दुर्गापूजा: कोरोना काल में भी अंदाज वही, तरीका नया

कोलकाता: बंगाल की दुर्गापूजा विश्व प्रसिद्ध है। दुर्गा पूजा यानी बंगाल की पहचान। कोरोना महामारी ने पूरे विश्व को अपनी चपेट में लिया है। इससे बंगाल भी अछूता नहीं है। भारत में एक तरफ मामले बढ़ रहे हैं तो दूसरी तरफ यहां अब त्योहारों का भी मौसम भी शुरू हो चुका है। आने वाले महीनों में दुर्गा पूजा, काली पूजा समेत तमाम त्यौहार आने वाले हैं। इन सब के बीच सरकार ने कोरोना काल में इन त्यौहारों को मनाने के लिए दिशा-निर्देश जारी किये हैं।  पूजा का इंतजार लोगों को  साल भर रहता है। बात की जाये अगर कोलकाता के दुर्गा पूजा की तो यहां के मोहम्मद अली पार्क और संतोष मित्रा स्क्वायर की पूजा टॉप टेन में जरूर रहती है। यहां की थीम हर  साल चर्चा का विषय रहती है। प्रत्येक वर्ष धूम-धाम से दूर्गा पूजा को मनाया जाता है। बात की जाए लोगों की तो इस पूजा से लोगों की सदियों पुरानी भावनाएं जुड़ी हुई हैं।
कोरोना का बजट पर पड़ा काफी असर
इस वर्ष कोरोना महामारी का प्रभाव विश्व प्रसिद्ध दुर्गा पूजा पर भी पड़ा है, लेकिन उत्साह वही है। इन सबके बीच सवाल यह उठता है कि क्या इसबार हर बार की तरह पूजा पंडालों में लाखों की भीड़ उमड़ेगी? अगर होगी भी तो इसको सम्हालने की क्या तैयारी की जाएगी कि लोग पूजा तो देखें, लेकिन पूरी स्वास्थ्य व्यवस्था के साथ।
संतोष मित्रा स्क्वायरः थीमः बद्रीनाथ मंदिर, स्लोगनः हेटे ना नेटे देखुन
संतोष मित्रा स्क्वायर ने 2018 में चांदी के रथ थीम के पंडाल से लोगों को आकर्षित किया था। साल 2019  में यहां मां दुर्गा की 20 करोड़ की मूर्ति के दर्शन के लिए भी लाखों  श्रद्धालु पहुंचे थे। इस बार 2020 की थीम है बद्रीनाथ का मंदिर। सन्मार्ग से हुई बातचीत में ज्वाइंट सेक्रेटरी सजल घोष ने बताया कि प्रत्येक वर्ष की तुलना में इस वर्ष जमीन-आसमान का फर्क पड़ा है। सरकार के प्रोटोकॉल को भी माना जा रहा है। भीड़ को नियंत्रित करने की व्यवस्था की जाएगी। सैनिटाइजेशन की भी व्यवस्था रहेगी। साथ ही पंडालों को खुला रखा जाएगा। इस बार का हमारा स्लोगन है हेटे ना नेटे देखुन। व​र्चुअल की भी व्यवस्था की जाएगी।
मो. अली पार्कः थीमः इस बार साधारण तौर पर आयोजन
2018 में मोहम्मद अली पार्क की गोल्डन ​जुबली थी जिसमें पद्मावत थीम थी। 2019 में इसने दमकल के प्रांगण में पूजा मनाया। इस वर्ष कोरोना काल  व लॉकडाउन ने सभी के जीवन में अलग प्रभाव डाला है। हर साल अभी तक पूजा  की तैयारी लगभग आधी से अधिक हो जाती थी, लेकिन इसबार फिजाएं बदली-बदली सी  हैं। ज्वाइंट सेक्रेटरी अशोक कुमार ओझा का कहना है कि कोरोना का प्रभाव इस वर्ष पूजा पर काफी पड़ा है। जनरल सेक्रेटरी सुरेंद्र कुमार शर्मा ने कहा कि पंडाल तो बनेगा और मां की
पूजा उसी उत्साह से होगी लेकिन सरकारी गाईडलाइन के तहत आयोजन होगा।

ठाकुरपुकुर एसबी पार्कः आकर्षण का केंद्र होगी मारिया रोबोट

ठाकुरपुकुर एसबी पार्क इस वर्ष कोरोना महामारी के कारण पंडालों में संक्रमण न फैले इसके लिए मारिया रोबोट की प्रस्तुति की है। मारिया लाल और सफेद साड़ी में एक माँ के रूप में नजर आएगी। कोरोना में पूजा की पृष्ठभूमि बदल गई है। स्वच्छता, सामाजिक दूरी जैसे जरूरी मुद्दों को जोड़ा गया है। यह स्वचालित रोबोट सैनिटाइज़र न केवल सैनिटाइज करेगा, बल्कि लोगों को आकर्षण का केंद्र होगा। रोबोट सेंसर के जरिए काम करेगा। यदि आगंतुक रोबोट को हाथ में लेते हैं, तो स्वचालित रोबोट उस हाथ में सैनिटाइजर डालेगा। पूजा समिति ने दक्षिण 24 परगना में एक निजी विश्वविद्यालय के रोबोटिक्स विभाग के साथ मिलकर यह अभिनव पहल की है। यह ‘मारिया’ उस विभाग के छात्रों के संयुक्त प्रयासों का परिणाम है। मारिया को 2015 में दक्षिण 24 परगना में निजी विश्वविद्यालय के संबंधित विभाग के छात्रों द्वारा बनाया गया था। एसबी पार्क पूजा समिति ने शनिवार दोपहर स्वचालित रोबोट के माध्यम से इस साल की थीम की घोषणा की। इस वर्ष यह पूजा कमेटी अपनी स्वर्णजयंती मना रही है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

हैदराबाद ने राजस्थान को 8 विकेट से हराया, मनीष-शंकर की आकर्षक बल्‍लेबाजी, टॉप-5 में पहुंची हैदराबाद

दुबई : मनीष पांडे की आकर्षक पारी और विजय शंकर के साथ उनकी अटूट शतकीय साझेदारी से सनराइजर्स हैदराबाद ने गुरुवार को यहां राजस्थान रॉयल्स आगे पढ़ें »

भारतीय महिला दल टी20 चैलेंज के लिये संयुक्त अरब अमीरात पहुंचा

दुबई : भारत की 30 शीर्ष महिला क्रिकेटर टी20 चैलेंज में भाग लेने के लिये गुरूवार को यहां पहुंची जो ‘मिनी महिला आईपीएल’ के नाम आगे पढ़ें »

ऊपर