नये साल की शुरूआत में ही लोगों को मिल सकता है नया टाला ब्रिज

* दिनरात चल रहा है काम
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : नये साल की शुरूआत में ही लोगों के लिए बड़ा तोहफा मिलने जा रहा है। उत्तर कोलकाता और उत्तर 24 परगना के लोगों के लिए लाइफ लाइन टाला ब्रिज पूरी तरह से तैयार होने जा रहा है। उम्मीद जतायी जा रही है कि दो महीनों में टाला ब्रिज तैयार हो जायेगा और लोगों के लिए इसे चालू कर दिया जायेगा। पीडब्ल्यूडी विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने सन्मार्ग को बताया कि टाला ब्रिज को लेकर दिन रात काम चल रहा है। कोविड काल के बावजूद काम पर असर नहीं हुआ है। उम्मीद करते हैं कि समय पर इस ब्रिज को चालू कर दिया जायेगा। जैसा कि ब्रिज का कुछ हिस्सा रेल लाइन पर है, इसके लिए रेल से अनुमति लेने की आवश्यकता हाेती है। 9 दिसंबर को रेल की तरफ से अनुमति (सीआरएस) मिल गयी। इसके बाद से ही टाला ब्रिज का काम तेजी से चल रहा है। ब्रिज तैयार का अनुमानिक खर्च करीब 465 करोड़ रुपये है। जारी प्रेस रिलीज में कहा गया है कि टाला ब्रिज पर चल रहे रेलवे ट्रैक के उपर मुख्य पियर्स पर गर्डरों/निर्माण कार्य कोविड की चुनौतियों के बावजूद दिन-रात चल रहा है। पिछले छह महीनों से पीडब्ल्यूडी द्वारा लगातार निगरानी के बाद सीआरएस की बाधाओं को 9 दिसंबर 2021 को ही मंजूरी प्राप्त किया जा सका। ज्ञात हो कि माझेरहाट ब्रिज के ढहने के बाद से ही राज्य सरकार ने शहर के विभिन्न ब्रिज के हेल्थ चेक अप की जा रही है। इसी के तरह टाला ब्रिज का हेल्थ चेकअप किया गया जिसमें पाया गया कि इस ब्रिज की हालत काफी खराब है। इसे तोड़कर बनाना होगा। इसके बाद 2020 में 31 जनवरी की रात से टाला ब्रिज को बंद कर दिया गया और उसे तोड़ने का काम शुरू किया गया। 2020 के अगस्त से नया टाला ब्रिज का काम शुरू किया गया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

‘राज्य में स्कूल – कॉलेज खुलने का मुख्यमंत्री लेंगी फैसला’

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य में कब स्कूल - कॉलेज खुलेंगे, इस पर चारों ओर से मांग उठने लगी है। इस पर फैसला राज्य की सीएम आगे पढ़ें »

किचन में भूलकर भी ना रखें ये सामान, वरना आर्थिक तंगी से तबाह हो जाएगी जिंदगी

बीमार पड़ रहा है कोलकाता का ‘फेफड़ा’ मैदान !

मंगलवार के दिन ही क्यों की जाती है बजरंगबली की पूजा, व्रत कब से करें शुरु, जानें नियम

तो क्या कोविड पैंडेमिक एब एंडेमिक की ओर!

विक्षुब्धों की बात रखने दिल्ली जाएंगे केंद्रीय मंत्री शांतनु ठाकुर, मिलेंगे नड्डा से

भाटपाड़ा में परिस्थिति स्वाभाविक, दोनों पक्षों ने की थाने में शिकायत दर्ज

हाई कोर्ट ने खारिज की नेताजी के टैबलो से जुड़ी पीआईएल

बागुईआटीः इधर बज रही थी शहनाई उधर पसरा मातम

सड़कों पर बेफिक्र होकर घूमने लगे लोग, लेकिन कोविड से मरने वालों का आंकड़ा अब भी डरा रहा, आज एक दिन में…

ऊपर