पटरी पर लौट रही तेलिनीपाड़ा में जिंदगी

सन्मार्ग संवाददाता ,हुगली : चंद दिन पहले की बात है जब तेलिनीपाड़ा उबाल पर था। कई लोगों के घर तोड़ दिये गए, जलाए गए, दहशत ऐसी थी कि इलाके के लोग अपने घरों को छोड़ दूसरी जगह आश्रय खोजने निकल पड़े। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए प्रशासन ने पूरे जिले में इंटरनेट परि सेवा बंद कर दी। मगर आज स्थिति सामान्य की ओर है। मानो जिंदगी पटरी पर लौट रही हो। लोग शांति चाह रहे हैं। लोग समय अपनों के साथ अपने घर में बिताना चाह
रहे हैं।
सभी शांति चाहते हैं
चंपदानी के चेयरमैन सुरेश मिश्रा ने बताया कि तेलिनीपाड़ा के करीब ही चांपदानी हैं, वहां के कई लोगों का यहां आना जाना लगा रहता है। जिस तरह तेलिनीपाड़ा जल रहा था, उसमें डरे, सहमे कई लोग अपना ठिकाना बदल कर यहां भी आए। आज सभी यहां भाईचारे के साथ रहते हैं। यहां न तो हिंदू कोई ना कोई मुस्लिम यहां सब भाई भाई है। प्रशासन भी इसके लिए तत्पर तरीके से प्रयास कर रहा है।
41 लोग गिरफ्तार, स्थिति सामान्य
सीपी डाक्टर हुमायूं कबीर ने बताया कि इस मामले में अब तक 41 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। और भी लोगों की तलाश की जा रही है। इंटरनेट सेवा भी चालू कर दी गई है मगर फेक न्यूज और असंवेदनशील स्थिति न बने उस पर नजर बनी हुई है।
बाहरी लोगों ने मचाया उत्पात ?
आखिर किसने शांत तेलिनीपाड़ा में उत्पात मचाया यह बड़ा सवाल है। सुरेश मिश्रा ने बताया कि कुछ बाहरी लोगों ने यहां लाकर जानबूझकर शांत तेलिनीपाड़ा को अशांत किया। बहरहाल कारण जो भी हो, इस अशांति का खामियाजा उन गरीब और बेकसूरों को भुगतना पड़ा जिनका इस मामले से दूर – दूर तक कोई सरोकार नहीं था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

प्रवासी मजूदर हमारे अपने, कोरोना के वाहक नहीं : धनखड़

कोलकाता : पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने प्रवासी मजूदरों को कोरोना वायरस (कोविड 19) के वाहक के रूप में निरुपति किये जाने पर आगे पढ़ें »

कोरोना संकट के दौरान दुनिया के कई देशों की तुलना में बेहतर स्थिति में है भारत: गोयल

नई दिल्ली : लॉकडाउन अवधि के दौरान देश ने खुद को कोविड-19 महामारी से लड़ने तथा क्षमता निर्माण के लिए तैयार किया। सुरक्षा उपकरणों (जैसेकि आगे पढ़ें »

ऊपर