पुनर्वासन की पूरी जिम्मेदारी ले केएमआरसीएल : मुख्यमंत्री

कोलकाता : बहूबाजार पीड़ितों का साथ देते हुए मंगलवार को सीएम ममता बनर्जी ने केएमआरसीएल को पुनर्वासन की पूरी जिम्मेदारी लेने का अनुरोध किया। घर के बदले घर तथा दुकान के बदले दुकान देने की बात सीएम ने केएमआरसीएल के अधिकारियों से कही साथ ही प्रभावित परिवारों को 5 लाख रु. देकर सहायता करने का भी सीएम ने उनलोगों से अनुरोध किया। बहूबाजार को लेकर सीएम ने इस दिन नवान्न में केएमआरसीएल के अधिकारियों, मेट्रो रेल के अधिकारियों, मेयर, स्थानीय सांसद, विधायक, सीपी के साथ अहम बैठक की। बैठक के बाद संवाददाताओं से सीएम ने कहा कि बहूबाजार घटना एक विपद है। यह समय किसी की गलती निकालने की नहीं है बल्कि पीड़ित लोगों की मदद करने की है। हमलोग केएमआरसीएल को सहायता करेंगे। कुछ लोग तो ऐसे भी हैं जिनके पास एक कपड़ा तक नहीं है। काफी दुख की बात है। उन्हें जीवनयापन की जरूरी सेवा के लिए 5 लाख रुपये केएमआरसीएल की तरफ से दिये जाएं। सीएम ने कहा कि जेम्स सिनेमा के पास केएमआरसीएल का आवासन है। वहां भी चाहे तो कुछ लोगों को शिफ्ट किया जा सकता है। रहा सवाल लोगों के सामानों का तो क्षतिग्रस्त क्षेत्रों से सामानों की चोरी न हो इसके लिए सीसीटीवी लगाकर​ निगरानी की जाएगी। अभी तक 52 पारिवारों को स्थानांतरित किया गया है। जब तक कि लोगों का मकान नहीं तैयार हो जाता तब तक भाड़े के मकान में रहने की जिम्मेदारी केएमआरसीएल को लेनी होगी। इसके अलावा एक परिवार के घर में बेटी की शादी है। उसकी सहायता के लिए राज्य सरकार की तरफ से 5 लाख तथा मेट्रो की तरफ से 5 लाख की सहायता की बात उन्होंने कही।
केएमआरसीएल के एमडी मानस सरकार ने कहा कि सभी मांगों पर पहले ही हमलोगों ने गौर किया है मगर आपातकालीन सहायता का फैसला हमारे अकेले का नहीं होगा। इस पर बोर्ड ऑफ डायरेर्क्टर्स में चर्चा करनी होगी। इसके बाद सीएम ने एक बार फिर कहा कि यह आपलोगों को देखना ही होगा। इस वक्त उनलोगों के पास कुछ भी नहीं है। परिवारों ने अचानक सब खोया है, मानविकता के लिए ही ऐसा करना होगा। वहीं मानस सरकारने कहा कि पहले भी हमलोगों ने इस तरह का काम किया है मगर कहीं भी ऐसी घटना नहीं घटी, अब यह मशीन के कारण हुई या फिर कुछ और यह बाद में पता चलेगा।
बहूबाजार पीड़ित के लिए राज्य की तरफ से मुख्य मांगें
1. घर के बदले घर, दुकान के बदले दुकान।
2. जितने दिनों तक घर नहीं तैयार हो रहा है तब तक इन परिवारों का दायित्व केएमआरसीएल को ही लेना होगा।
3. यदि कोई परिवार अन्य किसी जगह पर रहना चाहे तो उसकी भी व्यवस्था केएमआरसीएल करे।
4. शील परिवार में एक लड़की की शादी है। उसकी सहायता राज्य व केएमआरसीएल दोनों करें।
कोर ग्रुप तैयार किया
इस दिन मुख्य सचिव मलये दे के नेतृत्व में एक कोर ग्रुप तैयार किया गया। यह ग्रुप समय – समय पर इन कामाें की जानकारी लेगा। उनके राशन कार्ड से लेकर सरकारी दस्तावेजों के लिए जो भी मदद होगी ग्रुप करेगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सन्मार्ग एक्सक्लूसिव :आर्थिक पैकेज से हर वर्ग को राहत, न अन्न की कमी, न धन की : ठाकुर

 विशेष संवाददाता, कोलकाता : कोविड-19 संकट के आघात से देश और देश की अर्थव्यवस्था को उबारने के लिए केंद्र सरकार हरसंभव कोशिश कर रही है। आगे पढ़ें »

trump

प्रदर्शनकारियों पर हमले के मामले में ट्रंप पर मुकदमा

वाशिंगटन : अमेरिकी राष्ट्रपति कार्यालय ‘व्हाइट हाउस’ के बाहर प्रदर्शनकारियों को जबरन हटाने के कारण अमेरिका की संघीय अदालत में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ आगे पढ़ें »

लॉकडाउन के दौरान इंस्टाग्राम से कमाई करने वाले खिलाड़ियों की सूची में कोहली एकमात्र क्रिकेटर

केंद्र और राज्यों को प्रवासियों को उनके घर पहुंचाने के लिए 15 दिन और : सुप्रीम कोर्ट

गर्मियों में तरबूज खाने के हैं कई फायदें और नुकसान, पढ़ें

क्या छूने से कोरोना वायरस संक्रमण फैल सकता है : कोर्ट

इन किरदारों को निभाकर मुझे बहुत अनुभव मिलता है : पाओली दाम

बंगाल में हरियाली लाने के लिए सभी को एकजुट होना होगा: ममता

स्कूल खुलने के नाम से ही सहम जा रहे हैं छोटे बच्चों के अभिभावक

डॉक्टर प्रिसक्रिप्शन के बाद ही होगा कोविड-19 का टेस्ट

10 से बांग्ला सीरियलों की शूटिंग शुरू, 15 से होगा ब्राॅडकास्ट

ऊपर