बड़ी राहत : कई स्कूलों ने की फीस में कमी, कुछ और इसी राह पर

अगर सैलरी में हुई है कटौती तो कई स्कूल करेंगे कुछ फीस माफ
प्रीति यादव, कोलकाता : अभिभावकों की एकजुटता रंग लायी। विधायकों और मंत्रियों के बाद अब खुद सीएम ममता बनर्जी ने निजी स्कूलों से फीस ना बढ़ने की अपील कर दी है। इधर, लॉकडाउन के दौरान अभिभावकों की समस्याओं और बच्चों के भविष्य को देखते हुए कई स्कूलों ने कुछ प्रतिशत फीस माफ कर अभिभावकों को बड़ी राहत दी है। महानगर सहित जिलों के कुछ स्कूलों ने मानवता का बेमिशाल उदाहरण पेश किया है। ऐसी खबर आ रही है कि अगर छात्रों के अभिभावकों की सेलरी में कटौती हुई है और उसका प्रमाण उनके पास है तो स्कूल उनके बच्चों के कुछ प्रतिशत फीस माफ कर रहे हैं। ऐसे अभिभावकों का कहना है कि इससे उन्हें थोड़ी राहत मिली है। वह चाहते हैं कि बाकी स्कूल भी ऐसा करें। स्कूल की ओर से भी अभिभावकों को यह कहा गया कि अगर आप को किसी भी प्रकार की कोई दिक्कत है तो आप हमसे बताये हम उस पर विचार विमर्श करके इस पर निर्णय लेंगे। चाहे आपकी जॉब चली गयी या सेलरी में कटौती हुई या आप बहुत दिक्कतों में हैं तो हम सारी बातों पर विचार करेंगे और हमसे जितना हो पायेगा हम आपके बारे में सोचेंगे। इस तरह के स्कूलों में बैकरपुर स्थित सेंट ऑग​स्टिन डे स्कूल और हावड़ा के एक गैर सरकारी स्कूल के नाम सामने आये हैं जिन्होंने इस मुद्दे पर विचार करते हुए अपने मानवता के रूप को दिखाया है।
बाकि स्कूलों से भी किया गया निवेदन
कुछ स्कूलों के इस मानवतापूर्ण कदम को देखते हुए अभिभावकों ने बाकी स्कूलों को भी इसी दिशा में अग्रसर होने की अपील की है। साथ ही कहा कि कुछ स्कूलों ने जो पहल की वह बहुत ही सराहनीय है। हमें उम्मीद है कि बाकी स्कूल भी इस बारे में जरुर निर्णय लेंगे।
प्रशासन ने भी की निजी स्कूलों से फीस ना बढ़ाने की अपील

अभिभावकों की परेशानी को देखते हुए प्रशासन ने इस ओर ध्यान राहत दी ।
क्या कहा अभिभावकों ने
अर्पिता ने कहा कि उनका बेटा बैरकपुर स्थित सेंट ऑग​स्टिन डे स्कूल के क्लास 1 में पढ़ता है। लॉकडाउन के दौरान उनकी सेलरी कटने से उनके बच्चे की स्कूल फीस को लेकर बहुत परेशानी का सामना करना पड़ा। हालांकि बाद में उनके बच्चे के स्कूल से यह राहत भरी खबर आयी कि आप अपने सैलरी कटने का प्रमाण दें, हम आपके बच्चे का कुछ प्रतिशत फीस माफ कर देते हैं। उनके अनुसार ऐसा ही हुआ। एक अन्य अभिभावक सुमित्रा ने कहा कि उन्हें भी स्कूल की ओर से मदद की गयी है।
बच्चों व अभिभावकों के साथ आते दिखे हावड़ा के कुछ स्कूल
लॉकडाउन के साथ ही देश भर में स्कूल फीस को लेकर मुद्दे उठाये जाने लगे हैं। हावड़ा में भी इस मुद्दे को सबसे पहले बाली की विधायक वैशाली डालमिया ने उठाया था। उन्होंने अपने विधानसभा क्षेत्र के स्कूलों को एक पत्र व सोशल मीडिया के जरिये अपील करते हुए अंतिम 3 महीने अर्थात अप्रैल, मई व जून महीने की स्कूल फीस माफ करने की अपील की थी। हालांकि कुछ स्कूलों ने पहले यह पहल कर दी थी। इनमें लिलुआ जीटी रोड स्थित आईपी मेमोरियल स्कूल था जिसने स्कूल फीस को रिड्युज कर दिया था। वहीं विधायक की अपील के ठीक दूसरे दिन हावड़ा एसी के निकट श्रीमानी बागान लेन स्थित सेंट जोसेफ स्कूल ने एक रिलीज जारी करते हुए कहा कि वह इस कोरोना काल में मानवता के साथ है और अप्रैल महीने से सेशन व अन्य फीस 50 प्रतिशत कम दिया। इसके बाद अब हावड़ा के बड़े स्कूलों में शुमार डॉनबोस्को स्कूल लिलुआ ने भी विशेष पहल करते हुए एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा कि लॉकडाउन में कई लोगों की काम की क्षति हुई है। ऐसे में मानवता दिखाते हुए स्कूल अप्रैल से लेकर अगस्त तक ट्यूशन फीस लेगा। इसके अलावा अन्य फीस नहीं लिये जायेंगे।मुख्यमंत्री राहत कोष ने दी राशि – डॉनबोस्को स्कूल लिलुआ ने कोरोना काल में आम लोगों की मदद के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष में 2.5 लाख रुपये दान दिये। इस राशि को कोविड 19 के मरीजों के इलाज के लिए दिया गया। गैर सरकारी स्कूलों में फीस माफ के लिए की अपील -हावड़ा डिस्ट्रिक्ट गार्जियन्स एसोसिएशन द्वारा बुधवार को हावड़ा के सभी गैर सरकारी स्कूलों से फीस में 50 प्रतिशत की कटौती के लिये आह्वान किया गया। उत्तर हावड़ा के सेंट जोसेफ और बाली के डॉनबास्को स्कूल प्रबंधन का आभार व्यक्त किया गया। संस्था के सचिव उमेश राय ने कहा कि हमने सभी विद्यालय को ईमेल के जरिये यह पत्र भेजा है और गुरुवार को यानी आज प्रदेश की मुख्यमंत्री, शिक्षा मंत्री सहित हावड़ा के जिला शासक को भी पत्र भेजेंगे। फीस को माफ करने की मांग पर उत्तर हावड़ा भाजपा मंडल 1 की ओर से शांतिपूर्ण तरीके से विरोध किया गया था। इस दौरान भाजपा के सदस्य कुछ अभिभावकों के साथ मिलकर हाथ में बैनर लेकर रोड के किनारे खड़े होकर विरोध प्रदर्शन किया।
एंग्लो-इंडियन स्कूल एसोसिएशन से कई स्कूलों ने खुद को किया बाहर
मंगलवार को भारत के एंग्लो – इंडियन स्कूलों के प्रमुख एसोसिएशन की ओर से स्कूलों को फीस माफ करने की अपील की गयी थी जिसके बाद इसे आंतरिक मामलों में ‘हस्तक्षेप’ का हवाला देते हुए महानगर के 9 प्रमुख स्कूलों ने एंग्लो-इंडियन स्कूलों के एसोसिएशन से खुद को बाहर कर लिया। सभी स्कूल जो एसोसिएशन से बाहर चले गये हैं, उनमें ला मार्टिनियर (ब्वायज और गर्ल्स), सेंट जेम्स, प्रैट मेमोरियल, सेंट थॉमस, खिदिरपुर (ब्वायज और गर्ल्स), सेंट थॉमस चर्च स्कूल हावड़ा, सेंट थॉमस डे स्कूल और सेंट पॉल्स मिशन स्कूल हैं। इस एसोसिएशन के तहत पूरे भारत में लगभग 160 स्कूल हैं। इनमें स्कूल चर्चों (रोमन कैथोलिक, चर्च ऑफ नॉर्थ इंडिया और अन्य चर्चों) द्वारा संचालित किये जाते हैं, कुछ गैर-चर्च पब्लिक स्कूल भी हैं। एसोसिएशन ने सोमवार को सेंट जेम्स स्कूल में स्कूल के प्रमुखों के साथ बैठक की और उसमें चर्चा की गयी कि क्या पोस्ट-लॉकडाउन वित्तीय स्थिति के कारण एंग्लो-इंडियन स्कूलों को फीस लेनी चाहिए। बैठक में यह प्रस्तावित किया गया था कि स्कूलों को अभी केवल ट्यूशन फीस लेनी चाहिए और अभिभावकों के संकट को ध्यान में रखते हुए अन्य वार्षिक शुल्कों की छूट पर चर्चा करनी चाहिए। बैठक में उपस्थित लोगों ने कहा कि ट्यूशन फीस माफ नहीं की जा सकती क्योंकि इसका इस्तेमाल शिक्षण शुल्क और गैर-शिक्षण कर्मचारियों के वेतन व नियमित खर्च में किया जाता है। वार्षिक शुल्क और अन्य शुल्क रख-रखाव, कंप्यूटर, पुस्तकालय और प्रयोगशाला के खर्च के लिए उपयोग किए जाने वाले खर्च हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

बड़ाबाजार में महिला के बैग से रुपये चुरानेवाला गिरफ्तार

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : बड़ाबाजार थानांतर्गत सत्यनारायण मार्केट इलाके में एक महिला के बैग से 6500 रुपये चुराने के आरोप में पुलिस ने एक युवक को आगे पढ़ें »

ब्रेकिंगः कोलकाता के इस नर्सिंग होम से निकलती हैं लाशें

विधाननगर : ऐप के जरिए लोन देकर महिला से ठगे 7 लाख, दो गिरफ्तार

बंगालः दिव्यांगता का सर्टिफिकेट लेने अस्पताल आये बुजुर्ग की हुई मौत

मशहूर पेंटर वसीम कपूर पहुंचे मंत्री फिरहाद हकीम के घर

राजस्थान में पुनर्जन्म! 4 साल की बच्ची किंजल का दावा, ‘मैं थी ऊषा….

बड़ी खबरः बेलूड़ में बीच गंगा में व्यक्ति ने लगायी छलांग

वॉट्सऐप और टेलीग्राम पर गलती से भी न भेजें ये मैसेज, सरकार ने जारी की नई गाइडलाइंस

सेक्स के दौरान लड़कियों को यहां मार खाने से आता है बहुत मजा

चेंजिंग रूम में हिडेन कैमरा लगाकर इस एक्ट्रेस ने साथी एक्ट्रेस का बनाया न्यूड वीडियो

ऊपर