बंगाल सरकार स्कूल पाठ्यक्रम में कर सकती है कोरोना वायरस को शामिल

कोलकाता : पश्चिम बंगाल का शिक्षा विभाग कोविड-19 के बारे में विद्यार्थियों को जागरुक बनाने के प्रयास के तहत 2021 से स्कूल पाठक्रम में घातक वायरस पर एक पाठ शामिल करने पर विचार कर रहा है। पाठक्रम समिति के एक अधिकारी ने कहा कि राज्य शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने हाल ही में कोरोना वायरस की प्रकृति और प्रकोप को रोकने के उपाय के बारे में सूचना के प्रचार-प्रसार का मुद्दा उठाया था। पाठक्रम समिति के प्रमुख अवीक मजूमदार ने  बताया, ‘हम सदस्यों और विशेषज्ञों के बीच इस विषय पर चर्चा का आयोजन कर रहे हैं।’

छोटी से लेकर बड़ी कक्षाओं के पाठक्रम में कोरोना वायरस पर पाठ 

एक अन्य अधिकारी ने बताया कि छोटी से लेकर बड़ी कक्षाओं के पाठक्रम में कोरोना वायरस पर पाठ शामिल करने पर विचार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 प्रकोप के मद्देनजर छोटी कक्षाओं के लिए संक्रमण को रोकने में साफ-सफाई के बुनियादी तरीकों और सुरक्षा उपायों को सीखना तथा बड़ी कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए संक्रामक रोग के प्रकार और उसके म्यूटेंट्स को जानना जरूरी है। मजूमदार ने कहा, ‘पाठ की सटीक समाग्री पर फैसला लेने से पहले शिक्षकों एवं शिक्षाविदों के अलावा हमारे लिए चिकित्सकों, विषाणु वैज्ञानिकों, महामारी विदों के विचार जानना भी जरूरी है।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

आईटी व जीएसटी के छापे से परेशान हैं बंगाल के व्यवसायी

चुनावी माहौल में भाजपा के लिए पड़ सकता है भारी कोलकाता : एक तो लॉकडाउन की मार ऊपर से बिजनेस का ग्राफ डाउन। इसके बाद अब आगे पढ़ें »

सुबह-सुबह पैसे का गिरना या मिलना शुभ होता है या अशुभ, ऐसे पहचानें ये संकेत

कोलकाता : जीवन में पैसे का महत्व किसी से आज के दौर में छिपा नहीं है, ऐसे में आज के दौर में व्यक्ति कठीन से आगे पढ़ें »

ऊपर