प्राकृतिक आपदा पर राजनीति न हो – धनखड़

चक्रवात प्रभावित इलाकों के हालात की करेंगे समीक्षा
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : राज्य सरकार और राज्यपाल के बीच गतिरोध थमने का नाम नहीं ले रहा है। इसी बीच राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने गुरुवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की उस अपील पर सहमति जताई जिसमें उन्होंने कहा था कि ‘बुलबुल’ तूफान से प्रभावितों को राहत सामग्री बांटने में राजनीति नहीं होनी चाहिए। पंडित जवाहर लाल नेहरू के जन्मदिवस पर उनकी प्रतिमा पर माल्यर्पण करने पहुंचे राज्यपाल ने कहा कि वह तूफान प्रभावित इलाकों के हालात की समीक्षा करेंगे और इसके बाद फैसला करेंगे कि वहां का दौरा करना है या नहीं। पत्रकारों को संबोधित करते हुए राज्यपाल ने कहा कि ‘सभी एजेंसियां काम कर रही हैं। मैं मानता हूं कि यह समय है जब सभी एजेंसियों को आगे आना चाहिए, सरकार और गैर सरकारी संगठनों को इन लागों के लिए आगे आना चाहिए, जिन्होंने तूफान में अपनी संपत्ति या अपनों को खोया है। मैं सभी के साथ हूं। मैं राजनीति नहीं चाहता।’ आगे उन्होंने कहा कि मैं लोगों का आह्वान करूंगा कि वे राजनीति नहीं करें क्योंकि जिस क्षण आप शासन में राजनीति को शामिल करते हैं तो यह लोकतंत्र के ताने-बाने को नुकसान पहुंचाती हैं। राज्यपाल की प्रतिक्रिया केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो के दक्षिण 24 परगना में हुए भारी विरोध के एक दिन बाद आई है। सुप्रियो बुधवार को तूफान से तबाही का जायजा लेने गए थे जहां पर लोगों के समूह ने मंत्री वापस जाओ के नारे लगाए। सुप्रियो ने विरोध करने वालों को सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस का कार्यकर्ता बताया था। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को प्रभावित बशीरहाट जिले में प्रशासनिक अधिकारियों से की गई समीक्षा बैठक के बाद लोगों से सकारात्मक रहने और मदद में राजनीति नहीं करने की अपील की थी।
इस दिन राज्यपाल ने पार्क स्ट्रीट व जवाहरलाल नेहरू रोड क्रासिंग स्थित नेहरू जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। इस दौरान उनकी धर्म पत्नी सुदेश धनखड़ भी मौजूद थीं। कार्यक्रम में काफी संख्या में बच्चों सहित अन्य लोगों ने हिस्सा लिया। इस मौके पर विधानसभा में विपक्ष के नेता अब्दुल मन्नान, साद्दाब खान व अन्य कई उपस्थित थे। राज्यपाल ने पुष्प अर्पित करने के बाद वहां मौजूद लोगों को संबोधित किया और बाल दिवस पर बच्चों को शुभकामनाएं दीं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सितम्बर तक कैसे संभव होंगी परीक्षाएं, राज्य ने दी केंद्र को चिट्ठी

कोलकाता : सितम्बर महीने तक सभी कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में परीक्षाएं आयोजित करवाने को लेकर यूजीसी के गाइडलाइन पर राज्य ने केंद्र सरकार को चिट्ठी आगे पढ़ें »

कोरोना की उत्पत्ति का पता लगाने चीन जाएंगे डब्ल्यूएचओ के विशेषज्ञ

बीजिंग : विश्व स्वास्थ्य संगठन के दो विशेषज्ञ कोविड-19 वैश्विक महामारी की उत्पत्ति का पता लगाने के एक बड़े अभियान के तहत जमीनी काम पूरा आगे पढ़ें »

ऊपर