बड़ी खबरः तो क्या माध्यमिक छात्रों को घर से देनी पड़ सकती है परीक्षा?

कोलकाताः ममता बनर्जी सरकार द्वारा बोर्ड परीक्षा आयोजित करने की संभावना का आकलन करने के लिए गठित विशेषज्ञ समिति महामारी की स्थिति के दौरान किसी भी तरह की परीक्षा के खिलाफ अपनी राय दे सकती है। राज्य के शिक्षा सचिव मनीष जैन को पहले ही रिपोर्ट सौंप चुकी छह सदस्यीय समिति ने 12 लाख माध्यमिक (कक्षा 10) के छात्रों की परीक्षा लेने के खिलाफ कड़ा विरोध जताया है, लेकिन सुझाव दिया है कि सरकार घर से मूल्यांकन, असाइनमेंट और परीक्षाओं के माध्यम से 7.5 लाख उच्च माध्यमिक छात्रों का मूल्यांकन कर सकती है।
नाम ना छापने की शर्त पर विशेषज्ञ समिति से जुड़े बोर्ड के एक वरिष्ठ सदस्य ने बताया कि विशेषज्ञ समिति ने उच्च माध्यमिक छात्रों के लिए घर से परीक्षा का सुझाव दिया है। बोर्ड छात्रों को निर्धारित समय के भीतर इसे जमा करने के लिए कह सकता है। बोर्ड के वरिष्ठ सदस्य ने कहा कि बोर्ड केवल ऑनलाइन परीक्षाओं की तलाश कर सकता है, जो देश भर के कई स्कूलों और कॉलेजों द्वारा ली जा रही हैं, लेकिन यह ऐसी किसी भी तरह की परीक्षा के सख्त खिलाफ है, जहां छात्रों को परीक्षा देने के लिए शारीरिक रूप से उपस्थित होना होगा।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

योग दिवस पर सोमवार सुबह होगा प्रधानमंत्री का संबोधन

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार सुबह अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर आयोजित होने वाले एक कार्यक्रम को संबोधित करेंगे। इस बार योग दिवस आगे पढ़ें »

ये ‘कॉन्डम बम’ इजरायल के खिलाफ हो रहा है यूज

नई दिल्ली: इजरायल और फलस्तीन के बीच हालात तनावपूर्ण बने हुए हैं। दोनों देशों के बीच मई में एक लंबे संघर्ष के बाद सीजफायर का ऐलान आगे पढ़ें »

ऊपर