पार्षद रह चुके सेल के एक चपरासी ने बनाये 1.38 करोड़

कोलकाता : सीबीआई की टीम उस वक्त भौचक्की रह गयी जब पूर्व पार्षद तथा सेल, बर्नपुर के सुरक्षा विभाग में काम करने वाले एक चपरासी के आवास से 1.38 करोड़ की संपत्ति का पता चला। सीबीआई सूत्रों के मुताबिक बर्नपुर स्थित सेल में अटेंडेंट कम असिस्टेंट (टेक्निकल) के पद पर काम करने वाले कपिल मंडल के खिलाफ सीबीआई की टीम ने आय से अधिक संपत्ति का मामला दर्ज कर बुधवार को उसके आवास पर तलाशी अभियान चलाया। वह कुल्टी क्षेत्र का पूर्व पार्षद कपिल मंडल है। कुल्टी स्थित उसके आवास से छापामारी के दौरान 10 लाख रुपये नकद तथा एक पिस्तौल व 6 कारतूस भी जब्त किये गये हैं। वहीं इलाके के एक होटल में भी छापामारी की गयी। सीबीआई की टीम ने अभियुक्त के अलावा उसकी पत्नी छंदा मंडल तथा बेटे एस. एस. मंडल को अभियुक्त बनाया है क्योंकि करोड़ों की जायदाद में कुछ संपत्ति उन लोगों के भी नाम भी है। आरोप है कि वर्ष 2009 से जनवरी 2017 के बीच इस संपत्ति को बनाया गया है। पश्चिम बर्दवान जिले के रामनगर स्थित सेल के कोलियरी डिविजन के सिक्युरिटी विभाग में कार्यरत उक्त चपरासी की आय व संपत्ति में एक बड़ा अंतर देखा गया। सूत्रों के मुताबिक कपिल मंडल ने वर्ष 1982 के 22 दिसंबर से सेल में काम करना शुरू किया था तब उसकी संपत्ति 4.80 लाख रुपये थी जो कि वर्ष 2009 से 2017 के बीच इतनी ज्यादा बढ़ गयी कि करोड़ रुपयों को छू लिया। इस दौरान देखा गया कि इस अवधि में उनकी संपत्ति में करीब 23.13 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। सीबीआई की टीम पता लगा रही है कि उसके पास इतने रुपये आये कहां से।

क्या हुआ बरामद

एक 9 एमएम पिस्टल, 6 कारतूस एवं 10 लाख रुपये नकद के अलावा जमीन की खरीद बिक्री से संबंधित भारी मात्रा में जमीन के कागजात जब्त किये गये हैं। सीबीआई द्वारा की गई छापामारी से सेल के अंतर्गत रामनगर कोलियरी के कई अधिकारियों एवं कर्मचारियों में हड़कंप मचा हुआ है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

टोक्‍यों ओलंपिक में खिलाड़ियों का पूरा समर्थन करेगा देश : कोविंद

नयी दिल्ली : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शनिवार को कहा कि 24 जुलाई से नौ अगस्त तक आयोजित 2020 टोक्यो ओलंपिक में देश का प्रतिनिधित्व आगे पढ़ें »

बुकर पुरस्कार विजेता जोखा अल हार्सी पहुंचीं जयपुर साहित्य महोत्सव में, लेखन चुनौतियों का जिक्र किया

जयपुरः ओमान की लेखिका एवं बुकर पुरस्कार विजेता जोखा अल हार्सी के लिए लेखन का सबसे दिलचस्प और चुनौतीपूर्ण पहलू समाज में मौजूद अनसुनी और आगे पढ़ें »

ऊपर