फर्जी वैक्सीनेशन ड्राइव लगाने वाले गिरोह का पर्दाफाश, सांसद मिमी को भी लगा दी सुई

केएमसी के फर्जी ज्वाइंट कमिश्नर बन कर लगवाया हजारों लोगों को ‘वैक्सीन’
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : महानगर में फर्जी वैक्सीनेशन। वह भी निगम के नाम पर। फर्जी वैक्सीनेशन कैम्प चलाने वाले केएमसी के फर्जी ज्वाइंट कमिश्नर व फर्जी आईएएस अधिकारी देबांजन देव (28) को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इस फर्जीवाड़े का शिकार खुद सांसद मिमी चक्रवर्ती भी हुई हैं। उन्होंने भी इनके शिविर में वैक्सीन लगवायी थी। मिमि चक्रवर्ती ने पुलिस को बताया क जब उन्हें कोविन ऐप से वैक्सीन लगा लेने का मैसेज नहीं मिला तब उन्हें शक हुआ। कैंप के अधिकारियों को फोन करने पर उनकी ओर से सही जवाब न मिलने के कारण उनका शक यकीन में बदल गया। शिकायत दर्ज होने के बाद बुधवार को कस्बा थानातंर्गत राज डांगा मेन रोड से अभियुक्त को गिरफ्तार किया गया। उसके यहां से निली बिकाॅन लगी कार तथा फर्जी आईडी कार्ड भी जब्त किया गया है। इस बारे में कोलकाता पुलिस के डीसी जादवपुर, राशिद मुनीर खान ने बताया कि कस्बा के राजडांगा इलाके के 107 नो. वार्ड में गत मंगलवार को वैक्सीनेशन कैम्प का आयोजन किया गया था। शिकायत के आधार पर जब टीम वहां पर पहुंची तो शिविर के बाहर एक नीले रंग का बिकॉन लगी कार दिखाई दी। जिसमें विंड शील्ड के आगे बोनट पर और पीछे विंड शील्ड पर पश्चिम बंगाल सरकार के लोगो वाला झंडा भी लगा रखा था। वहां लोग कतार में बाहर खड़े थे। प्रशासन ने तुरंत कार्रवाई की और टीकाकरण शिविर बंद करवाया। यूको बैंक बिल्डिंग के दूसरे तल पर स्थित उसके दफ्तर से कुछ दस्तावेज बरामद किये गये। इनमें खुद को कोलकाता नगर निगम का ज्वाइंट कमिश्नर बताने वाला पहचान पत्र, विजिटिंग कार्ड, स्वास्थ्य भवन से करोना वैक्सीन की मांग करने वाले दस्तावेज शामिल हैं। इतना ही नहीं, उसके बैग से कथित तौर पर कोलकाता नगर निगम के ज्वाइंट कमिश्नर के रूप में उसके द्वारा किये गये कार्यों की पेपर कटिंग भी मिले हैं। गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने उसे कोर्ट में पेश किया जहां से 6 दिनों की पुलिस हिरासत में उसे लिया गया है।
मिमि के साथ ऐसे हुआ धोखा
सांसद व बांग्ला फिल्मजगत की अदाकारा मिमि चक्रवर्ती ने कहा कि मुझसे एक ऐसे व्यक्ति ने संपर्क किया जिसने अपना परिचय एक आईएएस अधिकारी के रूप में दिया और कहा कि वह ट्रांसजेंडर और विशेष रूप से विकलांग व्यक्तियों के लिए एक विशेष अभियान चला रहा है और उसने मुझसे इस अभियान के दौरान उपस्थित रहने के लिए अनुरोध किया। उन्होंने कहा कि मैंने लोगों को टीका लगवाने के लिए प्रेरित करने के लिए शिविर में कोविशील्ड वैक्सीन लिया लेकिन मुझे कोविन एप से कोई पुष्टिकरण संदेश कभी नहीं मिला। उन लोगों को फोन करने पर मुझसे कहा गया कि थोड़ी देर में मेरे मोबाइल फोन पर सर्टिफिकेट आ जाएगा लेकिन कई घंटे बाद मिमी की सहायक ने कैंप के आयोजकों से सर्टिफिकेट नहीं मिलने को लेकर सवाल किया तो आयोजकों ने कोई सही जवाब नहीं दिया। सांसद ने इसके बाद कस्बा थाने से संपर्क किया।
10 दिनों से चल रहा था फर्जी वैक्सीनेशन ड्राइव
पिछले 10 दिनों से आम लोगों को इस तरह से बेवकूफ बना रहा था। इतने लंबे समय तक इतने एंटीडोट्स लेने का किसी को कोई सर्टिफिकेट नहीं मिला है। कोलकाता के बीचोंबीच ही फर्जी कोविड वैक्सीन ड्राइव देख मिमी हैरान रह गईं। साथ ही उन्होंने सभी शहरवासियों को अलर्ट कर दिया है। उन्होंने यह भी सवाल उठाया कि क्या यह कोविशील्ड वैक्सीन सही है या यह भी फर्जी ही है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि कोविशिल्ड के नाम पर लोगों के शरीर में पता नहीं क्या इंजेक्शन दिया गया। वह पिछले 10 दिनों से स्थानीय यूको बैंक भवन की दूसरी मंजिल पर कैंप का संचालन कर रहा था। इस बारे में सवाल यह भी उठाया गया है कि एक स्थान पर फर्जी वैक्सीन कैंप चल रहा था और इसकी खबर किसी को नहीं थी।
कैंप में लगभग 7000 वैक्सीन दिया गया
उक्त वैक्सीन को पुलिस की ओर से लैंब में टेस्टिंग में भेजा गया है। अभियुक्त ने पूछताछ में बताया कि उक्त वैक्सीन को बागरी मार्केट से खरीदा गया था। अब तक इस फर्जी वैक्सीनेशन कार्यक्रम में 7000 वैक्सीन दिये जा चुके थे। इस बारे में पुलिस की ओर से कहा गया है कि पहले इन वैक्सीन की टेस्टिंग की जाएगी। इसके बाद इसके नकली होने पर उन सभी लोगों को दुबारा वैक्सीन लेने के लिए कहा जाएगा। वहीं कोलकाता नगर निगम के प्रशासक फिरहाद हकीम ने कहा कि इसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।
आईएएस की परीक्षा में हुआ फेल तो बन गया ‘420 आईएएस’
देबांजन के बैकग्राउंड के बारे में पुलिस की टीम को पता चली है कि वह कई बार आईएएस की परीक्षा में बैठ चुका है लेकिन बार-बार फेल होने के कारण वह अब ‘420 आईएएस’ बन गया था। उसके पिता डिप्टी एक्साइज कलेक्टर पद से 2011 में रिटायर्ड हुए थे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

महानगरः एक सप्ताह में बिना मास्क पहने घूम रहे 1278 लोगों पर हुई कार्रवाई

सड़क पर थूकने के आरोप में 65 लोगों का कटा चालान सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : बीते एक सप्ताह में महानगर की सड़कों पर ब‌िना मास्क पहने हुए आगे पढ़ें »

ऊपर