बच्चों की मदद के लिए फंड रेजर कार्यक्रम ‘छोटी सी आशा’

रोटरी इंडिया, रोटरी क्लब ऑफ बॉम्बे तथा विजक्राफ्ट इंटरनेशनल ने हाल ही में संयुक्तरूप से पहल करते हुए सुविधाओं से वंचित बच्चों के लिए फंड रेजर ‘छोटी सी आशा’ की शुरुआत की है। कोविड-19 पैंडेमिक के मद्देनजर सबसे ज्यादा वंचित बच्चों की जरूरतें अत्यावश्यक हो गयी हैं। रोटरी का मानना है कि बच्चे हमारा भविष्य हैं और उन्हें हमारी अपेक्षा एक बेहतर विश्व की जरूरत है, इसी दृष्टिकोण को ध्यान में रखते हुए फंड रेजर “छोटी सी आशा” की शुरुआत की गयी है जो तत्काल राहत परियोजनाओं के अलावा पोषण, शिक्षा तथा कौशल विकास जैसी दीर्घकालीन परियोजनाओं पर भी ध्यान देगा।रोटरी इंडिया और रोटरी क्लब ऑफ बॉम्बे ने कोविड-19 पैंडेमिक के प्रभाव से निपटने के लिए विभिन्न प्लेटफॉर्मों पर प्रयास कर रहा है और इस प्रयास के तहत अधिक ध्यान बच्चों पर केन्द्रित है । रोटरी द्वारा शुरू किये गये कुछ बड़े कदमों में शिक्षा, ई लर्निंग, आर्थिक रूप से वंचितों की स्कूल शिक्षा के लिए आशा किरण, पोलिया उन्मूलन तथा पेड्रियाट्रिक हार्ट सर्जरीज़ शामिल हैं।लोगों की पहल के रूप में बनाया गया वर्चुअल फंड रेजर इवेंट- ‘छोटी सी आशा- फॉर चिल्ड्रन इन नीड’ तीन घंटे का एक कार्यक्रम होगा। विभिन्न प्लेटफॉर्मों पर प्रचारित यह कार्यक्रम रविवार 28 जून,2020 को लाइव स्ट्रीम होगा। इस वर्चुअल फंड रेजर इवेंट प्रोग्राम में संदेश, भारत के जानेमाने सितारों के उच्चस्तरीय कार्यक्रम, गायन, नृत्य, कॉमेडी तथा काव्य पाठ शामिल होगा। इस दौरान सेलिब्रेटी हार्दिक अपील करते हुए दिखायी देंगे। सबसे अहम बात यह है कि इस कार्यक्रम में रीयल लाइफ हीरोज़ को भी दिखाया जायेगा और दिखायी जायेंगी उनकी वास्तविक कहानियां जिनमें उनके द्वारा किये गये सेवा कार्य तथा बदलाव लाने के लिए उनके द्वारा किये गये प्रयासों की झलक होगी। इस अभियान के समर्थन में कुछ सरकारी हस्तियां भी होंगी। ‘छोटी सी आशा’ में कोविड योद्धाओं तथा स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा किये गये कार्यों को भी दिखलाते हुए यह भी साझा किया जायेगा कि कैसे देश ने एकजुटता की भावना का जश्न मनाया। फंड रेजिंग इवेंट के जरिये “छोटी सी आशा-फॉर चिल्ड्रन इन नीड” कोविड-19 के लिए राहत कार्यों में कम से कम 200 करोड़ रुपये व्यय करेगी।रोटरी इंटरनेशनल के प्रेसिडेंट नॉमिनी, शेखर मेहता ने इस पहल पर कहा, ” भारत में रोटरी के 100 वर्ष पूरे हो गये हैं। अत: साक्षरता, जल तथा सेनिटेशन, स्वास्थ्य, पर्यावरण एवं आपदा प्रबंधन के क्षेत्र में हमारे द्वारा शुरू किये गये अभियान भी बड़े हो गये हैं। हमारे कोविड संबंधी कार्य में 200 करोड़ रुपये लगेंगे जिसमें पीएम केयर्स फंड में 105 करोड रुपये योगदान भी शामिल है। ” रोटरी क्लब ऑफ बॉम्बे की अध्यक्ष प्रीति मेहता ने कहा, ‘मुझे इस बात की अत्यंत खुशी है कि हमारा 91 वर्षीय रोटरी क्लब ऑफ बॉम्बे इस फंड रेजर में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है।’ विजक्राफ्ट इंटरनेशनल के सह-संस्थापक एवं निदेशक सब्बास जोसफ ने कहा, ”जरूरतमंद बच्चों की सहायता के लिए छोटी सी आशा फंड रेजर बनाने के लिए रोटरी टीम के साथ हमने भागीदारी की है। बच्चे जो हमारा भविष्य हैं, उनके लाभ के लिए की जानेवाली पहल की दिशा में हम अपने विचारों, अनुभव और रिश्तों का उपयोग करने और मानव त्रासदी को दूर करने में मदद के लिए प्रतिबद्ध हैं। “

शेयर करें

मुख्य समाचार

पीसीबी को नहीं मिल रहा कोई प्रायोजक

कराची : कोरोना वायरस महामारी के आर्थिक दुष्प्रभावों का सामना पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को भी करना पड़ रहा है जिसे इंग्लैंड में मौजूद राष्ट्रीय टीम आगे पढ़ें »

लगातार सातवीं जीत से रीयाल मैड्रिड ला लिगा खिताब के करीब

मैड्रिड : सर्गियो रामोस के दूसरे हाफ में पेनल्टी पर किये गये गोल की मदद से रीयाल मैड्रिड ने एथलेटिक बिलबाओ को 1-0 से हराकर आगे पढ़ें »

कड़ी मेहनत के बदौलत तेज गेंदबाजी में मजबूत हुआ भारत : गांगुली

टी20 विश्व कप का टलना तय, ऑस्ट्रेलियाई टीम को इंग्लैंड सीरीज के लिये कहा गया

यूएई और श्रीलंका के बाद अब न्यूजीलैंड ने आईपीएल की मेजबानी का ऑफर दिया

गृहमंत्रालय ने कॉलेज और प्रोफेशनल संस्थानों को फाइनल ईयर की परीक्षा कराने को दी मंजूरी

बंगाल में कोरोना का कहर जारी आज फिर आये 800 के पार मामले, 22 की हुई मौत

डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी के सपनों का बंगाल बनाना, उन्हें होगी सच्ची श्रद्धांजलि : राज्यपाल धनखड़

कोलकाता के नजदीक सौर पेड़ से रौशन होंगी पगडंडियां, पार्क

बंगाल में बने ऐप को ममता ने किया पेश कहा – यह देशभक्ति की पहचान

ऊपर