फॉस्टैग को लेकर बंगाल में संशय

कोलकाताः केंद्र सरकार ने 1 दिसंबर 2019 से नेशनल हाईवे के टोल प्लाजा से गुजरने वाले सभी वाहनों पर फास्टैग लगाना अनिवार्य कर दिया है। हालांकि इस नियम को लेकर राज्य में जागरूरकता का अभाव देखा जा रहा है। साथ ही साथ लोग काफी संशय में हैं। वाहन मालिकों से लेकर परिवहन विभाग तक इस पर बेखबर है। वहीं दूसरी ओर नेशनल हाईवे से यदि आप वाहन लेकर गुजरते हैं तो टोल टैक्स फास्टैग से नहीं कटने पर आपको दुगुना टोल देना पड़ सकता है। फास्टैग इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन तकनीक है जो कि नेशनल हाईवे के टोल प्लाजा पर उपलब्ध है। यह तकनीक रेडियो ​फ्रिक्वेंसी आइडेन्टिफिकेशन के प्रिंसिपल पर काम कर रही है। इस टैग को वाहन के विंडस्क्रीन पर लगाया जा रहा है। इससे टोल प्लाजा पर मौजूद सेंसर इसे रीड कर लेगा। ऐसे में जब आप वाहन को लेकर टोल प्लाजा पर पहुंचेंगे तो फास्टैग लेन से गुजरने पर ऑटोमैटिक रूप से टोल चार्ज कट जाएगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बेटी को ढूंढने के लिए पुलिस ने मांगे एक लाख, पिता ने लगा ली फांसी

उत्तर प्रदेश : उत्तर प्रदेश में कानून की स्थिति का आप अंदाजा इसी बात से लगा सकते हैं कि एक बाप अपनी बेटी को ढूंढने आगे पढ़ें »

रद्द की जाए CBSE की परीक्षा : केजरीवाल

नई दिल्ली : देश में कोरोना वायरस के आंकड़ों में बढ़ोतरी होना बदस्तूर जारी है। राजधानी दिल्ली भी एक बार फिर कोरोना महामारी की चपेट आगे पढ़ें »

ऊपर