दाखिले के दौरान 20% से अधिक रुपये न लें अस्पताल

कोलकाताः कोरोना वायरस महामारी के बीच निजी अस्पताल में इलाज कराने वाले मरीजों को व्यापक परेशानी हो रही है। ऐसी ही शिकायतें हेल्थ कमिशन को मिल रही हैं। विशेषकर कोरोना के मरीजों को अस्पताल में भर्ती करवाए जाने के दौरान अधिक पैसे मांगे जाने संबंधी भी शिकायतें मिली हैं। इन मुद्दों को देखते हुए द वेस्ट बंगाल क्लिनिकल इस्टेब्लिशमेंट रेग्युलेटरी कमिशन (डब्ल्यूबीसीईआरसी) के चेयरमैन जस्टिस असीम कुमार बनर्जी (अवकाश प्राप्त) ने फिर से एक एडवाइजरी जारी की है। कमिशन ने कहा है कि मरीजों की भर्ती के दौरान कुल खर्च के आकलन को देखते हुए 20% से अधिक या फिर 50 हजार रुपये से अधिक की मांग न की जाए। यदि मरीज के पास उस समय रुपये नहीं हैं, तो भर्ती लेकर इलाज शुरू किया जाए, साथ ही परिजनों को 12 घण्टे का समय रुपये जमा कराने के लिए दिए जाएं। यदि इस पर भी रुपये नहीं मिलते हैं, तो फिर अस्पताल परिजनों को मरीज को कहीं और ले जाने की सलाह दे सकते हैं।
2 हजार से अधिक की जांच के पहले परिजनों को कारण बताएं
द वेस्ट बंगाल क्लिनिकल इस्टेब्लिशमेंट रेग्युलेटरी कमिशन (डब्ल्यूबीसीईआरसी) ने दिशा-निर्देश दिया है कि यदि 2 हजार रुपये से अधिक के टेस्ट रोजाना किए जा रहे हैं, तो इस बारे में परिजनों को अवगत कराया जाए। साथ ही टेस्ट के कराए जाने का सही कारण उल्लेख किया जाए। हालांकि एमरजेंसी मामलें सब कुछ डॉक्टरों के परामर्श पर निर्भर होगा।
क्या है दिशा-निर्देश में
• कोरोना संक्रमण के मरीजों को दाखिले के दौरान निजी अस्पताल 20% से अधिक या 50 हजार रु. से अ​धिक न लें। यदि अस्पताल में भर्ती कराने के दौरान परिजनों के पास पैसे नहीं हैं तो फिर प्रोविजनल एडमिशन अस्पताल में लिया जा सकता है।
• किसी भी टेस्ट जिसकी कीमत 2000 से अधिक की है, उसे करने से पहले परिजनों को जानकारी दी जाए। बिलिंग मामले की जानकारी रोजाना व्हाट्स एप, ईमेल या एसएमएस के माध्यम से मरीज के परिजनों को दी जाए।
• अस्पताल परिजनों को पैसे जमा होने पर आवश्यक रशीद अवश्य दें। आपातकालीन परिस्थिति में मरीज का इलाज कर रहे डॉक्टरों का निर्णय ही अंतिम व मान्य होगा

शेयर करें

मुख्य समाचार

रजत में बदल सकता है गावित का 1000 मीटर का एशियाई चैंपियनशिप का कांस्य

नयी दिल्ली : भारत के लंबी दूरी के धावक मुरली कुमार गावित का पिछले साल एशियाई एथलेटिक्स चैंपियनशिप में जीता गया कांस्य पदक रजत पदक आगे पढ़ें »

बोपन्ना – शापोवालोव की जोड़ी इटालियन ओपन के क्वार्टर फाइनल में

रोम : भारत के रोहन बोपन्ना और कनाडा के डेनिस शापोवालोव की जोड़ी ने गुरुवार को यहां जुआन सेबेस्टियन काबेल और राबर्ट फराह की शीर्ष आगे पढ़ें »

ऊपर