामले को
परिवहन विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि बस वालों की केवल भाड़ा वृद्धि की मांग नहीं है। ये लोग कोरोना वॉरियर की तरह ही ड्राइवर-कंडक्टर के इंश्योरेंस सरकार से चाहते हैं। रोड टैक्स में भी छूट चाहते हैं। भाड़ा वृद्धि समेत विभिन्न मुद्दों को देखने के लिए एक एक्सपर्ट कमेटी बनायी गयी है। गत 5 जून को तैयार यह कमेटी एक महीने में अपनी रिपोर्ट देगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

जब अपने छोड़ देते साथ, तब ये मुसलमान करते हिंदू कोरोना शवों का अंतिम संस्कार

मुंबई: देशभर में महामारी का रूप धारण कर चुके कोरोना वायरस संक्रमण से अस्पतालों में मरने के बाद उनके परिजनों द्वारा शवों के अंतिम संस्कार आगे पढ़ें »

सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या मामले में पुलिस थाने बयान दर्ज कराने पहुंचे संजय लीला भंसाली

मुंबई : बॉलीवुड फिल्म निर्माता संजय लीला भंसाली अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या के मामले में अपना बयान दर्ज कराने के लिए सोमवार को आगे पढ़ें »

ऊपर