बदहाल अवस्था में है सियालदह फुटओवर ब्रिज

सिंकी सिंह

कोलकाता : सियालदह फुट ओवर ब्रिज अपनी बदहाली पर आंसू बहा रहा है। इसकी जर्जर अवस्था बड़े हादसे को दावत दे रही है। संतरागाछी फुट ओवर ब्रिज का हादसा इसका सबसे बड़ा उदाहरण है। इस हादसे में 2 की मौत हो गई थी व कई लोग घायल भी हो गये थे। वहीं भीड़ की वजह से श्रीभूमि फुट ओवर ब्रिज को भी बंद कर दिया गया था। फुटओवर ब्रिजों में सबसे व्यस्ततम के तौर पर सियालदह फुट ओवर ब्रिज का नाम शुमार है। यहां से हर रोज हजारों की संख्या में लोग गुजरते हैं, मगर इस फुट ओवर ब्रिज की हालत इतनी जर्जर हो चुकी है कि ऐसा प्रतीत होता है कि यह कभी भी टूटकर गिर सकता है। सियालदह ब्रिज के पास सिनेमा हॉल से लेकर एनआरएस अस्पताल स्थित है, जहां पर हर रोज लाखों की संख्या में लोगों का आना-जाना होता है। मगर ऑफिस के समय में इस ब्रिज से गुजरने वालों की संख्या काफी बढ़ जाती है। सियालदह स्टेशन, सिनेमा हाल, एनआरएस हॉस्पिटल को जोड़ने का यह बड़ा माध्यम है। कई बार फुटब्रिज पर 1500 से अधिक लोग सवार हो जाते हैं। सियालदह स्टेशन पर ही रोजाना करीब 20 लाख यात्री आते हैं। लोगों के अंदर इस तरह से डर बैठ गया है कि लोग फुट ओवर ब्रिज पर चलने की बजाय इससे कतराते नजर आते हैं। फुट ओवर ब्रिज का उपयोग करने की बजाय लोग जान हथेली पर रखकर सड़क से ही एक छोर से दूसरी छोर की ओर जाते हैं। ब्रिज की रेलिंग से लेकर पीलर तक की हालत जर्जर अवस्था में है। फुट ओवर ब्रिज को देखकर ऐसा प्रतीत होता है कि काफी समय से इस फुट ओवर ब्रिज की मरम्मत नहीं हुई है। सियालदह फुट ओवर ब्रिज के अलावा उल्टाडांगा व गरिया के फुट ओवर ब्रिजों की हालत भी काफी जर्जर हालत अवस्था में है। यहां रहने वाले लोगों तक को भी याद नहीं कि इन फुट ओवर ब्रिजों की आखिरी बार मरम्मत कब हुई थी।

प्रशासन कर रही है घटना के होने का इंतजार

अलका शर्मा ने बताया कि मेरी दुकान कई वर्षों से है। इसका आखिरी बार रंग कब हुआ था यह हमें याद भी नहीं है। प्रशासन की ओर से कभी जांच भी नहीं की गई। असीम ने बताया कि ब्रिज में जंग लगने की सबसे बड़ी वजह है कि ब्रिज से लगी हुई प्लास्टिक की वजह से जो बरसात का पानी जमा होता है इसमें फुट ओवर ब्रिज पर लोहे के जंग लग गए हैं। श्रीकांत शर्मा ने बताया कि हमें प्रशासन से काफी शिकायत है। प्रशासन फुटओवर ब्रिज को लेकर आज अलर्ट नहीं है, जब घटना होती है तो पैसा देकर मामलों को खत्म करने की कोशिश की जाती है। पैसे से इंसान की जान नहीं खरीदी जा सकती है। रमाशंकर प्रसाद ने बताया कि कोलकाता नगर निगम में फुट ओवर ब्रिज की मरम्मत को लेकर कई बार शिकायत दर्ज कराई, लेकिन कभी इस फुट ओवर ब्रिज की जांच के लिए भी कोई नहीं आया।

क्या कहना है पार्षद काः

वार्ड 50 की पार्षद मौसमी दे ने बताया कि माझेरहॉट ब्रिज, संतरगाछी हादसे से सबक लेते हुए कोलकाता नगर निगम काफी सतर्क हो गया है। निगम की ओर से निगम के अधिकारियों को फुटओवर ब्रिज का हेल्थ ऑडिट करने का निर्देश भी दिया गया था। लेकिन फिलहाल सियालदह फुट ओवर ब्रिज की मरम्म्त को लेकर किसी प्रकार का कार्य शुरू नहीं हुआ है।

क्या कहना है चेयरपर्सन काः

बोरो 5 की चेयरपर्सन अपराजिता दासगुप्ता का कहना है कि फुट ओवर ब्रिज को लेकर फिलहाल किसी प्रकार की मरम्म्त का कार्य नहीं किया जा रहा है। महानगर में लगभग 7 फुट ओवर ब्रिज हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

CM Nitish Kumar

बिहार में कृषि आधारित उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए कानूनी सुधार : नीतीश कुमार

पटना : बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को कहा कि कृषि आधारित उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए ‘बिहार आद्योगिक नीति-2016’ में संशोधन आगे पढ़ें »

मॉरीशस के राष्ट्रपति पृथ्वीराज सिंह रूपउन ने विष्णुपद मंदिर परिसर में किया पिंडदान

गया : मॉरीशस के राष्ट्रपति पृथ्वीराज सिंह रूपउन ने बुधवार को मोक्षनगरी के नाम से प्रसिद्ध बिहार में गया शहर के विष्णुपद मंदिर परिसर में आगे पढ़ें »

ऊपर