बंगाल में सीएए के खिलाफ अवरोध कर रहे लोगों पर बमबाजी व फायरिंग, 2 मरे

मुर्शिदाबाद के जलंगी की घटना
तृणमूल के ब्लॉक अध्यक्ष के खिलाफ एफआईआर
सन्मार्ग संवाददाता
मुर्शिदाबाद / कोलकाता : देश में पहलीबार सीएए के खिलाफ धरना देने वालों पर गोलीबारी हुई तथा इसमें अब तक दो लोगों के मारे जाने की खबर है। घटना मुर्शिदाबाद जिले के जलंगी थानांतर्गत साहेबनगर की है। यहां बुधवार को सीएए के खिलाफ प्रदर्शन और पथावरोध कर रहे लोगों पर असामाजिक तत्वों की बमबाजी और गोलीबारी में 2 लोगों की मौत हो गयी। इस घटना में 4 अन्य गंभीर रूप से घायल हुए हैं। मृतकों के नाम अनारुल विश्वास (65) और सलाउद्ददीन शेख (20) हैं। घायलों में मिजानुर रहमान सहित 4 अन्य का इलाज मुर्शिदाबाद मेडिकल कालेज सह अस्पताल में चल रहा है। इस घटना के बाद रणक्षेत्र बने जलंगी के लोगों को तितर बितर करने के लिए पुलिस को अश्रुगैस के गोले छोड़ने पड़े। इस मामले में तृणमूल के जलंगी ब्लाॅक अध्यक्ष तहिरुद्दीन मंडल के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करायी गयी। वहीं तहिरुद्दीन ने इस प्राथमिकी को राजनीति से प्रेरित बताया है।
ये था पूरा मामला
जिला पुलिस अधीक्षक अजीत सिंह यादव ने बताया कि प्रदर्शन और पथावरोध हटाने की बात पर स्थानीय नागरिकों की कुछ युवकों से बहस हो गयी और वहां जम कर बम और गोलियां चलायी गयीं। उन्होंने बताया कि ‌बुधवार अपराह्न हालात को नियंत्रित कर लिया गया है। स्थानीय लोगों के मुताबिक गैरराजनीतिक लोगों द्वारा गठित भारतीय नागरिक मंच के तत्वावधान में सीएए, एनआरसी और एनपीआर के विरोध में बुधवार को जलंगी के साहेबनगर इलाके में बंद का आह्वान किया गया था। वहां बंद के दौरान मंच के सदस्यों (जिनमें बड़ी संख्या में स्थानीय नागरिक शामिल थे) ने पथावरोध कर दिया। इससे आवागमन पूरी तरह बाधित हो गया था। लगातार 2 घंटे तक सड़क जाम रहने के कारण वहां वाहनों की कतारें खड़ी हो गयी थीं।
तृणमूल की गुटबाजी का आरोप
इस मामले में तृणमूल की गुटबाजी का आरोप सामने आया है। बताया गया कि प्रदर्शन स्थल पर 8-9 युवकों का एक दल आया और पथावरोध कर रहे लोगों से 5 मिनट के अंदर वहां से हटने का अल्टीमेटम दिया। उनके बातचीत के लहजे से आंदोलनकारी क्षुब्ध हो गये और बहस करने लगे और पथावरोध समाप्त करने से भी मना कर दिया। इसके तुरंत बाद ही युवकों ने सीएए के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे आंदोलनकारियों पर पहले बम फेंका और फिर कई गोलियां चलाते हुए वहां से भाग गये। इस घटना में छाती में गोली लगने से अनारुल विश्वास की घटनास्थल पर ही मौत हो गयी जबकि सलाउद्दीन की अस्पताल ले जाते वक्त मौत हो गयी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

क्वारंटाइन में होते हुए, कोरोना को पीढ़ दिखा अस्पताल में एक साथ पढ़ रहे है नमाज

हैदराबाद : दुनियाभर में महामारी का रूप धारण कर चुके कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए देेशभर में 21 दिन के लिए लागू किये आगे पढ़ें »

कोरोना वायरस की वजह से वैश्विक अर्थव्यवस्था में हो सकती है एक प्रतिशत की कमी : संरा

संयुक्त राष्ट्र : कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से दुनियाभर में फैली महामारी के कारण संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि वैश्विक अर्थव्यवस्था 2020 में आगे पढ़ें »

ऊपर