दो निजी अस्पतालों पर 10-10 हजार का जुर्माना

 

कोलकाताः द वेस्ट बंगाल क्लिनिकल इस्टेब्लिशमेंट रेग्युलेटरी कमिशन (डब्ल्यूबीसीईआरसी) के चेयरमैन जस्टिस असीम कुमार बनर्जी ने सोमवार को कई मामलों पर वर्चुअल सुनवाई की। इस दौरान उन्होंने कई मामलों में आवश्यक फैसले भी सुनाए। सिलीगुड़ी के एक निजी हॉस्पिटल में 64 साल के एक अवकाश प्राप्त बैंक अधिकारी को इलाज के लिए लेकर परिजन पहुंचे थे। आरोप है कि यहां बेड खाली नहीं होने का हवाला देकर मरीज को भर्ती नहीं लिया गया। बाद में अन्य अस्पताल में लेकर जाने पर मरीज की मौत हो गई। इस मामले को लेकर परिजनों ने हेल्थ कमिशन में मामला किया था।

बेड खाली न होने पर अस्पताल अन्य अस्पताल में करें व्यवस्था

इस पर असीम कुमार बनर्जी ने कहा कि यदि अस्पतालों में मरीज के पहुंचने पर बेड खाली न हो तो अन्य अस्पतालों में बेड की व्यवस्था की जिम्मेवारी अस्पताल लें। ऐसी शिकायतें कई बार हेल्थ कमिशन में पहुंच रही हैं। दूसरी तरफ साल्टलेक के एक निजी हॉस्पिटल पर एक डॉक्टर ने अपने मां व पिता की चिकित्सा परिसेवा में लापरवाही के आरोप संबंधी शिकायत की थी। इस मामले में द वेस्ट बंगाल क्लिनिकल इस्टेब्लिशमेंट रेग्युलेटरी कमिशन (डब्ल्यूबीसीईआरसी) के चेयरमैन जस्टिस असीम कुमार बनर्जी ने अस्पताल पर 10 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है। बाद में डॉक्टर ने अपनी मां का अन्य अस्पताल में इलाज करवाया था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कोलकाता नाइट राइडर्स ने सनराइजर्स हैदराबाद को 7 विकेट से हराया

केकआर को मिली सीजन की पहली जीत,  गिल चमके अबुधाबी :सनराइजर्स के खिलाफ शानदार बोलिंग के बाद शुभमन गिल की बेहतरीन बल्लेबाजी की बदौलत कोलकाता नाइट आगे पढ़ें »

अकाली दल का दूसरा ‘बम’, भाजपा से 22 साल पुराना नाता तोड़ा

चंडीगढ : भारतीय जनता पार्टी के सबसे पुराने साथी शिरोमणि अकाली दल ने भाजपा का साथ छोड़ने की घोषणा कर दी है। उसने राष्ट्रीय जनतांत्रिक आगे पढ़ें »

ऊपर