फिर नहीं मिला हेलिकॉप्टर, राज्यपाल सड़क मार्ग से जाएंगे मुर्शिदाबाद

Bengal new Rajypal

कोलकाता : राजभवन और राज्य सरकार के बीच चल रही खींचतान में हेलिकॉप्टर विवाद तुल पकड़ता जा रहा है। एक बार फिर राज्यपाल जगदीप धनखड़ के हेलिकॉप्टर की मांग को सरकार ने स्वीकार नहीं किया। कहा गया है कि हेलिकॉप्टर उपलब्ध नहीं है। ऐसे में राज्यपाल 500 कि.मी. सड़क यात्रा तय करके कल मुर्शिदाबाद जाएंगे। राज्यपाल 5 दिनों में मुर्शिदाबाद यह दूसरी बार जा रहे हैं। इस बार माकपा विधायक ने उन्हें आमंत्रित किया है।
मंगलवार को राजभवन से जारी प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि 20 नवंबर को राज्यपाल सुबह 6 बजे सड़क मार्ग से मुर्शिदाबाद के लिए रवाना होंगे। जिले के डोमकल गर्ल्स कॉलेज में आयोजित कार्यक्रम में वे शामिल होंगे जहां कॉलेज के नवनिर्मित भवन का उद्घाटन करेंगे। राज्यपाल को पूर्व मंत्री तथा वर्तमान में विधायक अनिसुर रहमान ने आमंत्रित किया है। डोमकल की अपनी यात्रा के दौरान राज्यपाल सुबह 9 बजे कृष्णनगर सर्किट हाउस में पहुचेंगे। डोमकल में राज्यपाल का कार्यक्रम दोपहर 12.30 से 1.30 बजे के बीच में होगा।
वापसी में राज्यपाल रानाघाट एसडीओ गेस्ट हाउस में शाम करीब 4.45 बजे ठहरेंगे। राज्यपाल के 500 कि.मी. यात्रा को देखते हुए राज्य सरकार से हेलिकॉप्टर उपलब्ध कराने का आवेदन किया गया लेकिन राज्य सरकार की तरफ से जवाब में कहा गया कि हेलिकॉप्टर उपलब्ध नहीं है।
उल्लेखनीय है कि इससे पहले फरक्का के एक कॉलेज के कार्यक्रम में जाने के लिए राजभवन की ओर से राज्य सरकार से हेलिकॉप्टर की मांग की गयी थी। समय पर जवाब नहीं मिलने के बाद सीएम को पत्र लिखने की बात कही गयी। बाद में राजभवन से कहा गया कि सरकार की तरफ से जवाब का हम इंतजार करते रह गये। फरक्का यात्रा के दौरान राज्यपाल ने कहा था कि सीएम द्वारा दी गयी चिट्ठी का जवाब वे 24 घंटे के भीतर देते हैं जबकि उनकी तरफ से ऐसा नहीं हुआ। वहीं तृणमूल की वरिष्ठ नेता चंद्रिमा भट्टाचार्य ने राज्यपाल के हेलिकॉप्टर की मांग पर सवाल खड़ा किया था और कहा था कि एक कॉलेज के कार्यक्रम में जाने के लिए उन्हें हेलिकॉप्टर की क्या जरूरत है ?

शेयर करें

मुख्य समाचार

कोविड-19 : रीजिजू ने खिलाड़ियों को व्यस्त रखने की पहल की समीक्षा की

नयी दिल्ली : खेल मंत्री किरेन रीजीजू ने कोविड-19 महामारी के कारण 21 दिन के लॉकडाउन (राष्ट्रव्यापी बंद) के मद्देनजर मंत्रालय और भारतीय खेल प्राधिकरण आगे पढ़ें »

प्रतिभा तलाशना मेरा काम था, युवा विराट कोहली में गजब की प्रतिभा थी : वेंगसरकर

नयी दिल्ली : दिलीप वेंगसरकर को प्रतिभाओं को तलाशने के मामले में भारत के सबसे अच्छे चयनकर्ताओं में से एक माना जाता है जिन्होंने पहली आगे पढ़ें »

ऊपर