दिवाली से पहले लाइट बाजार जगमगाया, देशी लाइट की मांग बढ़ी

दिवाली से पहले लाइट बाजार जगमगाया, देशी लाइट की मांग बढ़ी
खिले दुकानदाराें के चेहरे
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : दिवाली यानी रोशनी का त्योहार। हर कोई अपने घर को रोशनी से सजाना चाहता है और इसके लिए लोगों द्वारा लाइटिंग की खरीदारी भी खूब चल रही है। बेहतर लाइटिंग करने के लिए रंग -बिरंगे लाइट आदि की खरीदारी कर रहे हैं। कोलकाता इलेक्ट्रिक्स डीसर्ल असोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष चंद्रेश मेगानी ने बताया कि इस बार 70 – 80 % तक बिक्री हो सकती है। इंडिया मेड लाइटिंग की डिमांड ज्यादा है। दिवाली से पहले बाजारों में उछाल से दुकानदारों के चेहरे खिले हुए है। बता दें कि 2 को धनतेरस है तथा 4 नवंबर को दिवाली है।
देशी सामग्री की मांग अधिक
इस बार देशी लाइटिंग की मांग अधिक है। भले ही में दाम थोड़ा ज्यादा है मगर लोगों की पसंद इस बार अपने देश की लाइटिंग की अधिक है। इसकी क्वालिटी भी लोगों को भा रही है।
बाजार का हाल है बेहतर
इजरा स्ट्रीट के दुकानदारों ने कहा कि पिछले साल की तुलना में एक बार लाइटिंग का बाजार में उछाल है। एक दुकानदार मो. जमुरुद्दीन ने कहा कि लोग दिलखोल के खरीददारी कर रहे हैंं। पिछली बार जहां 40 % दुकानदारी हुई थी वहीं इस बार अभी तक उससे काफी अधिक दुकानदारी हो रही है। बाजार और बढ़ेगा। एक अन्य दुकानदार मोहम्मद सहबाज ने कहा कि डिमांड ज्यादा है जिससे माल भी नहीं मिल रहे है।
इस तरह की लाइटिंग पसंद की जा रही
घर को सजाने के लिए केवल एक प्लग से कनेक्शन मात्र वाले ऐसी लाइटिंग अधिकतर लोगों को पसंद आ रही है। मोर लटकन लाइट भी बाजार में आकर्षण बना हुआ है। इसके अलावा आर्टिफिसियल फूल पत्तियों में लाइट की सजावट वाली सामाग्री भी खूब बिक रही है। इस बार इंडियन लाइट बीते साल की तुलना में ज्यादा आए हैं। हैंगिंग लाइट का चलन तेजी से बढ़ रहा है। इसके अलावा भी कई तरह डिजाइन खूब चर्चित है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

कांग्रेस ने जारी की 67 उम्मीदवारों की सूची, दखिये किन्हें मिला मौका

कोलकाताः कांग्रेस ने आज उम्मीदवारों की सूची जारी कर दी। हालांकि कांग्रेस के उम्मीदवारों की सूची अधूरी है क्योंकि अपने उम्मीदवारों की घोषणा तो पार्टी आगे पढ़ें »

ऊपर