बंगाल में एनपीआर नहीं होने दूंगी – ममता

CM Mamata Banerjee

कोलकाता : बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार को कहा कि भाजपा सरकार का काम केवल लोगों को छलना है। किसी भी हाल में बंगाल में सीएए वापस लेना होगा। मैं इनसे कहती हूं कि एनपीआर वापस लो। एनआरसी वापस लो। सीएए वापस लो। यह काम किसी सरकार का नहीं हो सकता है। इस सरकार को भी वापस जाना होगा। इनकी मनमानी बहुत हो गयी, अब और नहीं।
सीएम ने यह भी साफ कर दिया कि उनकी सरकार राज्य में डिटेंशन सेंटर नहीं बनने देगी। इस दिन विधान सरणी से गांधी भवन तक उन्होंने सीएए व एनआरसी के विरोध में रैली का नेतृत्व किया। सीएम ने सभा मंच से कहा कि डिटेंशन कैम्प का कोई सवाल ही नहीं है। जनता निश्चिंत रहे। बंगाल में कोई डिटेंशन कैंप नहीं होगा। ममता ने कहा असम में जहां भाजपा सत्ता में है, डिटेंशन केंद्र बनाए गए हैं। बंगाल में हम कभी भी ऐसा कोई केंद्र नहीं बनाएंगे। भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि उनके पास काम – धाम कुछ नहीं है। केवल धर्म के नाम पर लोगों में बंटवारा करना चाहती है। बंगाल में सीएए और एनआरसी लागू नहीं होने दूंगी। कोई भी बंगाल छोड़कर नहीं जाएगा।
देश काे बंटने नहीं दूंगी
ममता ने कहा कि हम जो कुछ भी कह रहे हैं वह सार्वजनिक है। बीजेपी ने जो कुछ भी कहा है वह भी पब्लिक के सामने है। भाजपा का मकसद साफ दिख रहा है। ये लोग देश को विभाजित करने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन जब तक मैं जिंदा हूं तब तक बंगाल में सीएए और एनआरसी लागू नहीं होने दूंगी। देश को बंटने नहीं दूंगी। सीएम ने कहा कि इस देश की जनता भाजपा की नौकर नहीं है। जैसा जनता के साथ व्यवहार करेंगे उन्हें भी वैसा ही जवाब मिलेगा और जनता ने उन्हें महाराष्ट्र और झारखंड में जवाब दे दिया है।
जेपी नड्डा पर हमला
नाम लिये बिना जेपी नड्डा पर हमला बोलते हुए सीएम ने कहा कि तृणमूल प्रतिनिधि को लखनऊ में उतरने भी नहीं दिया गया जबकि भाजपा के नेता यहां आकर रैली भी करते हैं। चल नहीं पाते तो गाड़ी से ही टाटा करते हैं। हिम्मत है तो जनता के साथ चलकर दिखाओ। ममता ने कहा कि यहां की पुलिस ने ताे उन्हें कोई बाधा नहीं पहुंचाई। चाहती तो रैली उनकी नहीं भी होने देती मगर हमलोग ऐसा नहीं करते हैं। हमलोग गणतंत्र पर भरोसा रखते हैं।
वे कहते हैं कि मैं केवल वोट बैंक के बारे में चिंता करती हूं। सीएम ने कहा कि किसी को उस पर व्याख्यान नहीं करना चाहिए जो कि उन्होंने किया। हमलोगों ने सबसे पहले मुतआ के लिए सड़क पर उतरा। उन्होंने कहा कि मतुआ 1947 से बड़ी संख्या में बांग्लादेश से बंगाल चले आये थे।
राज्यपाल पर निशाना
नाम लिये बिना राज्यपाल के लॉ एंड ऑर्डर वाले बयान पर सीएम ने कहा कि यहां एक व्यक्ति हैं जिन्हें बंगाल में कुछ अच्छा होता नजर नहीं आता है। हर रोज वे दावा करते हैं कि लोकतांत्रिक आदर्शों के साथ समझौता किया जा रहा है। जब लखनऊ एयरपोर्ट पर टीएमसी प्रतिनिधिमंडल को उतरने नहीं दिया गया तो वह उन्हें नहीं दिखा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

फिल्म ‘गिन्नी वेड्स सनी’ का वेडिंग एल्बम रिलीज

मुंबई : सोनी म्यूजिक इंडिया ने आने वाली फिल्म ‘गिन्नी वेड्स सनी’ का वेडिंग एल्बम रिलीज कर दिया है। सोनी म्यूजिक इंडिया ने साल 2020 आगे पढ़ें »

बाबरी केस में फैसले को हाईकोर्ट में चुनौती देगा ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड

लखनऊ : बाबरी विध्वंस मामले में सीबीआई की विशेष अदालत के फैसले को गलत ठहराते हुए ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सदस्य ज़फरयाब आगे पढ़ें »

ऊपर