बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने विधायकों, मंत्रियों से की वेतन में 30 फीसदी कटौती की अपील

कोलकाता : कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के ​लिए लॉगू 21 दिन के लॉकडाउन के बीच पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने कोरोना वायरस (कोविड-19) के संकट के मद्देनजर राज्य के विधायकों एवं मंत्रियों से अगले एक वर्ष तक अपने-अपने वेतन में 30 प्रतिशत कटौती कराने की अपील की है।
धनखड़ ने मंगलवार को ट्वीट कर कहा, ‘कोविड-19 से निपटने में सरकार के प्रयासों में मदद करने के लिए राज्य के विधायकों एवं मंत्रियों से एक साल तक अपने वेतनों में 30 प्रतिशत तक की कटौती कराने की अपील करता हूं।’ उन्होंने कहा, ‘कोरोना से निपटने के लिए प्रधानमंत्री, केंद्रीय मंत्रियों एवं सांसदों ने एक साल तक अपने वेतन में 30 प्रतिशत तक कटौती करने का निर्णय लिया है।’ उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति, उप राष्ट्रपति और सभी राज्यपालों ने भी स्वेच्छा से एक वर्ष तक अपने वेतन में 30 फीसदी की कमी करने का अनुरोध किया है।
स्वास्थ्य संसाधन जुटाने में होगा राशि का उपयोग
कोरोना महामारी के कारण उत्पन्न असाधारण परिस्थिति से निपटने के लिए संसाधन जुटाने के उद्देश्य से सरकार ने प्रधानमंत्री सहित सभी सांसदों के वेतन में एक साल तक 30 फीसदी की कमी करने के लिए सोमवार को एक अध्यादेश को मंजूरी दे दी। इसके साथ ही सांसद निधि को दो वर्ष के लिए स्थगित कर इसकी राशि को भी देश के कंसोलिडेटेड फंड में रखने का निर्णय लिया गया है। कोरोना वायरस के कारण उपजे संकट से लड़ने के लिए स्वास्थ्य संसाधन जुटाने में इस राशि का उपयोग किया जाएगा जो 7900 करोड़ रुपये के बराबर होगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बंगाल चुनाव में कन्हैया कर सकते हैं प्रचार, ओईशी बनेंगी उम्मीदवार

कोलकाता : विधानसभा चुनाव की तैयारियां सभी राजनीतिक पार्टियां कमर कसकर कर रही हैं। एक तरफ तृणमूल तो दूसरी ओर भाजपा के बीच इस बार आगे पढ़ें »

तृणमूल के घोषणापत्र पर टिकीं निगाहें

कोलकाता : तृणमूल कांग्रेस इस बार बहुत ही सोच-समझकर अपना घोषणापत्र जारी कर सकती है। सूत्रों के मुताबिक आज मंगलवार को तृणमूल का घोषणापत्र जारी आगे पढ़ें »

ऊपर