बंगाल में कोरोना वायरस की वजह से दुर्गापूजा की फीकी पड़ सकती है रौनक

कोलकाता : पश्चिम बंगाल का सबसे बड़ा त्यौहार दुर्गा पूजा कोरोना वायरस के आर्थिक प्रभाव के चलते बजट पर असर पड़ने जा रहा है और आयोजकों ने गुरुवार को कहा कि इस बार कॉर्पोरेट विज्ञापनदाता कम हो जाएंगे जिससे आयोजन बड़े पैमाने पर नहीं हो पाएगा। पश्चिम बंगाल का सबसे बड़ा त्यौहार दुर्गा पूजा इस वर्ष अक्टूबर में है।

राज्य में  3,0000 दुर्गा पूजा का होता है आयोजन

कोलकाता और उपनगरों के सामुदायिक दुर्गा पूजा आयोजकों के मंच ‘फोरम फॉर दुर्गोत्सव’ ने कहा कि बड़े आयोजकों को भी बजट में 40 से 50 फीसदी की कटौती करनी पड़ सकती है।फोरम के अध्यक्ष काजल सरकार ने कहा कि ‘पिछले वर्ष आर्थिक नरमी की वजह से कई आयोजकों को बजट कम करना पड़ा था क्योंकि प्रायोजकों की कमी थी। इस साल हालात और खराब हैं।’ कोलकाता में करीब 3,000 दुर्गा पूजा का आयोजन होता है जबकि राज्य में यह आंकड़ा 30,000 है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

मैच फीट के लिए चार चरण में अभ्यास करेंगे भारतीय क्रिकेटर : कोच श्रीधर

नयी दिल्ली : भारत के क्षेत्ररक्षण कोच आर श्रीधर का कहना है कि देश के शीर्ष क्रिकेटरों के लिए चार चरण का अभ्यास कार्यक्रम तैयार आगे पढ़ें »

नस्लभेद के खिलाफ आवाज बुलंद करे आईसीसी : सैमी

नयी दिल्ली : वेस्टइंडीज के पूर्व टी-20 कप्तान डेरेन सैमी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) और अन्य क्रिकेट बोर्डों से नस्लभेद के खिलाफ आवाज बुलंद आगे पढ़ें »

ऊपर