बड़ा सवाल : कब तक सिफारिशों पर टिकी रहेगी बड़ाबाजार की सुरक्षा

नियमों को ताक पर रखकर चलती है बड़ाबाजार में कई दुकानें

सोनू ओझा
कोलकाता : अग्निकांड जिसकी लपटों में न जाने कितने ही व्यवसायियों की कमर तोड़ कर रख दी मगर अफसोस इससे सबक लेने की जगह अभी भी बड़ाबाजार में सिफारिश के आगे सुरक्षा की बलि चढ़ायी जा रही है। आग लगती है तो व्यवसायी वर्ग से लेकर प्रशासन स्तर तक हो-हल्ला मचता है। कई नीतियां बनायी जाती हैं, नियम बदले जाते हैं मगर समय बीतने के बाद सब ठंडे बस्ते में चला जाता है। जो बर्बाद होते हैं वे उसे अपनी किस्मत मान लेते हैं।
नियमों को ताक पर रखकर चलती हैं बड़ाबाजार में कई दुकानें
बड़ाबाजार में कई ऐसे मार्केट हैं जहां मार्केट के मालिक की तरफ से भी कुछ नियम तय किए गए हैं मगर दुकानदार हैं कि नियमों को भी ताक पर रख कर व्यवसाय कर रहे हैं। उदाहरण के तौर पर देवीप्रसाद मार्केट है जहां ग्राउण्ड फ्लोर पर दुकानदारों को अपना सामान रखने के लिए दो फीट की अतिरिक्त जगह दी गयी है (इसे सफेद लाइन से चिह्नित भी किया गया है) मगर दुकानदार उस निशान से दो फीट और आगे बढ़ गए हैं जिसकी वजह से आने-जाने का रास्ता जाम हो गया है। इसी बाजार में सीढ़ियों को गोदाम बनाकर दुकानदार अपना माल रखे हैं।

प्रशासनिक स्तर भी नियमों के साथ किया जा रहा है खिलवाड़

यह स्थिति प्रशासनिक स्तर पर भी देखी गयी है। शायद यही वजह है कि हाल ही में कोलकाता नगर निगम द्वारा रिन्यू किए गए ट्रेड लाइसेंस में कई मार्केट ऐसे हैं जिन्हें बगैर फायर एनओसी के ही महज सिफारिश पर लाइसेंस जारी किया गया है।
अग्निकांड से जूझ चुके बाजारों ने ली सबक
नंदराम मार्केट के मालिक मानिक चंद सेठिया ने बताया कि हमने अपने मार्केट की सुरक्षा के साथ ही आसपास के इलाके की आग पर काबू पाने की भी व्यवस्था की है। किसी प्रकार की दुर्घटना की स्थिति में इससे दूसरों की भी मदद हो सकती है।
* 10 साल पहले आग की वजह से मार्केट का 6 तल्ले से ऊपर तक का हिस्सा पूरी तरह जलकर खाक हाे गया था।
*अग्निशमन यंत्र की व्यवस्था के तौर पर हर तल्ले पर स्प्रींकल की व्यवस्था है। नीचे बोरिंग किया गया है। छत पर 1 लाख लीटर पानी की क्षमता है। सबसे बड़ी बात आसपास चारों तरफ करीब 80 मीटर तक अगर आग लगती है तो नंदराम मार्केट की छत से पानी मारने की व्यवस्था यहां की गयी है।
* जी प्लस 13 तल्ले के इस मार्केट में करीब 950 दुकानें है जहां कपड़े का सामान अधिक मिलता है।
* मार्केट में 3 दरवाजें, 2 सीढ़ियां और 2 लिफ्ट हैं।
देवी प्रसाद मार्केट के मैनेजर डी के पाण्डे ने बताया कि यहां अग्निशमन यंत्रों की बराबर चेकिंग की जाती है। साथ ही 24 घंटे सीसीटीवी की नजरें सभी पर रहती है।
* 16 साल पहले आग ने पूरे मार्केट को स्वाहा कर दिया था। आज वहां 4 मंजिला वाणिज्यिक काम्प्लेक्स है।
* अग्निशमन यंत्रों की व्यवस्था के तौर स्मॉक डिटेक्टर पैनल है। 1 लाख लीटर की क्षमता वाला वाटर टैंक है।
* मार्केट में करीब 300 दुकानें हैं जहां इमिटेशन का सामान मिलता है।
* मार्केट में 3 दरवाजें, 3 सीढ़ियां और 2 लिफ्ट है।

Leave a Comment

अन्य समाचार

प्रेमी को जमकर पीटा फिर पेट्रोल छिड़क कर जला दिया

पूर्व मिदनापुर: पूर्व मिदनापुर जिले के भूपतिनगर में एक प्रेमी युवक की पहले पिटाई की कई, बाद में शरीर पर पेट्रोल छिड़ककर फूंक दिया गया। आरोप उसकी प्रेमिका के घरवालों पर लगा है। मृतक की प्रेमिका, उसके घर के 4 [Read more...]

रेल रोको आंदोलन से चार घंटे तक ठहरी ट्रेनें

मालदहः माकपा कार्यकर्ताओं के रेल रोको आंदोलन के कारण कई स्टेशनों पर ट्रेनें घंटों खड़ी रह गईं। इससे यात्रियों को व्यापक परेशानी का सामना करना पड़ा। दरअसल 10 सूत्री मांगों के समर्थन में जिला माकपा ने शनिवार को हरिश्चंद्रपुर स्टेशन [Read more...]

मुख्य समाचार

प्रेमी को जमकर पीटा फिर पेट्रोल छिड़क कर जला दिया

पूर्व मिदनापुर: पूर्व मिदनापुर जिले के भूपतिनगर में एक प्रेमी युवक की पहले पिटाई की कई, बाद में शरीर पर पेट्रोल छिड़ककर फूंक दिया गया। आरोप उसकी प्रेमिका के घरवालों पर लगा है। मृतक की प्रेमिका, उसके घर के 4 [Read more...]

रेल रोको आंदोलन से चार घंटे तक ठहरी ट्रेनें

मालदहः माकपा कार्यकर्ताओं के रेल रोको आंदोलन के कारण कई स्टेशनों पर ट्रेनें घंटों खड़ी रह गईं। इससे यात्रियों को व्यापक परेशानी का सामना करना पड़ा। दरअसल 10 सूत्री मांगों के समर्थन में जिला माकपा ने शनिवार को हरिश्चंद्रपुर स्टेशन [Read more...]

ऊपर