दीये से घर में लगी आग, झुलसकर 2 बच्चियां मरीं

माता – पिता नहीं थे घर पर
सन्मार्ग संवाददाता
मिदनापुर : दिये की लौ से लगी आग के कारण दो बच्चियों की जीवनलीला समाप्त हो गई। एक की उम्र पांच साल और दूसरी की तीन साल थी। आग लगने के बाद उनके लिए यह मुमकिन नहीं था कि झोपड़ी से भाग कर बाहर निकल आतीं। लिहाजा उसी में झुलस कर मर गईं। दिये की एक लौ ने माता-पिता के दो लाल को छीन लिया। इस अकाल मौत के कारण पूरे गांव में शोक फैल गया है।
यह दर्दनाक घटना घाटाल के दासपुर थाना अंतर्गत एक गांव में घटी। जब आग लगी थी उस समय दोनों बच्चियां घर में सो रहीं थी। इस हादसे के दौरान घर पर माता-पिता नहीं थे। दासपुर थाना अंतर्गत एक घर में आग लगने से दो शिशु कन्याओं की झुलस कर मौत हो गयी। उनके नाम पांच वर्षीया सुदीपा सामंत और तीन वर्षीया यशोदा सामंत हैं। घटना के कारण पूरे गांव में शोक फैल गया है। पुलिस ने बताया कि घाटाल के मागुड़िया गांव में रहने वाला अरुण सामंत और उसकी पत्नी शनिवार की शाम को किसी काम से घर से बाहर गये थे। उस समय उनके घर में दीया जल रहा था। रात को नौ बजे के समय अचानक उस झोपड़ी में आग लग गयी। स्थानीय लोगों ने आग को बुझा लिया, लेकिन तब तक झोपड़ी खाक हो चुकी थी। पुलिस और दमकल कर्मी मौके पर पहुंचे, लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। पुलिस का अनुमान है कि संभवतः दीया गिरने के कारण ही आग लगी होगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कोविड-19 : रीजिजू ने खिलाड़ियों को व्यस्त रखने की पहल की समीक्षा की

नयी दिल्ली : खेल मंत्री किरेन रीजीजू ने कोविड-19 महामारी के कारण 21 दिन के लॉकडाउन (राष्ट्रव्यापी बंद) के मद्देनजर मंत्रालय और भारतीय खेल प्राधिकरण आगे पढ़ें »

प्रतिभा तलाशना मेरा काम था, युवा विराट कोहली में गजब की प्रतिभा थी : वेंगसरकर

नयी दिल्ली : दिलीप वेंगसरकर को प्रतिभाओं को तलाशने के मामले में भारत के सबसे अच्छे चयनकर्ताओं में से एक माना जाता है जिन्होंने पहली आगे पढ़ें »

ऊपर